फिर भी लालू को चारा खोरवा और बालू खोरवा नही कहेगें: अमर सिंह

शबाब ख़ान

वाराणसी : समाजवादी पार्टी से निष्कासित राज्यसभा सदस्य अमर सिंह आज सुबह दस बजे वाराणसी पहुँचे, यहॉ उन्होने काशी विश्वनाथ मंदिर में दर्शन पूजन किया और फिर गड़वा घाट आश्रम गए। अपनी काशी यात्रा के दौरान पत्रकारों से बातचीत करते हुए उन्होने कहा कि सपा के लोग मुझे पार्टी में दरार पैदा करने का दोषी बताते है, लेकिन अब जब मैं पार्टी में नही हूँ तब तो पिता-पुत्र को एक हो जाना चाहिए। उन्होने कहा कि सपा में रार पैदा करने वाले रामगोपाल यादव हैं, मुलायम-अखिलेश के बीच दूरी बढ़ाने में रामगोपाल यादव की अहम भुमिका रही है।

लालू यादव के ठिकानों पर सीबीआई की छापेमारी के बारे में अमर सिंह नें कहा कि लालू यदि सही हैं तो उन्हे सीबीआई जॉच-पड़ताल में सहयोग करना चाहिए, और सही होने की स्थिति में नीतीश कुमार को भी लालू का समर्थन करना चाहिए। अमर सिंह नें राजद अध्यक्ष लालू प्रसाद यादव पर तीखे हमले करने के साथ चुटकियां लीं। उन्होने कहा कि लालू प्रसाद ने लोकसभा चुनाव के दौरान नरेंद्र मोदी को चील कौव्वा और मुझे घर फोड़वा कहा था। बावजूद इसके वह अब भी लालू को चारा खोरवा और बालू खोरवा नहीं कहेंगे।
रविवार को गुरु पूर्णिमा के मौके पर वाराणसी आए अमर सिंह कांग्रेस पर भी हमलावर दिखे उन्होने कहा कि प्रणव मुखर्जी नें कांग्रेस की सरकार बचाने में मदद किया, फिर भी जब वह वित्त मंत्री थे तो कांग्रेस ने उन पर आयकर और ईडी की छापेमारी कराई थी। दिल्ली में तब शीला दीक्षित मुख्यमंत्री थीं। राष्ट्रपति पद के उम्मीदवारो को लेकर एक सवाल के जवाब में अमर सिंह नें कहा कि मीरा कुमार कांग्रेस की बड़ी नेत्री हैं, उन्हे चुनाव में नही आना चाहिए था, कांग्रेस नें उन्हे बलि का बकरा बनाया है। कांग्रेस ने प्रतिशोधात्मक राजनीति के तहत मीरा कुमार को मैदान में उतारा है। शिवपाल यादव के करीबी सपा विधायक चुनाव में राजग प्रत्याशी रामनाथ कोविंद को ही वोट देंगे। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के नेतृत्व में देश का विकास होने की बात स्वीकार करते हुए उन्होंने फिर दोहराया कि वह न तो भाजपा में जा रहे हैं और न ही भाजपा की ओर से ऐसा कोई प्रस्ताव है।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.