बिना नाम लिए अखिलेश पर बरसे योगी, भेदभाव और तुष्टिकरण का लगाया आरोप

(जावेद अंसारी)

वाराणसी : यूपी के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने जीएसटी की तारीफ की है। उन्होंने कहा कि जीएसटी को सबको समर्थन करना चाहिए क्योंकि यह गरीबों के हित में है और इससे भ्रष्टाचार खत्म होगा। उन्होंने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के नेतृत्व की भी जमकर तारीफ की। योगी ने कहा कि पीएम मोदी का लोहा दुनिया भी मानती है। उनकी अगुआनी के लिए अमेरिका और इजरायल जैसे देश भी उत्सुक दिखे। उन्होंने यूपी की पूर्ववर्ती अखिलेश सरकार पर भी जमकर हमला बोला।

योगी आदित्यनाथ अपना दल के संस्थापक दिवंगत सोनेलाल पटेल की 68वीं जयंती के मौके पर उनकी बेटी और केंद्रीय मंत्री अनुप्रिया पटेल की वाराणसी में आयोजित ‘जन स्वाभिमान’ रैली को संबोधित कर रहे थे। अपने संबोधन में योगी ने अपनी सरकार की 100 दिन की उपलब्धियों को बताया। योगी ने कहा, ’26 हजार करोड़ रुपये का किसानों का कर्ज माफ किया, गेंहू खरीद प्रणाली में पारदर्शिता लाई गई। किसी भी तरह का भेदभाव न हो इसलिए पूरे प्रदेश में विद्युत वितरण की समान व्यवस्था लागू की गई। पहले प्रदेश के 75 में सिर्फ 5 जिलों में बिजली मिलती थी। 70 जिलों को पर्याप्त बिजली नहीं मिलती थी। हमारी सरकार ने सभी 75 जिलों में बिजली का समान वितरण किया। यह असली सामाजिक न्याय है।’
योगी आदित्यनाथ ने कहा कि अंबेडकर जयंती के दिन से ही शहरी क्षेत्रों में 20 घंटे और गांवों में 18 घंटे बिजली देने की व्यवस्था चल रही है। उन्होंने कहा कि जिन क्षेत्रों में बिजली चोरी नहीं होती वहां 24 घंटे बिजली देने की कोशिश की जा रही है। योगी ने कहा कि उनकी सरकार किसी के साथ भेदभाव नहीं करेगी। उन्होंने ‘भेदभाव नहीं, तुष्टिकरण भी नहीं’ को अपनी सरकार का नारा बताया।
योगी ने कहा कि 100 दिन का कार्यकाल किसी सरकार के लिए बड़ी अवधि नहीं है फिर भी उन्होंने 100 दिनों में उठाए गए कदमों की जानकारी देने का फैसला किया। उन्होंने कहा कि उनकी सरकार किसान गांव, गरीब, नौजवान और हर उस तबके को समर्पित है जो प्रदेश को ऊंचाई पर ले जाना चाहते हैं। योगी आदित्यनाथ ने कहा कि उनकी सरकार किसानों की आय को बढ़ाना चाहते हैं। इसके लिए 20 नए कृषि विज्ञान केंद्र खोलने को मंजूरी दी गई है। उन्होंने कहा कि विश्वविद्यालयों को नई तकनीक मुहैया कराने की व्यवस्था की जा रही है।
अपनी सरकार को किसान हितैषी बताते हुए योगी ने कहा कि किसानों को उपज का वाजिब दाम मिले, उनके साथ धोखाधड़ी न हो, वह इसके लिए काम कर रहे हैं। उन्होंने कहा कि 2014 और 2017 की लड़ाई ने साबित कर दिया है कि प्रदेश की राजनीति में जातिवाद, परिवारवाद, भ्रष्टाचार के लिए कोई जगह नहीं होगी। योगी ने कहा कि सोनेलाल पटेल की लड़ाई सामाजिक न्याय की लड़ाई है और इस लड़ाई को बाबा साहब भीमराव अंबेडकर ने शुरू किया था।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.