पलिया – साहेब ऐसे रुकेगा बाल विवाह ?

फारुख हुसैन 
पलिया कलां  (खीरी) // बाल विवाह पर अंकुश लगाने के लिए भले ही शासन प्रशासन एवम् सामाजिक संस्थान सक्रिय हो किन्तु भारत नेपाल सीमा पर आबाद थारू गांव मसानखम्ब मे संदिग्ध कार्यो मे लिप्त प्रधानपति की दबंगई के चलते बाल विवाह के नियम कानूनो की खुलेआम मखोल उडाया जा रहा है तथा गौरी फंटा एवम चंदनचौकी पुलिस निजी स्वार्थ के चलते खामोशी की चादर ओढ़े हुए है । जिसके चलते जहां गरीब असहाय फरियादी को न्याय नही मिल पाता है  वही मुख्य अपराधी साम दाम दंड भेद की नीति अपनाते हुए हर गुनाह से साफ बरी हो जाते है ।जिसका ताजा उदाहरण है कि गौरी फंटा कोतवाली के अन्तर्गत थारू गांव मसानखम्ब में  प्रधानपति की दबंगई के चलते क्षेत्र वासी दहशत मे रहते है ।

उक्त प्रधानपति पुलिस की सांठगांठ से क्षेत्र मे रहने बाले ग्रामीणो का आक्रोश  कर हिटलर शाही कायम किए हुए है । उक्त प्रधानपति की दबंगई के चलते भोले भाले ग्रामीण इसकी जायज नाजायज बात मानने पर आ है।जिसका ताजा उदाहरण है कि उक्त प्रधानपति के गांव मसानखमब मे एक बीस साल की   युवती बिना शादी के ही गर्भवती हो गई थी । जिसके फलस्वरूप उक्त प्रधानपति ने कजरिया निवासी अनिल राना  (13 ) वर्ष जो कि नाबालिग एवम अत्यंत गरीब है । इसका लाभ उठाते हुए प्रधानपति ने अनिल के परिजनों  के पास खबर भेजी कि अनिल की शादी उस गर्भवती लड़की से कर दीजिए , यदि शादी नही की तो दोनो गाँव के सरपंचो से पंचायत करा कर गांव  एवं  समाज से बेदखल कर हुक्का पानी बंद कर क्षेत्र से बाहर निकल दिया जायेगा । पीड़ित पुत्र की मां  ने भयभीत होकर गत दिवस दिनाक 13/7/2017 को कोतवाली गौरी फंटा मे एक प्रार्थना पत्र दे कर मदद की गुहार लगाई थी। आरोप है कि इसकी भनक जब उक्त प्रधानपति को लगी तो वह आग बबूला हो गया तथा अनिल एवम उसके परिवार को चंदनचौकी पुलिस के माध्यम से जबरन मसानखम्ब लाकर डराते धमकाते हुए कहा तुम लोगो ने हमारी बात नही मानी और गौरी फंटा कोतवाली मे शिकायत की है। अब देखो तुम्हारी कौन मदद करेगा । पीड़ित ने आरोप लगाया कि इसके उपरांत प्रधानपति ने दिनाक 21/7/17  को उस नाबालिग लड़के की गर्भवती युवती से पुलिस एवं पंचायत की मिलीभगत से जबरन शादी भी करवा दी और साथ ही पंचायत एवं  पुलिस की मौजूदगी मे पीड़ित परिवार से डरा धमका कर लिखित इकरार नामा लिखवा लिया कि दोनो पक्षो की आपसी सहमति से यह शादी सम्पन्न हुई है । उक्त घटना से पीड़ित परिवार काफी भयभीत है तथा संदिग्ध कार्यो मे लिप्त दबंग प्रधानपति की ज्यादती सहने परं विवश है।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.