रामपुर – मरीज़ मरता है तो मर जाये, हम तो करेगे तमंचे पर डिस्को

रवि शंकर दुबे.
रामपुर. सरकारी अस्पताल में  वार्ड बॉय के बेटे की  बर्थडे पर हुआ जश्न। डीजे की धमाकेदार आवाज़ पर  जमकर हुआ डांस। धमाकेदार म्यूज़िक से मरीजों का नींद चैन हुआ उड़न छू। पार्टी का  वीडियो वायरल होने पर डीएम ने दिए जांच के आदेश। 
हॉर्न बजाना मना है। कृपया शांत रहें। अक्सर यह संदेश अस्पताल के नज़दीक देखने को मिलते है क्योंकि रोग से पीड़ित मरीजों को सुकून की दरकार होती है लेकिन रामपुर की टांडा तहसील में सरकारी अस्पताल के नवनिर्मित भवन में बर्थडे पार्टी पर शोर ग़ुल के बीच रात भर मरीज़ तड़पते रहे और डीजे की धमक पर ज़ोरदार नाच गाना चलता रहा। क्यों न हो साहब, अस्पताल के वार्ड बॉय के बेटे का जन्मदिन जो है. मरीज़ मरता है तो मर जाये जश्न तो होकर रहेगा. डीजे बजेगा. खूब तमंचे पर डिस्को होगा. क्यों न करे मरीज़ कोई वार्ड बॉय का रिश्तेदार है या किसी चिकित्सक का रिश्तेदार है जो वह जश्न न मनाये. वो तो खैर हुई कि देर रात विडियो आखिर में सोशल मीडिया पर वायरल हुआ और डीएम साहेब की आँख खुल गई तत्काल डीएम साहेब ने जाँच के आदेश कर दिये और जाँच में दोषियों पर कड़ी कार्यवाही का निर्देश भी दे दिया. 
मौक़ा था सरकारी अस्पताल के वार्ड बॉय के बेटे के जन्मदिन का . सरकारी अस्पताल के नए भवन परिसर में ही बर्थडे पार्टी का आयोजन किया गया और देखते ही देखते अस्पताल पार्टी हाल में तब्दील हो गया जहां डीजे की धमाकेदार धुन पर लोग ठुमके लगते रहे इस बात से बेखबर की उनके शोर गुल की एक एक थाप पीड़ितों और रोगियों के लिए जानलेवा साबित हो रही है। 
अब सवाल कई अनसुलझे है. इस पार्टी का आयोजन क्या एक दो मिनट में आनन् फानन में हो गया होगा. शायद नहीं, क्योकि पार्टी की रौनक बयान कर रही है कि इसका इंतज़ाम करने में ही सिर्फ पूरा दिन गुज़र गया होगा. फिर कैसे आदमी मान ले कि अस्पताल के जवाबदेह लोगो तक इसकी जानकारी नहीं थी. पूरा स्टाफ दावत में बुलाया गया था फिर तो इसमें चिकित्साधीक्षक महोदय भी सवालो के दायरे में आते है. स्थानीय पुलिस को क्या इतनी जोर की आवाज़ नहीं पहुच रही होगी, बिलकुल पहुची होगी मगर उनकी मज़बूरी को समझा जा सकता है कि वह सिर्फ इस वजह से कुछ नहीं कर पाये होंगे क्योकि उनकी एक कार्यवाही पर वार्ड बॉय की एसोसिएशन एक्शन करने को उतर आती.
खैर साहेब अब डीएम साहेब ने जाँच का आदेश दिया है अब देखते है जाँच में कौन दोषी पाया जाता है. हम आशा करते है कि जाँच निष्पक्ष होगी और जल्द पूरी होगी. हमको आशा है कि इस जाँच में वार्ड बॉयज एसोसिएशन भी सहयोग करेगा न कि इसका विरोध कर हड़ताल पर चला जाये.

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.