पहली ही बारिश में राजधानी लखनऊ हुई जलमग्न, देखे कुछ दिलचस्प तस्वीरे

जल भराव को इन भाई साहेब ने वाइपर से हटाने का असफल प्रयास किया
ए.एस.ख़ाँन
लखनऊ मौसम की पहली ही बारिश नें राजधानी लखनऊ के नगर निगम प्रशासन के तमाम दावों की पोल खोल कर रख दी! गोमती नगर जैसे पाश ईलाकों से लेकर पुरानें लखनऊ की संकरी गलियों तक हर तरफ़ जल भराव ने राजधानी की रफ़्तार पर ब्रेक लगा दिया ! हर जगहां ज़िन्दगी ठहरी सी दिखी! मुख्यमंत्री आवास से मात्र 500 मीटर की दूरी पर भी जल भराव के कारण कई वाहन बंद हो गए. कई वाहन इस जलभराव के कारण पानी में फंसे दिखाई दिए. संभ्रांत घर की महिलाये जो अपने कार से जा रही थी उनको भी गाड़ी बंद होने के कारण सड़क पर लोगो से सहायता मांग कर कार को धक्के लगवाने पड़े.
ज़रूरत पर घुटनों तक पानी में निकले घरो से लोग 
कही कही तो कमर तक पानी में लोगो को आना जाना पड़ा

बरसात शुरू होने से पहले नगर निगम प्रशासन ने युद्ध स्तर पर नालों की सफ़ाई एव जल भराव की समस्या से निपटनें के जो लम्बे चौडे दावे किये थे वे सारे के सारे पहली ही बारिश में केवल चन्द घंटो में धुल गये! जगह जगह जल भराव के कारण वाहनों की लम्बी कतारें देखनें को मिली! अनेकों बाईकों के साईलेनसर मे पानी घुस गया जिसके कारण बाईकें स्टार्ट नही हो सकीं चौपहिया वाहन भी अनेकों जगहां विशेष कर सिटी स्टेशन के पास रेलवे अंडरपास पर पानी मे डूबकर फ़से दिखे! तो वही दूसरी ओर पुराने लखनऊ मे पानी रूकनें के बाद भी घंटों जल भराव के कारण लोगों को अनेकों दिक्कतों का सामना करना पडा मशकगंज, वज़ीरगंज मौलवीगंज सआदतगंज, सहित अनेकों श्रेत्रों में सडके एव गलियां तालाब के रूप में नजर आ रही थीं!

वहीं अनेकों जगहो पर इस बारिश के कारण हुआ जलभराव एक भीषण  जाम की वजह बना. जाम के कारण पुलिस प्रशासन के हाथ पांव फूले हुए है. मगर पुलिस प्रशासन अपनी मुस्तैदी से इस जाम को छुड़ाने का प्रयास कर रहा है. वैसे इस जाम का मुख्य कारण तो जल भराव है और जल भराव के कारण लोगो को वैकल्पिक मार्ग का प्रयोग करना पड रहा है. जिससे वैकल्पिक मार्ग भी जाम होते जा रहे है. खैर साहेब पुलिस प्रशासन की इस जाम को ख़त्म करवाने की जद्दोजहद जारी है और साथ में जारी है हमारा इंतज़ार की देखे कल अब नगर निगम लखनऊ और कौन सा नया दावा करता है. 

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.