देश में अघोषित इमरजेंसी व तानाशाही का दौर, एक-एक कार्यकर्ता ‘लालू’ बन कर देश को बचाये : लालू प्रसाद

(जावेद अंसारी)
संपत्ति को लेकर लग रहे तमाम आरोपों के बीच राजद प्रमुख लालू प्रसाद यादव ने बीजेपी पर जमकर हमला बोला है। आरजेडी के 21वें स्थापना दिवस पर आयोजित कार्यक्रम में कार्यकर्ताओं में जोश भरते हुए लालू ने कहा देश बहुत खराब दौर से गुजर रहा है इस कारण सभी कार्यकर्ता लालू प्रसाद यादव बनकर देश को बचाने के लिए आगे आए। लालू ने कहा देश में नफरत फैलाने की कोशिश की जा रही है राम और रहीम के लोगों को बांटने की कोशिश की जा रही है गाय के नाम पर निर्दोष लोगों की हत्या की जा रही है, देश के किसान आत्महत्या कर रहे हैं। देश में अभी भयावह स्थिति है ग्रामीण अर्थव्यवस्था चरमरा आ गई है।मोदी सरकार ने तीन सालों में भी एक सूई का भी कारखाना नहीं लगा पायी, रोजगार देने का आंकड़ा जीरो पर पहुंच गया है।

उन्होने कहा कि कांग्रेस की पूर्व प्रधानमंत्री इंदिरा गांधी द्वारा लगायी गयी इमरजेंसी भी इस अघोषित इमरजेंसी के सामने छोटी है। देश की जो हालत बनाने की कोशिश की जा रही है, अगर यही स्थिति रही तो आनेवाले दिनों में इंदिरा गांधी द्वारा लगायी गयी इमरजेंसी को कोई याद भी नहीं करेगा। देश में रोजगार, अच्छे दिन, स्विस बैंक से कालाधन लाना, बिजली, किसानों को लागत का चार गुना लाभ का आश्वासन देकर नरेंद्र मोदी केंद्र की सत्ता में बैठ गये। नरेंद्र मोदी को केंद्र में सरकार बनाने के लिए विपक्षी पार्टियों को भी उन्होंने कटघरे में खड़ा किया।
लालू ने यह भी कहा कि अखिलेश और मायावती के एक साथ जुटने की संभावना भी है। इससे पहले आरजेडी का 21 वां स्थापना दिवस लालू वन्दना’ के साथ शुरू हुआ। स्थानीय गायक रामानन्द यादव ने लालू की शान में गीत गाए तो समर्थकों ने खूब नारे लगाए। लालू यादव 27 अगस्त की रैली को हिटकराने के लिए अपने कार्यकर्ताओं से भावुक अपील करने से नहीं चूके। अपने जेल जाने की आशंका को सामने रख उन्होंने समर्थन की अपील की। इसके साथ ही रैली में आने वाले नेताओं की लिस्ट भी पढ़ कर सुना दी। इसके साथ ही लालू यादव ने पीएम मोदी पर भी हमला किया, उन्होंने कहा कि देश में अघोषित इमरजेंसी चल रही है। लालू ने यह भी कहा कि उनकी पार्टी और खुद उन्होंने कई उतार चढ़ाव देखे हैं, इसलिए वे घबराते नहीं हैं।
लालू प्रसाद ने कहा कि हर कोई अपनी विचारधारा अनुरूप काम कर रहा है, चाहें वह मायावती जी हों, अखिलेश हो, रॉबर्ट वाड्रा जी हों, प्रियंका गांधी जी हों, ममता जी हों, या केजरीवाल हो, लालू यादव हों या उनका परिवार, भाजपा हमें तोड़ना चाहती है और वह विपक्ष की राजनीतिक शक्ति से अनजान नहीं है। साथ ही भाजपा यह भी जानती है कि अगर सभी विपक्षी पार्टियां एक हो जाती हैं तो भारतीय जनता पार्टी का 2019 सिमट जाएगी। केंद्र सरकार ने किसानों को भी धोखा दिया है, प्राय: सभी किसान मवेशी रखते हैं, पहले मवेशी की खरीद-बिक्री के लिए गांव-बाजार में मेला लगता था, अब पूरे देश में सब बंद हो गया है। अगर मवेशी की मौत हो जाती है, तो वहीं पर जला दीजिए, वहां से आप कहीं और नहीं ले जा सकते, लाखो-करोड़ों का हो रहा व्यापार बंद हो गया।किसानों को लागत का चार गुना लाभ का आश्वासन देकर केंद्र की सत्ता पर काबिज होनेवाले मोदी सरकार के राज में अब झारखंड में भी किसान आत्महत्या करने लगे हैं, ग्रामीण अर्थव्यवस्था पूरी तरह धराशायी हो चुकी है।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.