रक्षक बने भक्षक – रसूलाबाद थानाध्यक्ष पर लगाया किशोरी ने बलात्कार का आरोप

मोहम्मद नदीम.

कानपुर देहात हमारे सुरक्षा का बीड़ा उठाये पुलिस पर ऐसे तो कई आरोप लगते रहते है. मगर अस्मत पर जब हाथ डालने का आरोप पुलिस पर ही लगे तो फिर विश्वास किस पर करा जाये ये समझ नहीं आता है. ऐसा ही एक वाकया कानपुर देहात के एक प्रकरण में सामने आया है जहा एक गाव की  निवासिनी किशोरी ने रसूलाबाद थानाध्यक्ष पर प्रताड़ित कर दुष्कर्म करने का आरोप लगाकर कानपुर ए॰डी॰जी॰ से शिकायत की है. आरोप लगाने वाली 15 वर्षीय दलित किशोरी ने शिकायती पत्र में रसूलाबाद थानाध्यक्ष राठी पर दुष्कर्म का आरोप लगाया है।

किशोरी के अनुसार तिश्ती पुलिस चौकी क्षेत्र के एक गांव के निवासी युवक का शव गत 29 मई को फांसी पर लटका मिला था। इस मामले में मृतक के पिता ने तिश्ती के कुछ लोगो के खिलाफ मुकदमा भी पंजीकृत कराया था। किशोरी का आरोप है कि 8 जुलाई की शाम थानाध्यक्ष घर आकर उसे थाने ले जाकर पूछताछ की उसके बाद देर रात अपने आवास पर ले जाकर कई बार दुष्कर्म किया। पीडिता का आरोप है कि उसकी हालत बिगड़ने पर उसे रसूलाबाद सीएचसी में भर्ती कराकर उपचार कराया गया।

शिकायत पर ए॰डी॰जी॰ निर्देशन पर पुलिस अधिक्षक दिनेश पाल सिंह ने सम्बंधित क्षेत्राधिकारी को मुकदमा दर्ज करने का निर्देश दिया है. वही रसूलाबाद थानाध्यक्ष भूपेंद्र सिंह राठी को सस्पेंड कर दिया गया है. इस सम्बन्ध में प्राप्त सुचना के अनुसार प्रकरण में पुलिस अधिक्षक कानपुर देहात ने अपर पुलिस अधिक्षक को इसकी जाँच सौपी थी, सूत्रों की माने तो जांच में कई बिन्दुओ पर जांच थानाध्यक्ष के विरुद्ध गई है. सूत्रों की माने तो सस्पेंशन की कार्यवाही इसी जाँच के आधार पर किया गया है.

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.