बहराइच फिर बरपाया घाघरा ने बाढ़ का कहर, कई गाँव बाढ़ की चपेट में

नूर आलम

बहराइच. इन दिनों बाढ़ का कहर राजिस्थान, गुजरात के साथ साथ यूपी में लगातार जारी है जिससे जन जीवन अस्त व्यस्त है यूपी बहराइच के बौंडी इलाके में हर तरफ बाढ़ से तबाही का मंजर है। आपको बता दे की लोगों के मकान, खेत में खड़ी फसलें व स्कूल बाढ़ के पानी में डूबे हुए हैं। लगातार बढ़ रहा जलस्तर लोगो की जान माल पर कहर बरपा रहा है  घाघरा खतरे के निशान से अभी भी 8 सेमी ऊपर बह रही है जलस्तर में उफान के कारण घाघरा की बाढ़ व कटान आपदा से तटवर्ती ग्रामीणों में खलबली मची हुई है।

जलस्तर बढ़ने से महसी तहसील के दो दर्जन गांवों में बाढ़ का पानी भरा हुआ है। हजारों बीघे लहलहाती फसलें बाढ़ के पानी से पट गई हैं। बाढ़ व कटान से ग्रामीण हलकान हैं। लोग बेलहा बेहरौली तटबन्ध व स्कूलों में बैठकर दिन काट रहे हैं जलस्तर बढ़ने से महसी तहसील के पिपरी, पिपरा, कायमपुर, जर्मापुर, गोलागंज, टेपरी, तिलकपुरवा, नगेसरपुरवा, तारापुरवा, कोरिनपुरवा, जर्मापुर और शुकुलपुरवा आदि गांव पानी से घिर चुके हैं। घूरदेवी स्पर पर अपरान्ह 3 बजे घाघरा का जलस्तर 112.240 मीटर रिकार्ड किया गया। यहां घाघरा लाल निशान से 8 सेमी ऊपर बह रही है.

बहराइच के गांवों के बाढ़ के पानी से घिरने की सूचना पाकर तत्काल  एनडीआरएफ कमांडर संजीव कुमार ने 3 मोटरबोटों की सहायता से बरुआ बेहड़ गांवों के करीब 300 लोगों को सुरक्षित बाहर निकाला। इस दौरान उन्होंने लोगों को अपना मोबाइल नम्बर भी दिया। बहराइच डीएम अजयदीप सिंह व एडीएम सन्तोष राय ने बाढ़ प्रभावित क्षेत्रों का जायजा लिया। इस दौरान डीएम ने गोलागंज, कायमपुर, पिपरा व पिपरी आदि गांवों के बाढ़ पीड़ितों की समस्याएं सुनीं। डीएम ने तत्काल तहसीलदार महसी राजेश कुमार मिश्र को निर्देशित किया कि हर बाढ़ पीड़ित को पन्नी तिरपाल, लंच पैकेट, मुआवजा, राशन, मोमबत्ती और मिटटी का तेल आदि मुहैया कराया जाए। डीएम ने लोगों को जल्द पुनर्वासित करने का आश्वासन दिया। इस दौरान तहसीलदार महसी ने गोलागंज गांव में नाव से पहुंच कर पीड़ितों को राहत सामग्री बांटी। घाघरा नदी द्वारा बाढ़ के रूप में कहर बरपाना नई बात नहीं ये हर वर्ष इसी तरह तेज बहाव के साथ काटान करते हुए लोगों के जान माल को तबाह कर देती है जिसमे हर वर्ष कितनी जाने चली जाती है और अत्यधिक फसले जानवर लोगो के द्वारा इकठ्ठा किया हुआ सामान सब इसी बाढ़ में तबाह हो जाता है.

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *