आदमपुर पुलिस ने खुद की जान जोखिम में डाल कर आत्महत्या करने आई युवती की न सिर्फ बचाई जान, बल्कि इस्पेक्टर आदमपुर ने दिया उसे ज़िन्दगी जीने का मकसद

तारिक आज़मी

वाराणसी। वाराणसी के आदमपुर थाना क्षेत्र स्थित मालवीय पुल (राजघाट पुल) पर आज देर रात उस समय हडकंप की स्थिति हो गई जब एक युवती खुद के जीवन को खत्म करने के इरादे से कूदने जा रही थी। आदमपुर थाने के पीआरवी 600 के जवानो ने खुद की जान जोखिम में डाल कर उसकी जान बचाई, फिर उसके बाद अपनी ज़िदगी से परेशान युवती को काफी देर समझा कर उसके अन्दर जीने की एक अलख जगा कर आदमपुर थाना प्रभारी सिद्धार्थ मिश्रा ने उसके परिजनो के हवाले किया।

घटना के सम्बन्ध में मिली जानकारी के अनुसार आज शाम मालवीय पुल (राजघाट पुल) से एक युवती नदी में छलांग लगा कर अपनी ज़िन्दगी खत्म करने के इरादे से पहुची। उसी जगह से पीआरवी 600 फैंटम 07 गुज़र रही थी। युवती को संदिग्ध स्थिति में देख हेड कांस्टेबल भरत यादव और वीरेंदर तिवारी को कुछ शंका हुई। इसी दरमियान युवती पुल के रेलिंग पर चढ़ कर कूदने ही वाली थी कि तभी दोनों हेड कांस्टेबल क्रमशः भरत यादव और वीरेंदर तिवारी ने दौड़ लगा कर उसको पकड़ लिया।

इस दरमियान जब तक लोग समझते तब तक महिला पुल से लटक चुकी थी। चश्मदीदो की माने तो सीन बिल्कुल फ़िल्मी हो चूका था। फैंटम के जवानो को देख पीआरवी के कर्मी भी मौके पर आ गए। तभी भरत यादव ने फुर्ती दिखाते हुवे युवती को पुल से ऊपर खीचा और सड़क पर दोनों कांस्टेबल लेकर आये। महिला ने अपने ख़ुदकुशी को असफल होते देख काफी कोशिश किया दुबारा कूदने की। मगर सभी पुलिस कर्मियों उसको घेरा बना कर खड़े हो गए थे। आसपास के राहगीर महिला पुरुष भी उसको घेरा बना कर खड़े थे।

इसी दरमियान इसकी जानकारी इन्स्पेक्टर आदमपुर सिद्धार्थ मिश्रा को मिली। पैदल गश्त में मशगुल इस्पेक्टर सिद्धार्थ मिश्रा तुरंत मौके पर पहुचते है। युवती से मुलामियत से बात करते है तो वह अपना नाम फरजाना (21) पुत्री शब्बीर निवासी कमलगढ़हा, थाना जैतपुरा बताती है। पारिवारिक उलझनों से परेशान युवती जीने की अपनी इच्छा खो चुकी थी। वह बार बार इस्पेक्टर से मर जाने देने की गुहार लगा रही थी।

इस्पेक्टर आदमपुर ने स्थिति को समझते हुवे पहले उसको पानी पिलाया और उससे बात करते हुवे उसकी समस्या का कारण पूछा। बातचीत में इस्पेक्टर ने लगभग आधे घंटे तक उसको समझाया। आखिर खुद की ज़िन्दगी खत्म करने आई युवती के चेहरे पर मुस्कान आती है। इस दरमियान युवती के परिजनों को खबर हो जाती है। परिजन आकर अपनी सुपुर्दगी में युवती को लेकर चले गए। जाने के पहले इस्पेक्टर आदमपुर ने युवती से वायदा भी लिया कि दुबारा कभी मरने का ख्याल भी मन में नहीं लाएगी। पुलिस टीम के इस काम से विभाग भी खुश हुआ। पुलिस उपयुक्त ने पुलिस कर्मियों के प्रोत्साहन हेतु इनाम और गुड एंट्री से नवाज़ने का एलान किया है।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *