लोनी – बंधक बना कर किया बुज़ुर्ग की पिटाई, काटी दाढ़ी, वीडियो हुआ वायरल तो जागी नींद से लोनी पुलिस, दो आरोपियों की हुई शिनाख्त

हर्मेश भाटिया

गाज़ियाबाद। सोशल मीडिया पर आज एक वीडियो सुबह से वायरल हो रहा है। वायरल वीडियो में कुछ असामाजिक तत्वों के युवक एक बुज़ुर्ग व्यक्ति की बेरहमी से पिटाई कर रहे है। कैची से उस बुज़ुर्ग व्यक्ति की दाढ़ी काटी जा रही है। वीडियो में बुज़ुर्ग व्यक्ति हाथ जोड़ कर रहम की भीख मांगता दिखाई दे रहा है। मगर बेरहम असामाजिक युवको द्वारा उस बुज़ुर्ग व्यक्ति के साथ मारपीट किया जा रहा है। वीडियो में एक युवक द्वारा कट्टे से फायर करने का प्रयास किया जाता है मगर कट्टा फंस जाता है। वायरल वीडियो की तफ्तीश में जो तथ्य सामने निकल का आये वह वाकई हैरान कर देने वाले थे।

वायरल वीडियो के सम्बन्ध में अमर उजाला ने अपने सस्करण में खबर लिख कर वीडियो की सत्यता को प्रमाणित भी किया है। वायरल हुआ वीडियो गाज़ियाबाद जनपद के लोनी स्थित बॉर्डर थाना क्षेत्र का है। वीडियो में जिस बुज़ुर्ग से मारपीट किया जा रहा है वह बुज़ुर्ग बुलंदशहर स्थित क़स्बा अनुपशहर के मीरा मोहल्ले के निवासी अब्दुल समद है। उनके साथ मारपीट करने वाले युवक ऑटो चालक है। पुलिस के अनुसार इसमें से एक युवक का नाम प्रवेश गुज्जर है जो वर्त्तमान में किसी मामले में जेल में बंद है। वीडियो 5 जून का बताया गया है।

घटना के सम्बन्ध में मिली जानकारी के अनुसार बुलंदशहर के क़स्बा अनुपशहर स्थित मीरा मोहल्ला निवासी अब्दुल समद विगत दिनों लोनी के बॉर्डर थाना क्षेत्र के हाजीपुर बेहता निवासी अपने एक रिश्तेदार की मौत होने पर उनके घर को आये थे। गत 5 जून को वह रिश्तेदार के घर जाने के लिए घर से निकले और दोपहर करीब तीन बजे के करीब उन्होंने दिल्ली गोल चक्कर से बेहता जाने के लिए ऑटो लिया। बुज़ुर्ग का कहना है कि रास्ते में ऑटो चालक ने अपने तीन और साथियों को ऑटो में बैठा लिया। जिसके बाद उन्हें बेहटा हाजीपुर ले जाने की बजाय सुनसान इलाके में ले गए और एक कमरे में बंधक बना दिया। वहां चारों लोगों ने उनके साथ मारपीट और बदसलूकी किया। उनको जमकर पीटा। आरोपियों ने गाली-गलौज भी की।

पीड़ित अब्दुल समद के मुताबिक, आरोपियों के पास कैंची भी थी। एक युवक ने दाढ़ी काटने के लिए कैंची लाने के लिए कहा तो उन्होंने आरोपियों के हाथ जोड़कर दाढ़ी न काटने की गुहार लगाई। इस पर आरोपियों ने कहा कि उन्हें जान प्यारी है या दाढ़ी। इस पर वह बेबस हो गए और युवकों ने कैंची से दाढ़ी काटनी शुरू कर दी। उन्होंने विरोध किया तो युवकों ने उनके साथ फिर से मारपीट शुरू कर दी। उन्हें लाठी से भी पीटा, एक युवक ने कट्टा निकाल कर फायर करने का भी प्रयास किया।

पीड़ित अब्दुल समद ने बताया है कि रास्ते में तीन साथियों को बैठाने के बाद चालक ऑटो को रांग साइड में दौड़ाने लगा। कारण पूछने पर चालक ने कहा कि आगे पुलिस चेकिंग कर रही है, उसी से बचने को थोड़ी दूर रांग साइड चलना है। पीड़ित के मुताबिक इसके बद आरोपियों ने जबरदस्ती कपड़े से उनकी आंखें ढक दीं और मारपीट करते हुए सुनसान जगह ले गए। जिसके बाद तीन घंटे तक बंधक बनाकर उन्हें यातनाएं देने के बाद युवक उन्हें बाइक पर बैठाकर सुनसान इलाके में सड़क किनारे छोड़ गए। यहां से कई किलोमीटर पैदल चलकर वह दिल्ली-सहारनपुर मार्ग पर पहुंचे और ऑटो से सीमापुरी दिल्ली निवासी रिश्तेदार के घर आ गए। वह काफी परेशान थे, लिहाजा अगले दिन रिश्तेदार को साथ लेकर लोनी बॉर्डर थाने में तहरीर दी।

घटना के सम्बन्ध में बताये जाने के बाद पुलिस ने तहरीर मिलने के दिन यानी 6 जून के एक दिन बाद यानी 7 जून को मारपीट की धाराओं में अज्ञात के खिलाफ केस दर्ज कर अपने फर्ज से इतिश्री कर लिया। इसके बाद बुज़ुर्ग घर पर अपना इलाज करवा रहे है। बेशक बुज़ुर्ग ने अपने साथ हुई यातनाओं के सम्बन्ध में पुलिस को अवगत करवाया। खुद के साथ हुई इस ज़लील हरकत से भी पुलिस को अवगत कराया होगा। मगर लोनी पुलिस ने एक सप्ताह के बाद भी इस मामले में कोई कार्यवाही नही किया था और किसी भी आरोपी को गिरफ्तार करना तो छोड़े ट्रेस तक नहीं किया था।

आज जब घटना का वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हुआ तो लोनी पुलिस के हाथ पाँव फुल गए होंगे। मामले मीडिया में आने के बाद मीडिया कर्मियों के सवालो से घिरी बॉर्डर थाना पुलिस ने आनन फानन में दो आरोपियों की शिनाख्त कर डाली जिसमें एक आरोपी प्रवेश गुज्जर पहले से किसी मामले में जेल में बंद है। अब बॉर्डर पुलिस का कहना है कि उसकी रिमांड लेकर बाकी आरोपियों की शिनाख्त और गिरफ़्तारी होगी।

इस सम्बन्ध में क्षेत्राधिकारी लोनी अतुल सोनकर का कहना है कि पीड़ित ने मारपीट की तहरीर दी थी, जिसके आधार पर केस दर्ज किया गया था। दो आरोपियों को ट्रेस कर लिया गया है। एक आरोपी का नाम प्रवेश गुर्जर है, जो किसी अन्य मामले में जेल में बंद है। उसे पुलिस कस्टडी रिमांड पर लिया जाएगा। सभी आरोपियों की तलाश की जा रही है। आरोपियों पर धाराएं बढ़ाई जाएंगी। जल्द ही सभी गिरफ्तार होंगे।

बहरहाल, घटना की सोशल मीडिया पर जमकर आलोचना हो रही है। बेशक हर एक अमन पसंद इंसान ऐसी घटनाओं की आलोचना करेगा ही। वीडियो देख कर इंसानियत कराह रही है। एक बुज़ुर्ग को ये हट्टे कट्टे युवक किस बेरहमी से मार रहे है। बेशक काबुल में सिर्फ नस्ली घोड़े ही नहीं होते है। बल्कि गधे भी रहते है। सोशल मीडिया पर कुछ ऐसे भी है जो इस घटना के लिए अनाप शनाप लिख रहे है। हमारा कहना है कि हर एक मामले को सांप्रदायिक चश्मे से देखने के बजाए इंसानियत के नज़र से भी देखा जा सकता है। आरोपियों के सम्बन्ध में जो जानकारी आ रही है वह है कि ये सभी आरोपी ऑटो ड्राईवर हो सकते है। तो हमको आपको सोचना होगा कि हमारी सुरक्षा किस तरीके से है।

 

 

इनपुट साभार अमर उजाला

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *