वाराणसी – थाने से महज़ 500 मीटर दुर फ़ास्ट फ़ूड कॉर्नर पर युवक को गोली मार कर हत्या का हुआ प्रयास

मो0 सलीम

वाराणसी. वाराणसी में हौसला बुलंद बदमाशो ने आज दोपहर में सिंधोरा थाने से महज़ 500 मीटर दुरी पर एक फ़ास्ट फ़ूड की दूकान पर चाउमीन खा रहे युवक पर जानलेवा हमला कर दिया. हमले के दरमियान ताबड़तोड़ फायरिंग भी हुई. फायरिंग में एक गोली घायल युवक के कनपटी को छूकर निकल गई. जिससे युवक घायल हो गया. घायल युवक को पुलिस ने जनता की मदद से अस्पताल भेजवाया, जहा उसकी हालात खतरे से बाहर बताई जा रही है. घटना का कारण लोग चुनावी रंजिश बता रहे है. पुलिस संदेह के आधार पर कुछ लोगो से पूछताछ कर रही है.

घटना स्थल पर मिली जानकारी के अनुसार मौके पर तीन राउंड फायरिंग हुई थी जिसेक बाद बदमाश असलहा चमकाते हुए भाजपा का झंडा लगी हुई आलीशान स्कार्पियो में सवार होकर जौनपुर की ओर भाग निकले। बताया जाता है कि घटना स्थल से महज़ 500 मीटर की दुरी पर सिंधोरा थाना है. सिंधोरा क्षेत्र के सराय शेखलार्ड निवासी विमल सिंह उर्फ भोतू सिंह (36) अपने दोस्तों के साथ सिंधोरा चौराहे से 500 मीटर की दूरी पर स्थित एक फास्ट फूड की दुकान पर चाऊमीन खा रहा था। तभी लगभग तीन बजे जौनपुर की ओर से स्कार्पियो से नकाबपोश तीन युवक पहुंचे और गालीगलौज करते हुए विमल से मारने-पीटने लगे। इस दौरान दुकान पर रखे पलटा से विमल सिंह के सिर पर कई वार कर घायल कर दिया। यह देख अन्य लोगों ने जब विरोध जताया और विमल ने हिम्मत बांधी तो युवकों में एक ने पिस्टल से फायरिंग शुरू कर दी। दो गोली दुकान के दीवार में तो एक गोली विमल की कनपटी को छूते हुए निकल गई।

इस दौरान बदमाशों संग हाथापाई में एक बदमाश का नकाब निकल गया, जिसे विमल ने पहचान कर शोर मचाने लगा तो बदमाश भाजपा झंडा लगी स्कार्पियो से जौनपुर की ओर भाग निकले। ताबड़तोड़ फायरिंग की घटना से बाजार में भगदड़ मच गई। लहूलुहान हाल में विमल को और उसके एक साथी को जिला अस्पताल में भर्ती कराया गया। फायरिंग की सूचना मिलते ही पुलिस अधीक्षक ग्रामीण अमित वर्मा, एएसपी नीरज पांडेय, सीओ पिंडरा अभिषेक पांडेय मौके पर पहुंचे और वारदात की तफ्तीश में जुटे।

घायल विमल के मुताबिक हमलावरों में मरूई निवासी मोनू मिश्रा भी शामिल है। इस संबंध में एसपी ग्रामीण अमित कुमार वर्मा ने बताया कि चुनावी रंजिश में फायरिंग और मारपीट की घटना में शामिल तीन आरोपियों की गिरफ्तारी के लिए पुलिस की तीन टीमें गठित की गई हैं। कुछ संदिग्धों को हिरासत में लेकर पूछताछ की जा रही है।

फायरिंग और मारपीट की घटना को लेकर बाजार में दहशत का माहौल रहा। आसपास के लोगों ने बताया कि हमलावर कहीं दूर के नहीं बल्कि गांव के ही निवासी हैं। जिस मोनू मिश्रा पर आरोप है कि विमल पर जानलेवा हमला कराया, पहले दोनों अच्छे दोस्त हुआ करते थे। जिला पंचायत चुनाव के दौरान दोनों की दोस्ती में दरार पड़ गई और मनमुटाव इस कदर कि देख लेने की धमकी तक दी गई थी। पिछले कई दिनों से दोनों में टकराहट हो रही थी।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *