शायद जिंदा रहता अहसान, अगर देता रहता हिस्ट्रीशीटर को रंगदारी, पुलिस पर लापरवाही का परिजनों ने लगाया आरोप

आदिल अहमद

कानपुर। उसका नाम ही था अहसान। अलख जगाने निकला था। गुंडों को रंगदारी न देने की मुहीम जैसे वह चलाना चाहता था तभी तो सबसे पहले अपने परिवार को उन गुंडों को रंगदारी देने से मना कर दिया था। कानपुर के शिवराजपुर में सब्जी की दूकान लगाने वाले परिवार का सदस्य 24 वर्षीया अहसान उर्फ़ मुन्ना इसी “ना” का शायद शिकार हो गया। परिजनों का आरोप है कि 10 जून को गुंडा टैक्स के विवाद में हिस्ट्रीशीटर ने साथियों संग मिलकर कार से अहसान उर्फ़ मुन्ना का दिनदहाड़े अपहरण कर लिया था। जिसके बाद उसको जमकर पीटा और जब वह मरणासन्न हो गया तो जीटी रोड किनारे फेंक दिया था। आज रविवार सुबह एक निजी अस्पताल में उपचार के दौरान एहसान उर्फ़ मुन्ना ने दम तोड़ दिया।

घटना के सम्बन्ध में परिजनों के आरोपों को आधार माने तो शिवराजपुर कस्बे के वार्ड -10 निवासी एहसान उर्फ मुन्ना (24) के परिवार के दस-पंद्रह लोग सब्जी का ठेला लगाते हैं। पीड़ित परिजनों के अनुसार हिस्ट्रीशीटर व प्रधान का बेटा अभिषेक सिंह उर्फ बोनी ठाकुर कस्बे में फुटपाथ दुकानदारों से वसूली करता था। सभी दुकानदार देते थे लेकिन एहसान ने अपने परिवार को पैसा देने से रोक दिया था। जिसका बुरा अभिषेक सिंह बोनी को लगा और 10 जून को अभिषेक सिंह उर्फ बोनी ठाकुर ने अपने साथियों संग मिलकर शिवराजपुर स्टेशन के पास से एहसान का कार से अपहरण कर लिया। दबंगों ने एहसान को सुनसान जगह पर ले जाकर लाठी-डंडों से पीटकर मरणासन्न करने के बाद जीटी रोड किनारे फेंक दिया था।

घायल युवक के मिलने की सुचना राहगीरों द्वारा परिजनों को दिया गया तो उन्होंने मौके पर जाकर घायल एहसान उर्फ़ मुन्ना को सीएचसी में भर्ती कराया। परिजनों का आरोप है कि उन्होंने घटना के सम्बन्ध में लिखित तहरीर पुलिस को दिया मगर पुलिस आरोपियों के खिलाफ कार्यवाही तो दूर बल्कि मुकदमा ही दर्ज नहीं कर रही थी। इससे आक्रोशित परिजनों ने जीटी रोड जाम कर हंगामा शुरू कर दिया। हंगामे के बाद जाकर पुलिस ने अभिषेक व उसके साथियों पर रिपोर्ट दर्ज की। बताते चले कि घटना के तीन दिन बाद पुलिस ने हत्या के प्रयास समेत गंभीर धाराओं में मुकदमा दर्ज कर दिया था।

आज रविवार सुबह एहसान की कल्याणपुर क्षेत्र के एक निजी अस्पताल में उपचार के दौरान मौत हो गई। युवक की मौत पर आक्रोश फैल गया है। भीड़ ने पुलिस पर लापरवाही का आरोप लगाते हुए थाना घेर लिया है। मामला बढ़ता देख क्षेत्र में फोर्स तैनात कर दी गई है। परिजनों और भीड़ का आरोप है कि अभिषेक सिंह अपने साथियों सहित खुल्लम खुल्ला गुंडा टैक्स वसूल करता है। मगर पुलिस उसके ऊपर कोई कार्यवाही नही करती है। इस घटना के बाद पुलिस महकमे में भी हडकम्प मचा हुआ है। पुलिस मामले में कार्यवाही की बात कर रही है।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *