कानपुर फ़ैज़ ए आम चैरिटेबल अस्पताल में सोशल डिस्टेंस ताख पर रखकर जुट रही भीड़

आदिल अहमद

कानपुर। कोरोना ने देश में कहर बरपा कर रखा था। शायद ही इस कहर से कोई शहर अछूता रहा हो। आज भी कोरोना के देश में काफी मामले सामने आ रहे है। मगर जनता है कि मानती नही। जीवन के साथ आजीविका की भी चिंता करते हुवे लॉक डाउन के नियमो में सरकार ने थोडा छुट क्या दे रखा है। लोग कोरोना को एक बार फिर मजाक समझ रहे है। सबसे हैरानी वाली बात तो ये है कि ज़िम्मेदार अपनी ज़िम्मेदारी से इस मामले में मुह मोड़ कर बैठे हुवे है।

ऐसा ही कुछ देखने को मिला कानपुर के अक्सर चर्चाओं में रहने वाले चैरिटेबल अस्पताल फैज़-ए-आम में। जनता अपने से तो सोशल डिस्टेंस बनाने से रही। बची जिम्मेदारो की बात तो उन्होंने खुद भी इसके लिए कोई कोशिश करने की ज़हमत नही उठाई। हर जगह सेटिंग अरेंजमेंट कुछ इस तरह हो रहा है कि सोशल डिस्टेंस खुद ब खुद हो जाए। मगर फैज़-ए-आम ने इसको ताख पर रखकर आज अस्पताल में अच्छी खासी भीड़ इकठ्ठा कर डाली।

तस्वीरे आप देख कर भले खुद डर रहे हो कि कही कोरोना का संक्रमण दुबारा अपने शबाब पर न पहुच जाये, मगर न तो इस भीड़ को इसकी चिंता है और न ही जिम्मेदारो ने इसके तरफ जनता का ध्यानाकर्षण करवाने की कोशिश किया। भीड़ में मास्क पहन कर आये लोगो ने मास्क को नाक और मुह के बजाये सिर्फ ठुड्डी पर लटका रखा है। कई तो ऐसे थे जिन्होंने मास्क पहनने की ज़हमत तक नही उठा रखा था। अब आप हालात को खुद समझ सकते है और अस्पताल प्रशासन की लापरवाही को भी समझ सकते है। बताते चलें अस्पताल में रोज़ ही लगभग क्षमता से अधिक लोगो को एकत्रित किया जाता है और अस्पताल प्रशासन द्वारा समाजिक दूरी के नियमों की खूब धज्जियां उड़वाई जाती है। अब देखना होगा कि अस्पताल प्रशासन इसपर ध्यान देगा कि नही।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *