असम: बेदखली की कार्यवाही के दौरान पुलिस और स्थानीय लोगो में हिंसक झड़प, दो नागरिको की मौत, कई घायल

आदिल अहमद

नई दिल्ली। असम के दारांग जिले में आज एक अतिक्रमण विरोधी अभियान के दौरान पुलिस और स्थानीय लोगों के बीच एक भीषण झड़प  हुई। धौलपुर में हुई झड़प में नौ पुलिसकर्मी और दो नागरिक घायल बताए जा रहे हैं, इस दौरान पुलिसकर्मी गोलियां चलाते भी दिखाई दिये। घटनास्‍थल के वीडियो में एक व्‍यक्ति को आक्रामक मुद्रा में स्टिक लेकर पुलिसकर्मियों की ओर से बढ़ते देखा जा सकता था, जिसकी बाद में पुलिसवाले निर्ममता से पिटाई कर रहे हैं। घटना में दो लोगों की मौत हुई है जबकि 9 पुलिसकर्मी घायल हुए हैं।

असम के दरांग जिले में आज एक अतिक्रमण विरोधी अभियान के दौरान पुलिस और स्थानीय लोगों के बीच भीषण झड़प देखने को मिली।  झड़प में कई पुलिसकर्मियों के साथ ही कई नागरिक भी घायल हो गए।  इस दौरान पुलिसकर्मियों ने गोलियां भी चलाईं और लोगों पर लाठी-डंडों का इस्तेमाल भी किया। अतिक्रमण विरोधी अभियान के दौरान ढालपुर में अभियान के विरोध में पुलिस की गोलीबारी में दो नागरिकों की मौत हो गई, जबकि कई घायल हो गए।  लगभग 4500 बीघा भूमि पर कब्जा करने वाले कम से कम 800 परिवारों को सोमवार को अवैध अतिक्रमण के खिलाफ राज्य सरकार के अभियान के तहत बेदखल कर दिया गया था।  परिवारों ने उस दिन अपना सामान स्थानांतरित करने के दरमियान कोई प्रतिरोध नहीं दिखाया।

वहीं बेदखली की प्रक्रिया को जारी रखते हुए असम सरकार आज सिपाझार के ढालपुर में बेदखली के लिए गई।  जहां उन्हें बेदखली पर स्थानीय लोगों के गंभीर विरोध का सामना करना पड़ा, जिसके कारण पुलिस और स्थानीय लोगों के बीच झड़प हुई।  सूत्रों के अनुसार बेदखली अभियान के खिलाफ 10,000 से अधिक अतिक्रमणकारी नंबर 3 क्षेत्र पर विरोध प्रदर्शन कर रहे थे।  भीड़ को नियंत्रित करने के प्रयास में पुलिस ने फायरिंग कर दी, जिसमें दो लोगों की मौत हो गई और कई अन्य घायल हो गए।  पुलिस ने बताया कि स्थानीय लोगों ने निष्कासन अभियान का विरोध किया और पथराव शुरू कर दिया।  हमारे कई पुलिसकर्मी घायल हो गए हैं।  कई नागरिक भी घायल हो गए। उन्हें अस्पताल में भेजा गया है। अब हालात सामान्य है।

दारांग के पुलिस अधीक्षक ने बताया कि स्थानीय लोगों ने बेदखली अभियान का विरोध किया और पथराव शुरू कर दिया। एसपी सुशांत बिस्वा सरमा ने कहा, “हमारे नौ पुलिसकर्मी घायल हो गए। दो नागरिक भी घायल हो गए। उन्हें अस्पताल में भर्ती कराया गया है। अब चीजें सामान्य हैं।” सरमा ने कहा, “हम स्थिति के कारण निष्कासन पूरा नहीं कर सके। हम बाद में आकलन करेंगे। हम अभी लौट रहे हैं।” लेकिन जब स्थानीय को गोली मारने और फिर पीटे जाने के फुटेज के बारे में पूछा गया, तो उन्होंने कहा, “क्षेत्र बड़ा है। मैं दूसरी तरफ था। मैं स्थिति का पता लगाऊंगा और आकलन करूंगा।”



Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *