हे भगवान, घोर कलयुग: दादी ने ही पैसो की खातिर किया था अपने पोते का अपहरण, पुलिस ने बच्चे को किया सुरक्षित बरामद, दादी गिरफ्तार

आदिल अहमद

कानपुर। रिश्ते पैसो के आगे कभी कभी बड़े बौने दिखाई देते है। एक दादी अपने पोते पर जान छिड़कती है। कहा जाता है कि मूल से अधिक सूत प्यारा होता है के तर्ज पर दादा दादी अपने पोते पोती पर जान छिड़कते है। मगर इसी समाज में कुछ ऐसे भी धन के लोभी है जो रिश्तो को पैसो के नाम पर बलि चढ़ा देते है। ऐसा ही एक मामला प्रकाश में आया है कानपुर के निकट औरैया में जहा दादी ने फिरौती के लिए अपने पोते का अपहरण कर डाला।

दो बेटों के साथ मिलकर 14 माह के पौत्र को अगवा करने वाली दादी ने फोन करके उस मासूम के पिता से दो लाख रुपये की फिरौती मांगी। पुलिस को सूचना देने पर मासूम की हत्या की भी धमकी दी। मामला औरैया का है जहा इस प्रकरण की जानकारी होने पर पुलिस महकमे में हडकंप मच गया। तत्काल पुलिस ने सर्विलांस की मदद से कुछ ही घंटों में मासूम को सकुशल तलाशकर आरोपी महिला को गिरफ्तार कर लिया। उसके दोनों बेटे भाग निकले।

कस्बा के मोहल्ला बाबा का पुरवा निवासी ट्रक चालक मोहन कुमार का 14 माह का बेटा शिव सोमवार शाम घर के बाहर बच्चों के साथ खेल रहा था। मोहन के मुताबिक इस बीच इटावा के जसवंतनगर थाना क्षेत्र के रेलमंडी में रहने वाली उसकी सगी मौसी बेबी (50) अपने दो बेटों शिवम व अभिषेक के साथ बाइक से आई और शिव को अगवा कर ले गई। गांव के बच्चों ने घर आकर घटना की जानकारी दी तो परिजनों के होश उड़ गए।

मोहन ने मौसी को फोन कर बेटे की जानकारी की, लेकिन उसने शिव के साथ में न होने की बात कहकर फोन काट दिया। बकौल मोहन थोड़ी देर बाद ही मौसी ने दूसरे नंबर से फोन कर शिव के बदले दो लाख की फिरौती मांगी और पुलिस को सूचना न देने की धमकी भी दी। मोहन ने पुलिस को घटना की जानकारी दी। पुलिस ने रात करीब 12 बजे जुआ पुल स्थित मंदिर के पास से आरोपी महिला बेबी को गिरफ्तार कर लिया। उसके पास से शिव भी सकुशल मिल गया।



Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.