वाराणसी पुलिस कमिश्नर की चौक पुलिस ने तोडा अंतर्राजीय लुटेरे इरानी गैंग की पूरी तरह कमर, आखरी सदस्य वाछित इनामिया अमजद चढ़ा पुलिस के हत्थे

ए जावेद

वाराणसी: अंतर्राजीय लुटरो इरानी गैंग की वाराणसी पुलिस कमिश्नर ए0 सतीश गणेश की चौक पुलिस ने कमर तोड़ते हुवे उसके आखिरी सदस्य 25 हजार के इनामिया अमजद को गिरफ्तार कर लिया है। विगत दिनों चौक थाना क्षेत्र में हुई कारोबारी से लूट के मामले में चौक पुलिस ने भूसे से सुई तलाशते हुवे इरानी गैंग का खुलासा उसके सदस्यों की गिरफ़्तारी के साथ किया था। इस समय इस गैंग को वाहन उपलब्ध करवाने वाला अमजद फरार हो गया था। अमजद की गिरफ़्तारी के बाद इस गैंग की कमर अब टूट चुकी है। अमजद की गिरफ़्तारी चौक पुलिस ने चारबाग़ स्टेशन से किया जब वह कही फरार होने की फ़िराक में था।

गौरतलब हो कि दिनांक 24/03/2022 को कारोबारी तबरेज अहमद वाराणसी अपने व्यापारियों को पैसा देने आए थे। जिसे ब्लू डायमंड होटल के समाने कुछ अज्ञात व्यक्तियों द्वारा रोक कर 8 लाख रुपए लूट कर लिया गया था। उक्त मामले में पुलिस ने अज्ञात व्यक्तियों के विरुद्ध अभियोग पंजीकृत किया गया था। विवेचना के दौरान उक्त घटना में ईरानी गैंग जो एक अंतर्राजीय गैंग है और इस गैंग के विरुद्ध विभिन्न प्रदेशों में अभियोग पंजीकृत है के 06 सदस्यों को गिरफ्तार किया गया। उस समय गिरफ्तार अभियुक्तों के पास से लूट के 7,37,000 रुपए बरामद किए गए थे।

इस गिरफ़्तारी में उक्त गैंग को हिस्सा लेकर वाहन उपलब्ध कराने वाला अभियुक्त मो अमजद जिसका के0वी0 मोटर्स के नाम से भोपाल में एक गाड़ी बेचने व खरीदने एवं पुरानी गाड़ियों की मरम्मत करने का व्यवसाय है द्वारा घटना में बरामद वाहन टवेरा को उपलब्ध कराया गया था। अमजद इस घटना के बाद से फरार था। पुलिस ने अमजद पर 25 हज़ार का इनाम घोषित कर रखा था।

इस दरमियान अमजद के लखनऊ में होने की जानकारी एसीपी दशाश्वमेघ को प्राप्त हुई। अमजद की गिरफ़्तारी हेतु एसीपी दशाश्वमेघ अवधेश पाण्डेय ने चौक इस्पेक्टर शिवाकांत मिश्रा के नेतृत्व में एक टीम का गठन किया। टीम में एसआई अजय कुमार, प्रीतम तिवारी, हे0क़ा0 पुनदेव सिंह, का0 सुनील कुमार, सुशांत गुप्ता, अमित शुक्ला और बृजेश प्रताप शामिल थे। टीम ने लखनऊ के चारबाग से अमजद को उस समय गिरफ्तार कर लिया जब वह भागने की तैयारी में था।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.