जीएसटी एक काला कानून है, बुनकर इसे स्वीकार नहीं करेंगे : हाजी ओकास अंसारी

(जावेद अंसारी)

वाराणसी : प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के संसदीय क्षेत्र वाराणसी के काजीपुरा गुलिस्ताॅ स्कूल में जीएसटी को लेकर बुनकर बिरादराना तन्जीमों के प्रतिनिधि एवं बुनकर के तमाम जिम्मेदार लोगों ने गुलिस्ताँ स्कूल में कपड़ा उद्योग की एक बैठक कर जीएसटी काला कानून का विरोध किया। जिसमें हज़ारों की तादाद में लोग उपस्थित थे। इसके पुर्व में वाराणसी वस्त्र में व्यापार मंडल बंद करने का बुनकर समाज ने समर्थन किया था।और व्यापारियों ने जमकर इसका विरोध किया था, विरोध करने के बावजूद भी जब व्यापारीयों को किसी भी तरह की मद्द नही मिली तो उन्होनें बंदी वापस ले ली।और आम बुनकर जीएसटी के विरोध में मकड़जाल की तरह फसा हैं।

कांग्रेस नेता हाजी ओकास ने बताया कि सरकार ने जीएसटी तो लागू कर दिया है लेकिन हर रोज इसे लेकर विरोध हो रहा है , इसी के चलते बुनकर समाज के लोगों ने सरकार व जीएसटी के खिलाफ काले कानून का हर रोज विरोध कर रहे हैं।बुनकर समाज का कहना है कि जीएसटी लागू होने से उन्हें पांच फीसद टैक्स देना होगा, जबकि हम 2% की मार्जीन रखकर कपड़ा बेचते है। उनका कारोबार पहले से ही मंदी की मार झेल रहा था इसकी वजह से और घाटे में चला गया है।
वक्ताओं ने रखें अपने विचार
वक्ताओं ने कहा कि भारत सरकार अपने ही प्रस्ताव में कहां की जिस वस्त्र पहले से किसी भी प्रकार का टैक्स नही होगा उसे जीएसटी से बाहर रखा जाएगा। और बुनकर द्वारा बिने हुए कपड़ो पर कभी भी कोई टैक्स नहीं लगा तो कपड़े पर जीएसटी क्यूँ लगाया जा रहा है। वक्ताओं ने कहा कि हमारा बुनकर कम पड़ा लिखा है एवं अनपड़ हैं, जो जीएसटी के कड़े कानून को कभी नहीं समझ सकता और न ही इसे अपना सकता है। जबकि बुनकर एक मज़दूर हैं, बुनकर कपड़ा बिनता है और उसकी मार्जीन के 2% रखकर कर बेचता हैं। और उस पर जीएसटी लागू कर दिया गया, जब 2% रखकर बुनकर कपड़ बेचता हैं तो 3% जीएसटी कहा से भरेगा।वक्ताओं ने कहा कि इस काले कानून का स्वीकार हम नहीं करेंगे।
इस बैठक में काजीपुरा,जलालीपुरा, मोहम्मद पुरा, रसूलपुरा, बड़ी बाजार, जैतपुरा, कमालपुरा, छीत्तनपुरा, सरैया, शक्कर तालाब, रेवड़ी तालाब, मदनपुरा, लोहता, बजड्डीयाँ, पीली कोठी, दोसी पूरा, कमन गड्हा, चौहट्टा लाल खान, नक्की घाट, बुनकर काॅलोनी, बाकरा बाद, अम्बीया मंडी, गोलगड्डा, के तमाम जिम्मेदार लोगों के बीच सर्वसम्मति से यह तय किया गया है कि जीएसटी कानून जबतक कपड़े पर से नहीं हटाया जाएगा हम बुनकर समाज जीएसटी का विरोध करते रहेंगे। विरोध के क्रम में दिनाक 11-12-13-14 मंगलवार बुधवार ब्रिहस्पतिवार एवं जुमा चार दिन तक अपना कारोबार बंद कर विरोध करेंगे। कुल मिलाकर इस बंदी की रेखा क्या होगी ये तो अगली बैठक में पता चलेगा। बैठक में पुर्व विधायक अब्दुल समद अंसारी, हाजी मुन्नू , कैशर अमीन, अनवारूलहक़, रवी शंकर तिवारी, हाजी खुर्सिद, कैय्यूम, हाजी कलाम, हाजी ओकास अंसारी, सहित हज़ारों की तादाद में लोग उपस्थित थे।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.