उप निदेशक महावीर कौजलगि के आभार भाषण के साथ हुआ वन्य प्राणी सप्ताह का समापन

दुधवा में सप्ताह भर हुईं प्रतियोगिता के विजेताओं को किया गया पुरस्कृत

फारुख हुसैन

पलिया कलां (लखीमपुर). दुधवा राष्ट्रीय उद्यान में वन्यजीव सप्ताह का समापन बहुत ही धूमधाम से किया गया इस मौके पर विभिन्न प्रतियोगिता में सम्मलित बच्चों को सम्मानित किया गया। आपको बता दे कि दुधवा डायरेक्टर महावीर कौजलगि और उनकी टीम को एक रोज पहले ही लखनऊ में राज्य स्तरीय पुरस्कार से सम्मानित किया गया था। जिसके चलते उत्साहित नजर आ रहे डिप्टी डायरेक्टर ने वन्य प्राणी सप्ताह के समापन पर दुधवा में आयोजित समारोह को संबोधित करते हुए सभी का आभार जताया। इस मौके पर उनकी धर्म पत्नी शर्मिला कौजलगि और बच्ची भी मौजूद थे। श्रीमति कौजलगि ने पूरे सप्ताह भर आयोजित हुईं प्रतियोगिताओं में अपनी सक्रिय भूमिका निभाई।

दुधवा टाइगर रिजर्व मे बीते एक सप्ताह से मनाए जा रहे वन्य प्राणी सप्ताह का सोमवार को दुधवा पर्यटन परिसर में समारोहपूर्वक समापन कर दिया गया। कार्यक्रम में पूरे सप्ताह स्कूली छात्र छात्राओं के सौजन्य से सम्पन्न कराई गई प्रतियोगिताओं के विजेता बच्चों को पुरस्कार देकर सम्मानित किया गया। वन्य प्राणी सप्ताह के समापन समारोह में बोलते हुए दुधवा एफडी रमेश पाण्डेय ने कहा कि दुधवा इस क्षेत्र की अमूल्य धरोहर है। यहां के बेशकीमती वनों तथा दुर्लभ वन्य प्राणियों की सुरक्षा पार्क कर्मचारियों के अलावा हम सब क्षेत्रवासियों का दायित्व है। राष्ट्र की भावी पीढी बच्चे जागरुक होकर इस कार्य में लगेंगे तो फिर वन्य जीवों की सुरक्षा पर कोई प्रश्नचिन्ह नहीं लग सकता।

डीडी महावीर कौजलगि ने कहा कि ऐसे कार्यक्रम के माध्यम से हम बच्चों में वन एवं वन्जीवों के प्रति जागरुकता लाने  का कार्य करते हैं। कहा कि पेड कुछ नही लेते लेकिन हम सभी को बहुत कुछ देते है। कहा कि पेड सूखने के बाद भी सालों हमें सेवा देते है। दुधवा सभी का है। जैसे हवा व पानी किसी का नही है वैसे ही जंगल हैए वैसे ही जानवर हैं। दुधवा आप का अपना है हम सब को मिलकर उसे बचाना है। अंत में एफडी रमेश पाण्डेय व डीडी महावीर कौजलगि ने वन्य प्राणी सप्ताह में सहयोग करने वाले मीडियाकर्मियों, बच्चोंए शिक्षक शिक्षिकाओं, स्वयंसेवी संगठनों, डब्ल्यूडब्ल्यूएफ व पार्क कर्मचारियों के प्रति आभार प्रकट किया। इस दौरान वार्डन शशिकांत अमरेश, रेंजर मनोज श्रीवास्तव, सुरेश चौधरी, वरिष्ठ सहायक रमेश कुमार, अभिनय यादव, संजय नारायण आदि मौजूद रहे।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *