आजम खान के बयान पर भड़कीं जया प्रदा, कहा आज़म खान जीत गया तो लोकतंत्र का क्या होगा

हर्मेश भाटिया

रामपुर. समाजवादी पार्टी नेता आजम खान के आपत्तिजनक बयान पर जया प्रदा ने प्रतिक्रिया देते हुए कहा कि उनके लिए ये कोई नई बात नहीं है। उन्होंने कहा कि उन्हें चुनाव नहीं लड़ने दिया जाना चाहिए। समाज में महिलाओं के लिए कोई जगह नहीं होगी। क्या मुझे मर जाना चाहिए? आपको क्या लगता है मैं रामपुर छोड़ दूंगी, ऐसा नहीं होगा।

जया प्रदा ने कहा कि आपको याद होगा कि मैं 2009 में उनकी पार्टी की उम्मीदवार थी, जब मेरे खिलाफ टिप्पणी करने के बाद किसी ने भी मेरा समर्थन नहीं किया था। मैं एक महिला हूं और मैं वह नहीं दोहरा सकती जो उन्होंने कहा। पता नहीं मैंने क्या किया है, जो वो ऐसी टिप्पणी कर रहा है।

उन्होंने कहा कि उसे चुनाव लड़ने की अनुमति नहीं दी जानी चाहिए। क्योंकि अगर यह आदमी जीत गया, तो लोकतंत्र का क्या होगा? समाज में महिलाओं के लिए कोई जगह नहीं होगी। हम कहां जाएंगे? क्या मुझे मर जाना चाहिए, तब आप संतुष्ट होंगे? आप सोचते हैं कि मैं डर जाऊंगी और रामपुर छोड़ दूंगी? लेकिन मैं नहीं छोड़ूंगी।

बता दें, रविवार को आजम खान ने जनसभा के दौरान जयाप्रदा पर निशाना साधते हुए कहा था कि जिसको हम ऊंगली पकड़कर रामपुर लाए, आपने 10 साल जिससे अपना प्रतिनिधित्व कराया। उनकी असलियत समझने में आपको 17 बरस लगे, मैं 17 दिन में पहचान गया कि इनके नीचे का अंडरवियर खाकी रंग का है। हालांकि, उन्होंने इस बयान में जयाप्रदा का नाम नहीं लिया था।

इस मामले पर महिला आयोग ने भी सख्ती दिखाई है। महिला आयोग ने इस पर संज्ञान लेते हुए आजम खान को नोटिस जारी किया है। वहीं राष्ट्रीय महिला आयोग की अध्यक्ष रेखा शर्मा ने कहा, “वह हमेशा महिलाओं के बारे में गंदी बातें करते हैं, और इस चुनाव में महिला राजनेताओं के खिलाफ यह उनकी दूसरी टिप्पणी है। राष्ट्रीय महिला आयोग ने स्वतः संज्ञान लिया है, और उन्हें नोटिस भेज रहे हैं। हम चुनाव आयोग से भी कड़ी कार्रवाई करने के लिए कह रहे हैं, क्योंकि उनके सबक सीखने का वक्त आ गया है। अब उन्हें इसे रोकना ही होगा। महिलाएं सेक्स ऑब्जेक्ट नहीं हैं। मुझे लगता है, महिला मतदाताओं को भी महिलाओं के साथ ऐसा बर्ताव करने वाले ऐसे लोगों के खिलाफ मतदान करना चाहिए।

उधर अपने बयान पर सफाई देते हुए आजम खान ने कहा कि मैंने किसी का नाम नहीं लिया है। मैं जानता हूं कि मुझे क्या कहना चाहिए। अगर कोई साबित कर देता है कि मैंने कहीं, किसी का नाम लिया है, किसी का अपमान किया है, तो मैं चुनाव नहीं लड़ूंगा। आजम खान ने एएनआई से कहा कि ‘मैं दिल्ली के एक व्यक्ति का जिक्र कर रहा था जो अस्वस्थ है। जिसने कहा था- मैं 150 राइफलें लेकर आया था और अगर मैंने उस दिन आजम खान को देखा होता तो गोली मार देता।’ उसके बारे में बात करते हुए, मैंने कहा, ‘लोगों को जानने में काफी समय लगा और बाद में पता चला कि उसने आरएसएस के शॉर्ट्स पहने थे।’

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *