लोहागढ़ आंगनवाड़ी केंद्र – इन दरो दीवारों को देख लगता है कि बरसो से न हुई है किसी की आमद

लक्ष्मन सिह राघव

अलीगढ़ खैर तहसील के लोहागढ़ स्थित आंगनवाड़ी केंद्र खुद की बदहाली पर आंसू बहा रहा है। आगनबाडी केंद्र की स्थापना जिस उद्देश्य से हुई होगी वह पूरा हो रहा है ये ऐसा प्रश्न है जिस पर प्रशासन तो अपनी हामी भर देगा। मगर मौके के हालात को देख कर आप बखूबी अंदाज़ा लगा सकते है कि शायद लम्बे समय से यहाँ किसी की आमद ही नही हुई हो।

इसकी मुख्य वजह है ज़मीन पर पड़ी हुई ढेरो धुल। इस धुल को देख कर आप अंदाज़ लगा सकते है कि अगर कोई आता यहाँ तो कम से कम ये धुल उसके पैरो से ही सही सिमट का तितर बितर हो जाती। मगर यहाँ तो स्थिति एकदम विचित्र है। धुल की लगभग 1 सेमी मोटी परत ज़मीन पर हमको दिखाई दी।

इसके अलावा गन्दगी का अम्बार केंद्र के अन्दर देखने को मिला। फर्श पर ही गाय, भैस के गोबर दिखाई दे रहे थे। गोबर भी ऐसा कि ज़मीन पर पड़े पड़े ही सुख गया था। सफाई की बात तो दरकिनार करे देख कर लगता है कि काफी वक्त से यहाँ झाड़ू तक नही लगा है। जब पंचायत भवन का आगनबाड़ी केंद्र इस तरीके की दुर्दशा है तो ग्राम सभा की क्या स्थिति होगी आप बखूबी अंदाज़ लगा सकते है। भवन के अंदर ही कुत्ते और पशुओं ने आंगनवाड़ी केंद्र को शौचालय बना रखा है जहां एक और स्वच्छता अभियान की बात करें तो लोहागढ़ गांव में स्वच्छता अभियान को ठेंगा दिखाया जा रहा है

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *