बलिया के प्रमुख समाचारों पर एक नज़र अरविन्द यादव के संग

दहेज़ की खातिर चढ़ी एक और बेटी की बलि

सहतवार (बलिया)। क्षेत्र के ग्राम सभा बघाँव मे दहेज के लिए एक लड़की को मारकर फेक दिये का मामला प्रकाश मे आया है। लड़की के पिता द्वारा लड़की को मारकर लाश गायब करने की तहरीर सहतवार थाने मे दे दी गयी है। पुलिस तहरीर लेकर मामले की छानबीन शुरु कर दी है।

    सहतवार थाना क्षेत्र के कुशहर निवासी श्रीकृष्णकुमारवर्मा पुत्र स्व सियारामवर्मा ने सहतवार थाने मे तहरीर दी है कि मै गुड़िया वर्मा 28वर्ष की शादी सहतवार थाना क्षेत्र के बघाँव निवासी लक्षेमणवर्मा पुत्र इन्द्रासनवर्मा से 24- 6- 2012 को हिन्दू रिति रिवाज के साथ किया था। जिससे दो लड़के अंजनी व आदर्श है। शादी के दो वर्ष बाद से ही मोटरसाईकिल के लिए गुड़िया को हमेशा मारता पीटता रहता था।

फिर अप्रैल 2017 को मेरी लड़की रानी वर्मा को बहला फुसला कर चैनरामबाबा के मन्दल मे शादी कर लिया। और मेरी लड़की गुड़िया को मारपीटकर मायके मे छोड़कर भाग गया। जिसके सम्बन्ध मे दामाद लक्ष्मणवर्मा व अन्य के खिलाफ सहतवार थाने मे मुकदमा पंजीकृत है. विगत छठ पूजा के दो दिन पूर्व मेरी लड़की गुड़िया अपने बच्चो से मिलने व छठ पूजा करने गयी तो उस समय सब ठीक ठाक रहा, परन्तु लक्ष्मण वर्मा गुड़िया को रखना नही चाहता था इस स्थिति मे गुड़िया को मारपीटकर छत से धक्का दे दिया। जिससे उसको गम्भीर चोटे आयी और बेहोश हो गयी।

गाँव वालो के कहने पर वह मजबूरी वश ईलाज के लिए वाराणसी ट्रामा सेन्टर ले गया। डाक्टर द्वारा आपरेशन के लिए कहने पर वापिस अपने गाँव बघाँव लेकर चला आया। मै अपने गाँव के लड़के दीपक के साथ 3- 12- 2019 को डुड़िया से मिलने बघाँव गया तो गुड़िया बेहोश थी। 4- 12- 2019 को लक्ष्मण के पिता गाँव आकर बोले कि जो केश किये हो समझौता कर लो नही तो ठीक नही होगा। मै 5- 12- 2019 को बघाँव गया तो लड़की गुड़िया 28 वर्ष का पता नही चला। वे लोग भी महत्वपूर्ण घर मे ताला लगाकर गायब थे। गाँव वालो से पता चला कि लड़की मर चुकी है। शादी के दो माह बाद से ही मोटरसाईकिल के लिए गुड़िया को हमेशा मारता पीटता रहता था।

परिजनों का आरोप है की फिर अप्रैल 2017 को मेरी लड़की रानी वर्मा को बहला फुसला कर चैनरामबाबा के मन्दल मे शादी कर लिया। और मेरी लड़की गुड़िया को मारपीटकर मायके मे छोड़कर भाग गया। जिसके सम्बन्ध मे दामाद लक्ष्मणवर्मा व अन्य के खिलाफ सहतवार थाने मे मुकदमा पंजीकृत जिसकविगत छठ पूजा के दो दिन पूर्व मेरी लड़की गुड़िया अपने बच्चो से मिलने व छठ पूजा करने गयी तो उस समय सब ठीक ठाक रहा, परन्तु लक्ष्मण वर्मा गुड़िया को रखना नही चाहता था इस स्थिति मे गुड़िया को मारपीटकर छत से धक्का दे दिया। जिससे उसको गम्भीर चोटे आयी और बेहोश हो गयी। गाँव वालो के कहने पर वह मजबूरी वश ईलाज के लिए वाराणसी ट्रामा सेन्टर ले गया। डाक्टर द्वारा आपरेशन के लिए कहने पर वापिस अपने गाँव बघाँव लेकर चला आया। मै अपने गाँव के लड़के पंकज के साथ 3- 12- 2019 को गुड़िया से मिलने बघाँव गया तो गुड़िया बेहोश थी। 4- 12- 2019 को लक्ष्मण के पिता गाँव आकर बोले कि जो केश किये हो समझौता कर लो नही तो ठीक नही होगा। मै 5- 12- 2019 को बघाँव गया तो लड़की गुड़िया 28 वर्ष का पता नही चला। वे लोग भी महत्वपूर्ण घर मे ताला लगाकर गायब थे। गाँव वालो से पता चला कि लड़की मर चुकी है।

प्रदेश में जैविक खेती से बेहतर हो रही है किसानों की आमदनी

बलिया। अपनी खेती, अपनी खाद, अपना बीज, अपना स्वाद। जैविक खेती कृषि की ऐसी पद्धति है, जिसमें पर्यावरण को स्वच्छ प्राकृतिक संतुलन को कायम रखते हुए भूमि, जल एवं वायु को प्रदूषित किये बिना दीर्घकालीन व स्थिर फसल उत्पादन प्राप्त किया जाता है। इस पद्धति में रसायनों का उपयोग नही किया जाता है। यह पद्धति रसायनिक कृषि की अपेक्षा सस्ती, स्वावलम्बी एवं स्थाई होती है। इससे मिट्टी की उर्वरा शक्ति बनी रहती है। आज के समय में खेती करना रसायनिक उर्वरकों व अन्य रसायनिक वस्तुओं के महंगी होने के कारण किसानों की अधिक लागत लगती है। भूमि का आहार जीवाश्म है। जीवश्म गोबर, पौधों, खर-पतवार, जीवों के अवशेष आदि को खाद के रूप में भूमि को प्राप्त होते है। और भूमि की उर्वरा शक्ति बढ़ती है। जिससे फसलोत्पादन में पौधों को समस्त पोषक तत्व प्राप्त होते है और किसान की फसल में उत्तरोत्तर वृद्धि होती हैं।

प्रदेश सरकार प्रदेश के किसानों को जैविक खाद का प्रयोग करते हुए खेती करने को बढ़ावा दे रही हैं जैविक खेती के लिए नैडप विधि, वर्मी कम्पोस्ट जैव उर्वरक एवं हरी खाद से खाद बनाते हुए खेत में किसान डालकर फसल उत्पादन बढ़ा सकते है। प्रदेश सरकार जैविक खाद बनाने के लिए नियमानुसार अनुदान भी देती है। उसके प्रयोग से उगाई गई फसलों पर कीटों को प्रकोप बहुत कम होता है। जिसमें हानिकारक रसायनों के छिडकाव की आवश्यकता नहीं रह जाती है। उत्पादित फसलों से प्राप्त खाद्यान्न, फल, सब्जियां आदि हानिकारक रसायनों से पूर्णतः मुक्त होती है। और खाद्य पदार्थ स्वादिष्ट, पोषक तत्वों से भरपूर होते है। जैविक उर्वरकों के प्रयोग से रसायनिक उर्वरक एवं विदेशी मुद्रा की बचत भी होती है, क्योंकि किसानों को रसायनिक उर्वरक आपूर्ति करने के लिए आवश्यकतानुसार विदेशों से भी क्रय की जाती है। जिसमें सरकार की विदेशी मुद्रा व्यय होती है। इसके प्रयोग से विभिन्न फसलों में 20 प्रतिशत से अधिक उपज में वृद्धि होती है। फसलों में अंकुरण शीघ्र होता है और कल्लों की संख्या में वृद्धि होती है। रसीले व तिलहन की फसलों की मात्रा में बढ़ोत्तरी होती है। किसानों की आय दोगुना करने के लिए मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ की नीति के तहत किसानों को आर्थिक लाभ भी होता है।

प्रदेश में जैविक खेती को बढ़ावा देने के लिए सरकार ने परम्परागत कृषि विकास योजनान्तर्गत चयनित 24 जनपदों में कुल 620 क्लस्टरों का चयन कर 31000 कृषकों को लाभान्वित कर रही है। बुन्देलखण्ड क्षेत्र के हमीरपुर जनपद की जैविक खेती के अन्तर्गत माॅडल जनपद बनाने हेतु 140 क्लस्टर में कार्यक्रम संचालित कर पूर्ण कर लिया गया है। आर0के0वी0वाई0 योजनान्तर्गत पीलीभीत जनपद में जैविक खेती योजनान्तर्गत 35 क्लस्टर का गठन कर कार्यक्रम संचालित किया जा रहा हैं। नमामि गंगे योजना के अन्तर्गत चयनित 08 जनपदों में 320 क्लस्टर का गठन कर कार्यक्रम चलाया जा रहा है। झांसी व बांदा में भी आर्गेनिक आउटलेट की स्थापना करायी गयी है। मृदा में जीवांश कार्बन बढ़ाने हेतु 39523 वर्मी कम्पोस्ट यूनिट की स्थापना की जा रही है। प्रदेश के किसानों द्वारा जैविक खेती को अपनाया जा रहा है। जैविक खाद का प्रयोग करते हुए किसानों के फसलोत्पादन में बढ़ोत्तरी के साथ ही उनकी आमदनी में भी इजाफा हो रहा है।

10 दिसंबर तक जमा करे मदरसा छात्र शुल्क

(बलिया) जनपद में संचालित मदरसा मिनी0 आईटीआई तथा उनके छात्रों को सूचित करते हुए जिला अल्पसंख्यक कल्याण अधिकारी कृष्ण कांत राय ने बताया है कि परीक्षा शुल्क जमा करने की अंतिम तिथि 10 दिसंबर, मदरसा द्वारा आवेदन पत्र करने की अंतिम तिथि 10 दिसंबर, मदरसा द्वारा आवेदन पत्र लाक करने की अंतिम तिथि 13 दिसंबर तथा जिला अल्पसंख्यक कल्याण अधिकारी द्वारा लॉक करने की अंतिम तिथि 16 दिसंबर निर्धारित किया गया है। उक्त निर्धारित तिथि तक आवेदन करते हुए 14 दिसंबर को आवेदन पत्र समस्त संलग्नको सहित कार्यालय को उपलब्ध कराएं ताकि अधोहस्ताक्षरी द्वारा 16 दिसंबर तक लॉक किया जा सके।

ऋण योजना के लिये इच्छुक छात्र/छात्राये 15 दिसम्बर तक करे आवेदन

बलिया। जनपद के अल्पसंख्यक समुदाय को सूचित करते हुए जिला अल्पसंख्यक कल्याण अधिकारी कृष्ण कांत राय ने बताया है कि उत्तर प्रदेश अल्पसंख्यक वित्तीय एवं विकास निगम द्वारा संचालित राष्ट्रीय अल्पसंख्यक विकास एवं वित्त निगम द्वारा वित्त पोषित शैक्षिक ऋण योजना के अंतर्गत प्रोफेशनल एवं जॉब ओरिएंटेड पाठ्यक्रमों में प्रवेश लेने वाले अल्पसंख्यक वर्ग (मुस्लिम, सिख, ईसाई, बौद्ध, पारसी तथा जैन) के पात्र ऐसे छात्र-छात्राएं जिनके परिवार की वार्षिक आय गरीबी रेखा के दोगुने से कम हो शहरी क्षेत्र हेतु एक लाख बीस हजार तथा ग्रामीण क्षेत्र हेतु 98 हजार से अधिक न हो) एवं उत्तर प्रदेश का मूल निवासी हो, जिनका प्रोफेशनल पाठ्यक्रम में प्रवेश खुले मुकाबले की परीक्षा से हुआ हो को अधिकतम रूपया 20 लाख तक के शैक्षिक ऋण प्रतिवर्ष रुपया चार लाख की दर से तीन प्रतिशत वार्षिक ब्याज की दर पर अधिकतम 5 वर्षों हेतु उपलब्ध कराया जाएगा। निर्धारित प्रारूप पर कार्यालय से प्राप्त कर आवेदन समस्त सलंग्नको सहित 15 दिसंबर तक निगम मुख्यालय कार्यालय 786, सातवां तल जवाहर भवन, अशोक मार्ग लखनऊ अथवा अधोहस्ताक्षरी के कार्यालय में जमा किया जायेगा।

समस्त पेंशनरो अपना आवेदन पत्र 15 दिसम्बर तक कोषागार कार्यालय में जमा कर दे

बलिया। उत्तर प्रदेश सरकार के समस्त पेंशनरों को सूचित करते हुए वरिष्ठ कोषाधिकारी ममता सिंह ने बताया है कि 28 दिसंबर को पूर्वाह्न 11 बजे मंडलायुक्त आजमगढ़ मंडल, आजमगढ़ की अध्यक्षता में आजमगढ़ स्थित कमिश्नरी सभागार में पेंशन अदालत का आयोजन किया गया है। जिसमें सभी राजकीय कार्यालयों के सेवानिवृत्ति पेंशनरों/राजकीय पेंशनरों/पारिवारिक पेंशनरों की समस्या से संबंधित वाद/प्रत्यावेदन के निस्तारण पर विचार किया जाएगा। उक्त समस्त पेंशनर निर्धारित प्रारूप पर अपना प्रत्यावेदन/ वाद पत्र तीन प्रतियों में वरिष्ठ कोषाधिकारी कार्यालय में 15 दिसंबर तक अवश्य जमा कर दें। इसके पश्चात् प्राप्त आवेदन पत्रों पर विचार नहीं किया जायेगा।

101 बर कन्याओ का बैदिक मन्त्रोच्चारण के साथ हुआ विवाह

(बलिया) सहतवार के प्रत्येक वर्ष की भाँति इस वर्ष भी चैनरामबाबा के समाधि स्थल पर युवा शक्ति संस्थान के संस्थापक दिनेश प्रताप सिह द्वारा 101 बर कन्याओ का वेद का प्राकाण्ड विद्वान दयाशंकरपाठक के नेतृत्व मे हिन्दू रिति रिवाज से प्रकांड ब्राह्मणो द्वारा बैदिक मन्त्रोच्चारण के साथ शादी कराया गया। शादी सम्पन्न होने के बाद सभी जोड़े वहाँ उपस्थित विशिष्ट जनो से आशिर्वाद लेकर हँसी खुशी के साथ अपने अपने घर गये।

     शादी मे आये 101 सौभाग्यशाली कन्याओ वर पक्षो व उनके साथ आये परिजनो को किसी प्रकार की परेशानी न हो इसके लिए पिछले चार दिनो से तैयारी चल रही थी। सभी कन्याओ के लिए 101 मण्डप बनाये गये थे। वही सभी लोगो को शादी व मन्त्रोच्चारण मे 101 प्रकांड ब्राह्मण सहयोग कर रहे थे। संस्थान के संस्थापक दिनेशसिह ने सभी कन्याओ को मंगटीका,बाली,पायल,नथुनी,अंगूठी आदि गहनो से कन्यादान कर पलंग,तोषक,बक्सा,साड़ी आदि अन्य समानो के साथ विदायी की।

शादी समारोह के मांगलिक कार्यक्रम मे बर कन्यओ के परिजनो के साथ साथ नगरपंचायत सहतवार,डुमरिया,बिसौली,विनहाँ, बाँसडीह,बलिया आदि अन्य जगहो से जुटे हजारो लोगो ने भाग लिया।शादी मे जुटे लोगो को कही किसी प्रकार की कोई परेशानी न हो,इसके लिए सेवा संस्थान के 1100 वैलेंटियर सभी मुख्य जगहो पर मुस्तैद थे। इसके लिए जगह जगह पर विशेष बैरिकेटिंग की गयी थी। भीड़ को देखते हुए कार्यक्रम को देखने के लिए कई जगहो पर एलसीडी टीवी की व्यवस्था की गयी थी,ताकि जो लोग जहाँ है वहाँ से  आराम से शादी के कार्यक्रम को देख सके। शादी मे जुटे लोगो के लिए जगह जगह पीने के पानी व स्वचालित शौचालय की व्यवस्था हर जगहो पर मौजूद थी। पूरे कार्यक्रम पर नजग रखने के लिए ड्रोन कैमरे की व्यवस्था की गयी थी। शादी कार्यक्रम मे कही कोई गड़बड़  न हो इसके लिए जगह जगह पुलिस प्रशासन के लोग लगातार चक्रमण कर रहे थे।

इस अवसर पर श्रीकृष्णसिह”बेरुआर”, नीरजसिह “गुड्डू”, हकड़ूसिह,अशोकसिह, शम्भूशरण बेहाल, आदि अन्य सम्भ्रान्त उपस्थित लोगो ने बर बधु दोनो को सुखमय जीवन व्यतीत करने का आशिर्वाद दिया।

बौरिया थाने पर आयोजित हुआ समाधान दिवस

(बलिया) जिलाधिकारी श्रीहरि प्रताप शाही व एसपी देवेंद्र नाथ ने शनिवार को बैरिया थाने पर आयोजित थाना समाधान दिवस में जनता की फरियाद सुनी। समस्याओं के निदान के लिए उन्होंने राजस्व व पुलिस महकमे को जरूरी दिशा-निर्देश दिए।

जिलाधिकारी श्री शाही ने कहा कि राजस्व व पुलिस की संयुक्त टीम मिलकर मामलों का हल निकालें। ध्यान रहे समाधान गुणवत्तापूर्ण होना चाहिए। थाने पर जनसुनवाई के दौरान डीएम-एसपी के सामने चार मामले आए। बैरिया निवासी श्रीभगवान का बंटवारे का मामला हल नहीं होने की शिकायत पर जिलाधिकरी ने संबंधित लेखपाल को पुलिस के साथ मौके पर जाकर समाधान कराने का निर्देश दिया। गोन्हियाछपरा निवासी सुखदेव सिंह ने गांव के सार्वजनिक गड्ढों, तालाबों व ग्राम समाज की जमीन पर अवैध कब्जा हटाने की गुहार लगाई। इस पर जिलाधिकारी ने लेखपाल को निर्देश दिया कि मौके पर जाकर देखें, अगर अतिक्रमण है तो जरूरी कार्रवाई भी सुनिश्चित कराएं।

एनएच-31 व जयप्रभा सेतु का किया निरीक्षण

बलिया: जिलाधिकारी श्रीहरि प्रताप शाही ने शनिवार को पुलिस अधीक्षक देवेंद्र नाथ के साथ एनएच-31 का निरीक्षण किया। बैरिया से मांझी घाट तक उन्होंने इसका जायजा लिया। वहीं बुरी तरह से क्षतिग्रस्त जयप्रभा सेतु को भी देखा। उन्होंने आश्वस्त किया कि जब तक टेंडर प्रक्रिया व अन्य औपचारिकता होगी, उससे पहले सड़क पर पैचिंग कार्य कराकर सुगम यातायात लायक बनाया जाएगा। इसके लिए उन्होंने एनएच के अधिकारियों से बात करने को कहा। जिलाधिकारी श्री शाही ने कहा कि मेरा प्रयास होगा कि तत्काल पुल की मरम्मत व एनएच 31 गड्ढामुक्त हो जाय, ताकि लोगों को राहात मिले।

जिलाधिकारी श्रीहरि प्रताप शाही व पुलिस अधीक्षक देवेंद्र नाथ ने दुबेछपरा, सुघर छपरा, गंगापुर में भ्रमण कर कटान प्रभावित स्थलों को देखा। जिलाधिकारी ने मौके से ही बाढ़ खंड के अधिकारियों से बात की। वहां मौजूद लोगों को आश्वस्त किया कि कटान रोकने के लिए सभी जरूरी उपाय होंगे। विशेष जोर देकर कहा कि अब कटानरोधी हर कार्य 15 जून से पूर्व पूरा कराया जाएगा। कटानरोधी कार्य में समय का विशेष ख्याल रखा जाएगा।

मंत्री ने चौपाल लगाकर सुनी लोगों की समस्या, ईओ को दिया पन्द्रह दिन का अल्टीमेटम

(बलिया) नगर पंचायत चितबड़ागांव मे योगी सरकार के द्वारा चलाये जा रहे ‘सरकार आपके द्वार’ कार्यक्रम के अन्तर्गत पंचायती राज मंत्री उपेन्द्र तिवारी ने चौपाल लगाकर लोगो की समस्याओं को सुना। इस अवसर पर सैकड़ों लोगों ने प्रधानमंत्री आवास योजना में हो रही धाधंली का आरोप लगाया। लोगों का कहना था फोटो खिंचवाने के नाम डूडा के कर्मचारियों के द्वारा पैसा की मांग किया जाता है नही देने पर यह कहकर टाल दिया जाता है कि आपका नाम इस लिस्ट में नही है आने पर फोटो खिचा जायेगा। इस बात पर नाराज मंत्री ने वहा मवजूद नगरीय विकास अभिकरण परियोजना अधिकारी (डूडा) परियोजना अधिकारी महेन्द्र प्रसाद को तत्काल प्रभाव से जांच कराकर दोषियों, कर्मचारियों के विरुद्ध कार्यवाही करने का निर्देश दिया साथ ही पात्रों को खाते मे फोटो खिचकर तत्काल पैसा भेजने का भी निर्देश दिया।

लोगों ने शौचालय निर्माण में नगर पंचायत के उदाशीनता के कारण शौचालय के निर्माण मे नगर पंचायत के द्वारा पहली के रूप मे 4000 हजार रुपये भेजा गया और दौ साल बितने के बाद भी आज तक दुसरा किस्त नही मिला और नगर पंचायत ने आधा अधुरा शौचालय होने के बाद भी ओडियफ घोषित कर दिया गया, जिसपर मंत्री ने प्रभारी अधिशासी अधिकारी को तत्काल लाभार्थियों के खाते में सरकार ने अपनी तरफ से 8000 हजार रुपये देना हैं और 12000 हजार रूपये नगर पंचायत को आप लोग 8000 रुपये देकर अपनी जिम्मेदारी से नही बच सकते। मंत्री ने ईओ लाभार्थियों के खाते में 10000 दस हजार करके दो किस्तों में भुगतान करने के निर्देश के साथ नगर पंचायत मे गंदी सड़कें व नालीयों की सफाई नहीं होने पर भी ईओ को 15 दिनों के अन्दर साफ सफाई कराने का भी निर्देश दिया वहा मवजूद लोगों ने मंत्री को याद दिलाया कि पिछले साल आप के द्वारा चौपाल लगातार कर पेंशन का फार्म जमा कराया गया था लेकिन आजतक विधवा पैशन नही आया। लोगों का कहना था कि बार बार तहसील का चक्कर काटने के बाद भी कुछ नही हुआ। जब जाते तो बताया जा था की आपका कागजात लेखपाल के पास है जिसपर मंत्री ने एसडीएम सदर को लेखपाल के करतुते का संज्ञान लेकर कार्रवाई करने का निर्देश दिया जिसपर कार्रवाई करते हुए एसडीएम ने लेखपाल को इस क्षेत्र से अन्यत्र ट्रांसफर करने का भी निर्देश जारी कर दिया। कहा कि जिनका पेंशन नही आया है उनके खाते में जल्द ही पैशन आना सुरु हो जायेगा। जिसपर लोगों ने संतोष व्यक्त किया।

इस अवसर पर भाजपा नेता अमरजीत सिंह, सुमन सिंह, अवेनन्द्र सिंह, बृजभान सिंह, शशिकला तिवारी, कमलेश सिंह, मोतीचंद गुप्ता, आलोक तिवारी, आनंद सिंह, संदीप तिवारी, सहित तमाम सम्बंधित अधिकारी और सैकड़ों की संख्या में लोगों मौजूद  रहे।

स्वच्छता अभियान के लिए एनसीसी कैडेटो ने निकाली रैली

बलिया  पी डी इण्टर कालेज गायघाट,बलिया के एनसीसी कैडेटों ने स्वच्छता पखवाड़ा के अंतर्गत 93 यूपी एनसीसी बटालियन के कमांडिंग ऑफिसर कर्नल डी एस मालिक के निर्देशन तथा मेजर धनञ्जय सिंह के नेतृव में एक रैली निकाली। माननीय प्रधान मंत्री जी ने जनता से प्लास्टिक के कम से कम इस्तेमाल के लिए निवेदन करते हुए  स्वस्थ और सुरक्षित भारत के संकल्प को दुहराया है।इस संकल्प को सफल बनाने की दिशा में डिफेंस मिनिस्ट्री  नेप्लास्टिक से रक्षा,स्वच्छता ही सुरक्षा के नारे से जनमानस को जागरूक करते हुए आस पास फैले प्लास्टिक को चुन-चुन कर नष्ट करने का अभियान चलाया है। इस अभियान की सफलता तब और बलवती हो जाएगी जब सभी भारत वासी मिलजुल कर  अपना महत्वपूर्ण सहयोग प्रदान करेंगे।

इसलिए अभियान को सफल बनाने के लिए कैडेटों के साथ स्कूली बच्चों और अभिभावकों ने भी स्वच्छता अभियान से जुड़ कर एक जिम्मेदार नागरिक होने का अपना पवन कर्तव्य निभाया है।रैली रेवती-बलिया राजमार्ग पर गायघाट के मल्होरिया बागी से दाता सिंह के कटरा होते हुए मां पचारुखा के प्रांगण तक पड़े प्लास्टिक कचरे को उठा कर उचित स्थान पर नष्ट किया। अन्त में कैडेटों ने एक नुक्कड़ सभा कर प्लास्टिक से होंने वाले खतरों से लोगो को आगाह किया और कम से कम प्लास्टिक और पालीथिन प्रयोग करने का निवेदन किया।इस अवसर पर  सूबेदार लोक बहादुर राना ,ग्राम प्रधान प्रतिनिध गायघाट विजय प्रताप सिंह, राजेश सिंह ,भगत सिंह, जयकृष्ण सिंह,समीर कुमार पांडेय,कैडेट अमन,अमरजीत,अनुज,शशिभूषण,दुर्गेश,शुभांगी,जुली,कंचन,कृति,अनु,आदि कैडेट मैवजूद रहे

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *