वाराणसी : विश्वनाथ कॉरिडोर में शीशा उतारते समय हुई दुर्घटना में एक की मौत, 4 अन्य घायल, बोले जिलाधिकारी – घायलों का होगा समुचित इलाज

ए जावेद/ अनुराग पाण्डेय

वाराणसी। शहर के काशी विश्वनाथ धाम कारीडोर परिसर में चल रहे निर्माण कार्य के दरमियान हुई एक दुर्घटना में एक मजदूर की मौत हो गई और चार अन्य घायल हो गए है। घायलों को इलाज हेतु मंडलीय चिकित्सालय में एडमिट करवाया गया है। घटना की जानकारी होने पर जिलाधिकारी ने अपना बयान जारी कर कहा है कि दुर्घटना में घायल मजदूरों को आर्थिक सहायता के साथ उनके इलाज की समुचित व्यवस्था किया जायेगा।

घटना के सम्बन्ध में मिल रही जानकारी के अनुसार शनिवार रात को कारीडोर के निर्माण कार्य हेतु शीशे की बड़ी बड़ी प्लेटे आई थी। प्लेट को ललिता घाट पर उतारा जा रहा था, उतारने के लिए मैदागिन से मजदूर बुलाये गए थे। इसी दरमियान शीशा गिर जाने से ये हादसा हुआ है। जिलाधिकारी कौशल राज शर्मा ने घटना के सम्बन्ध में बताया कि कासी विश्वनाथ कारिडोर में मालवाहक मिनी ट्रक से शीशा उतारते वक्त असावधानी से शीशा गिर गया, जिसमे मैदागिन से बुलाये गए एक मजदूर की मौत हो गई और चार अन्य घायल हो गए। घायलों की स्थिति सामान्य है। सभी को अस्पताल पहुचाया गया है। उनके इलाज की समुचित व्यवस्था किया जा रहा है।

हुआ कुछ इस तरह कि शीशा उतारने के लिए मजदूरों को मैदागिन से बुलाया गया था। मजदूरों में चंदौली के बबुरी थाना निवासी सिंटू 25 वर्ष और मुगलसराय कोतवाली के जलीलपुर निवासी विनोद 25 वर्ष जैसे ही मालवाहक वाहन से माल उतारने के लिए आगे बढ़े और विशालयकाय शीशा को पकड़ा तभी अन्य साथियों का हाथ छूट गया। इतने में ही शीशा सिंटू के ऊपर ही गिर गया। उसे बचाने के लिए आया विनोद भी जख्मी हो गया। सिंटू को मंडलीय अस्पताल ले जाया गया, जहां चिकित्सकों ने मृत घोषित कर दिया। वहीं हादसे में बचाव कार्य में जुटे पड़ाव के रहने वाले साहिल को हाथ में खरोंच आई है।

पहले भी हुवे है हादसे

ये पहली बार कोई दुर्घटना नही घटित हुई है। अभी कुछ महीनो पहले दो मजदूर की भी एक हादसे में मौत हो गई थी। वो मजदूर काशी विश्वनाथ कोरिडोर के निर्माण कार्य में ही लगे हुवे थे और पास में ही दो मंजिला मकान में रह रहे थे। उस घटना में उक्त इमारत ही ढह गई थी और दो मजदूरों को अपनी जान गवाना पड़ा था। इस दुर्घटना में 7 घायल भी हुवे थे। इसके बाद जून माह में नीलकंठ स्थित एक मकान ढह गया था। उस हादसे में एक मजदूर ने अपनी जान से हाथ धोया था।



Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *