खबर का असर – नगर निगम ने जारी किया दालमंडी के कुण्डीगर टोला स्थित जर्जर मकान को गिराने का नोटिस

तारिक आज़मी

वाराणसी। जिलाधिकारी वाराणसी के आदेश का अनुपालन करते हुवे नगर निगम वाराणसी ने जर्जर भवनों को गिराने का नोटिस जारी करना शुरू कर दिया है। इस कड़ी में वाराणसी के दालमंडी स्थित कुण्डीगर टोला के भवन संख्या सीके 39/5 के मकान मालिक शाहनवाज़ खान उर्फ़ शानू को भी इस जर्जर भवन गिराने का नोटिस तामिल हुआ है। इस नोटिस के बाद दालमंडी के जुगाडी लोगो के बीच खलबली मची हुई है।

विगत दिनों हुई बारिश के बाद निर्माणाधीन काशी विश्वनाथ कारीडोर स्थित एक जर्जर भवन गिरने की हुई दुर्घटना के बाद वाराणसी के जिलाधिकारी कौशल राज शर्मा ने क्रांतिकारी फैसला लेते हुवे शहर बनारस के जर्जर हो चुके भवनों को गिराने के लिए नगर निगम को निर्देश जारी किये थे। अगर ध्यान दे तो नगर में कई ऐसे जर्जर भवन है जो किसी भी समय बड़ी घटना दुर्घटना का कारण बन सकते है। कई भवन इस स्थिति में है कि वह केवल अपने अन्दर रहने वालो के लिए ही नही बल्कि आम नागरिको के लिए खतरा बन सकते है। अगर और भी अन्दर की बात देखे तो अधिकतर ये भवन किराय्दारी अथवा अन्य संपत्ति विवाद का केंद्र है,

वाराणसी- किसी बड़े हादसे को दावत देता ये जर्जर मकान

इन भवनों को लेकर जिला प्रशासन अक्सर ही विचार करता रहा है। मगर सख्त फैसला लेने का जो माद्दा जिलाधिकारी वाराणसी ने दिखाया वह वाकई काबिल-ए-तारीफ है। जिलाधिकारी के आदेश होने के बाद वाराणसी नगर निगम इस क्रम में जर्जर भवनों की लिस्ट बनाने में लग गई थी। इसी दरमियान नगर निगम वाराणसी का ध्यानाकर्षण हमारी खबर ने वाराणसी के प्रमुख वाणिज्यिक क्षेत्र दालमंडी में स्थित कुण्डीगर टोला के भवन संख्या सीके 39/5 की जर्जर स्थित पर करवाया। यह भवन सकरी गली में स्थित होने के कारण कभी भी किसी बड़ी घटना दुर्घटना का कारण बन सकता है।

भवन स्वामी शाहनवाज़ खान उर्फ़ शानू द्वारा भवन का निर्माण न तो करवाया जा रहा है और न ही इसको तुडवाया जा रहा है। इस भवन को लेकर स्थानीय पार्षद से लेकर कई संभ्रांत नागरिको और क्षेत्र के व्यापार मंडल ने भी बड़ी घटना का कारण इस भवन के बनने की शंका जताई थी। ख़त-ओ-कीताबत फाइल में काफी समय से धुल फांक रही थी। हमारे खबर का संज्ञान लेते हुवे फ़ाइल पर से धुल हटी और स्थानीय जेई से लेकर अधिकारियो ने भवन का निरिक्षण किया। भवन के फर्श पर पानी जमा हुआ है। आस पास की ज़मीन बड़ी साइज़ के चूहों ने खोखला कर रखा है।

आखरी नगर निगम ने सख्त रुख अख्तियार करते हुवे भवन स्वामी को नोटिश जारी करते हुवे भवन को तोडवाने का निर्देश जारी किया है। नोटिस भवन स्वामी शाहनवाज़ उर्फ़ शानू को तामील भी करवाया जा चूका है। भवन पर ध्वस्तीकरण की कार्यवाही हेतु नगर निगम ने सख्त तेवर भवन स्वामी को दिखाया है। अब देखना होगा कि भवन स्वामी शाहनवाज़ उर्फ़ शानू भवन खुद से तोड़ते है अथवा नगर निगम इस जर्जर भवन तोड़ने के लिए खुद आता है। शायद इस इलाके में पिक्चर अभी पूरी बाकी है।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *