अरे गज़ब, ऐसा तो सिर्फ क्राइम पेट्रोल में होता है: कानपुर में 17 माह पहले जिस महिला की हत्या में पति था जेल में, वह मायके में अपने प्रेमी के साथ थी जिंदा, ऐसे खुला राज़

आदिल अहमद

कानपुर: टीवी शो और फिल्मो में आपको कई बार ऐसी कहानियाँ देखने को मिल जायेगी जिसमे किसी की हत्या के बाद भी वह जिंदा रहता है और आखिर पुलिस उसको बरामद कर लेती है जिसकी जिसकी हत्या होती है। फिर पुलिस उस लाश की शिनाख्त नए सिरे से करती है कि वह मृतक कौन था। मगर कानपुर में ऐसा ही फ़िल्मी स्टाइल का मामला सामने आया जिसमे 17 महीने पहले एक युवती की हत्या हो गई थी और पति इस हत्या के मामले में जेल चला गया। अब 17 महीने बाद पुलिस ने उस महिला को हिरासत में ले लिया है जिसकी हत्या की बात हुई थी।

मामला कुछ इस तरह है कि बादशाहीनाका निवासी मोहम्मद गुलाब की शादी सीमा नाम की युवती से हुई थी। सीमा को लोग मन्नी कहकर पुकारते थे। मन्नी अचानक मार्च 2021 में लापता हो गई। जिस पर गुलाब ने बादशाहीनाका थाने में गुमशुदगी दर्ज कराई थी। जिसके बाद मार्च महीने में ही सनिगवां में एक महिला की हत्या कर फेका गया शव बरामद हुआ था। शव कथरी में लपेटकर फेंका गया था। वक्त गुज़रता रहा और आया फिर अक्तूबर का महिना जब पुलिस अज्ञात शव की तलाश में जुटी रही। लगभग 8 माह बाद सीमा का पिता हनीफ जो उन्नाव के गंजमुरादाबाद का रहने वाला है चकेरी थाने आता है और मृतक के कपड़ो से पहचान करता है कि यह लाश उसकी बेटी सीमा उर्फ़ मन्नी की है। जिसके बाद पुलिस इस गुमशुदगी को हत्या के केस में दर्ज कर लेती है।

सीमा के पिता मोहम्मद हनीफ के तहरीर पर सीमा के ससुरालीजनों और उसके पति के खिलाफ हत्या का मुकदमा दर्ज कराया। यहाँ एक और बारीक चाल थी कि हनीफ ने फोटो भी पहचानी थी कि ये मेरी बेटी सीमा की लाश है। इसके बाद पुलिस ने डीएनए जांच के लिए सैंपल भेजे थे। जिसकी रिपोर्ट का इंतज़ार पुलिस कर रही है। पुलिस ने सीमा के पति को हिरासत में लिया था। जानकारी के अनुसार वह ज़मानत पर जेल से बाहर आया है। जिसके बाद मोहम्मद गुलाब तीन दिन पहले रिश्तेदारों के माध्यम से इसके पत्नी सीमा का मायके में मौजूद होने का समाचार मिला। साथ ही यह भी जानकारी हासिल हुई कि वह अपने प्रेमी के साथ गुजरात में रह रही थी। कुछ दिन पहले उन्नाव आई है।

गुलाब ने इसकी जानकारी पुलिस को दी। जिसके बाद अचम्भे में उन्नाव पुलिस भी आ गई और उसने तुरंत सीमा को उसके घर से हिरासत में लेकर चकेरी पुलिस के सुपुर्द किया। पुलिस उससे पूछताछ की कर रही है। वहीं फोरेंसिक टीम एक बार फिर अक्तूबर में मिली लाश की जांच नए सिरे से शुरू करने जा रही है। वह अब यह पता करना चाहती है कि आखिर मिली हुई लाश किसकी है। साथ ही पुलिस ये जानना चाहती है कि कही सीमा ने ही तो पूरा खेल नही किया है।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.