राजस्थान: नागौर में अदालत परिसर के बाहर तड़तडाई गोलियां, हरियाणा के कुख्यात अपराधी संदीप विश्नोई की पेशी के दरमियान हत्या, जाने कौन था संदीप विश्नोई और देखे मौके की तस्वीरे

तारिक़ आज़मी (इनपुट: अब्दुल रज्जाक)

डेस्क: राजस्थान के नागौर में आज सोमवार दोपहर पेशी पेशी पर आया हरियाणा का कुख्यात अपराधी संदीप विश्नोई गैंगवार में मारा गया। मिल रहे समाचारों के अनुसार संदीप को कुल 9 गोलियां लगी है। शार्प शूटर को अदालत परिसर के बाहर गोलियों से छलनी कर दिया गया है। हत्या किस गैंग ने किया है और इस हत्याकांड में शूटर कौन कौन थे अभी पुलिस इसकी शिनाख्त नही कर पाई है। मौके से पुलिस को गोलियों के कई खोखे बरामद हुवे है। दिनदहाड़े हुवे इस हत्याकांड से पुरे शहर में दहशत का माहोल हो गया। मौके पर अफरातफरी मच गई थी। जिसको जहा जगह दिखाई दी वह वही छिप गया। गोलियों की तड़तडाहट से पूरा कचहरी परिसर गूंज उठा था।

बीच सड़क एक कुख्यात गैंगस्टर की हत्या पुलिस सुरक्षा में हो गई। शूटर्स संदीप विश्नोई को गोलियों से भूनकर मौके से फरार हो गए। पुलिस जब तक पहुंचती, तब तक सड़क पर सिर्फ गोलियों के कुछ खोल और खून के धब्बे ही मौजूद थे। एसपी नागौर समेत अन्य पुलिस अफसर मौके पर पहुंचे, जिसकी हत्या की गई है उसका नाम संदीप विश्नोई बताया जा रहा है। फिलहाल, पूरे जिले में ए श्रेणी की नाकाबंदी की गई है। शहर से बाहर जाने वाले सभी रास्तों पर भारी पुलिस बंदोबस्त किया गया है।

घटना के सम्बन्ध में मिल रही जानकारी के अनुसार नागौर पुलिस आज दोपहर में गैंगस्टर संदीप विश्नोई को पेश करने के लिए ले गई थी। इसी दौरान ब्लैक स्कार्पियो में आये शूटर्स ने गैंगस्टर संदीप को गोलियों से भून दिया। आनन फानन में पुलिस ने गैंगेस्टर संदीप को नजदीकी अस्पताल पहुचाया जहा डाक्टरों ने उसको मृत घोषित कर दिया। संदीप के शव को अस्पताल में रखवाया गया है। संदीप सुपारी किलर था और हरियाणा में किलिंग मशीन नाम से कुख्यात था। संदीप का सम्बन्ध सेठी गिरोह से होना माना जाता है। पुलिस अधिकारियों के अनुसार, शराब तस्करी के साथ वह सुपारी किलिंग भी करता था। उसने नागौर में भी एक व्यापारी की हत्या किया था। पुलिस इसे गैंगवार मान रही है।

30 लाख में सुपारी लेकर किया था हत्या

तीन साल पहले नागौर में 29 नवंबर 2019 को हुए व्यापारी हत्याकांड में पहली बार संदीप विश्नोई का नाम राजस्थान में सामने आया था। पूछताछ में सामने आया था, एक महिला ने पति की हत्या का बदला लेने के लिए मर्डर की साजिश रची थी। हत्या के लिए महिला ने हरियाणा के गैंगस्टर संदीप विश्नोई को 30 लाख की सुपारी दी थी। इसी मामले में गैंगस्टर संदीप नागौर जेल में बंद था।

कुख्यात राजू फौजी का करीबी दोस्त था संदीप

भीलवाड़ा में दो कांस्टेबल की हत्या करने वाला तस्कर राजू फौजी और गैंगस्टर संदीप विश्नोई खास दोस्त थे। पुलिसकर्मियों की हत्या के लिए संदीप ने ही राजू फौजी को हथियार दिए थे। यह बात संदीप ने पुलिस पूछताछ में बताया था। अपनी गैंग को ऑपरेट करने के लिए उत्तर प्रदेश के एक सप्लायर से उसने हथियार खरीदे थे।

साथ में काटी थी फरारी

साल 2016 में विश्नोई ने फौजी के पास बाड़मेर में फरारी काटी थी। इसी के बाद फौजी और संदीप के बीच अच्छी दोस्ती हो गई। पुलिस पूछताछ में सामने आया था कि गैंगस्टर संदीप ने राजू फौजी को रिवाल्वर, पिस्टल सहित कई हथियार दिए थे। संदीप ने बताया था, इसके लिए उसने फौजी से कोई रुपये नहीं लिए थे। कांस्टेबल की हत्या के बाद फौजी उसके पास हरियाणा में रुका था।

जिला पुलिस अधीक्षक का आवास इस न्यायालय परिसर से महज 50 मीटर और कलेक्टर, एसपी का कार्यालय महज 100 मीटर दूर हुए इस हत्याकांड ने सुरक्षा की कलई खोल दिया है। पुलिस मान रही है कि शूटर्स हरियाणा के थे। मगर पुलिस के पास इस दलील के लिए कोई पुख्ता वजह होने की जानकारी सामने नहीं आ रही है। फिलहाल पुलिस मामले में जाँच पड़ताल कर रही है। शहर से बाहर जाने वाला हर रास्ता पुलिस की निगाहों में है। मगर समाचार लिखे जाने तक पुलिस के हाथ सिर्फ कुछ गोलियों के खोखे ही है। फिलहाल पुलिस सीसीटीवी कैमरों का फालोअप चेकिंग अभियान चला कर शूटर्स के आने और जाने के मार्ग को चिन्हित करने का काम कर रही है। शहर में इस हत्याकांड से दहशत का माहोल है।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.