दीपावली पर ऐसे करे श्रीयंत्र की पूजा पुरे वर्ष रहेगी माता लक्ष्मी की आपके और आपके परिवार पर कृपा

शाहीन बनारसी

दीपावली आने वाली है। तैयारियों का सिलसिला जारी है। इस दिन भगवान गणेश और मां लक्ष्मी की विधि-विधान से पूजा की जाती है। खास तौर से घर में सुख-समृद्धि और आर्थिक कष्टों के निवारण के लिए भक्त लक्ष्मी मां से आशीर्वाद मांगते हैं और उनकी कृपा पाने की मनोकामना करते हैं। ऐसी मान्यता है कि माँ लक्ष्मी की कृपा से धन  दौलत की वर्षा परिवार पर होने लगती है।

इस सम्बन्ध में पंडित बापू नंदन मिश्रा ने हमसे बात करते हुवे विस्तार से बताया कि बहुत से भक्त दीवाली पर महालक्ष्मी यंत्र जिसे श्रीयंत्र कहा जाता है की पूजा करते हैं। मान्यतानुसार इस श्रीयंत्र को घर में स्थापित करना और लक्ष्मी पूजा के साथ ही श्रीयंत्र की पूजा करना शुभ होता है। पूजा से पहले घर में दीवाली के समय श्रीयंत्र की स्थापना की जाती है। दीवाली के दौरान धनतेरस पर आप श्रीयंत्र खरीद सकते हैं। इसे आप अपनी पंसद और क्षमता के अनुसार किसी भी धातू का ले सकते हैं।

उन्होंने बताया कि यह यंत्र सोने, चांदी, तांबे, पीतल या स्टील और एलुमिनियम का भी हो सकता है। इस यंत्र की बनावट आमतौर पर चौकोर होती है जिसमें 9 बड़े त्रिभुज और 43 छोटे त्रिभुज बने होते हैं। पूजा करने के लिए सबसे पहले सुबह उठकर  स्नान किया जाता है और जिस जगह पर श्रीयंत्र रखा है उस स्थान की भी अच्छे से सफाई की जाती है। इसके बाद लक्ष्मी पूजन करें और फिर श्रीयंत्र की पूजा करें। यहाँ इस बात का ध्यान रखना ज़रूरी होता है कि लक्ष्मी मां की प्रतिमा के साथ श्रीयंत्र स्थापित ना करें। आसपास थोड़ी दूरी पर इसे रखा जा सकता है।

पंडित बापू नंदन मिश्रा ने कहा कि विशेष ध्यान रखे कि श्रीयंत्र को लाल रंग के कपड़े के ही ऊपर ही रखे। इसके बाद मान्यतानुसार इस पर पंचामृत चढ़ाये और गंगाजल छिडके। भक्त इसके पश्चात ‘ओम श्री’ मंत्र का जाप करते हैं। वहीं, 108 मनकों वाली माला का जप भी किया जाता है। इस माला का जप एक बार या फिर 21 बार भी किया जा सकता है। श्रीयंत्र पर लाल फूल, रोली व अक्षत अर्पित किया जाता है और मिठाई का भोग लगाकर पूजा पूरी की जाती है।

(डिस्क्लेमर: यहां दी गई जानकारी सामान्य मान्यताओं और जानकारियों पर आधारित है। PNN24 न्यूज़ इसकी पुष्टि नहीं करता है।)

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.