80 वर्ष की शीला दीक्षित के अनुभवी हाथो में आई दिल्ली कांग्रेस की कमान

आफताब फारुकी

नई दिल्ली: अगर कहा जाए कि दिल्ली के विकास की इबरत सबसे पहले शीला दीक्षित ने लिखा था तो वास्तव में कोई अतिश्योक्ति नही होगी। 80 साल की इस जुझारू महिला जो पूर्व में तीन बार दिल्ली की मुख्यमंत्री शीला दीक्षित रह चुकी है को कांग्रेस ने एक बार फिर से सक्रिय राजनीती में वापसी करवाते हुवे उन्हें दिल्ली प्रदेश अध्यक्ष का पद दिया है। यही नही उनका साथ देने के लिये देवेंद्र यादव, राजेश लिलोथिया और हारून यूसुफ को कार्यकारी अध्यक्ष बनाया गया है

बताते चले कि तीन बार लगातार दिल्ली की मुख्यमंत्री रह चुकी शीला दीक्षित को यह पद अजय माकन के स्थान पर दिया गया है। अजय माकन ने 4 जनवरी को अपने इस पद से इस्तीफा दे दिया था। शीला दीक्षित के दिल्ली कांग्रेस अध्यक्ष बनने पर अजय माकन ने उन्हें बधाई दी। अजय माकन ने ट्वीट किया, ‘शीला दीक्षित जी को पुन: प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष बनने पर बधाई व शुभकामनाएं! उनके आधीन, मुझे संसदीय सचिव एवं कैबिनेट मंत्री के रूप में काम करके सीखने का सुअवसर मिला! मुझे विश्वास है कि शीला जी की अगुआई में हम, मोदी+केजरीवाल सरकारों के विरोध में एक सशक्त विपक्ष की भूमिका निभाएंगे!’

शीला दीक्षित ने पत्रकारों द्वारा पूछे गये उम्र के सवाल का जवाब देते हुवे कहा कि देखते जाइए मेरी उम्र क्या मेरे काम में आड़े आती है।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *