बलिया की प्रमुख खबरों पर एक नज़र अरविंद यादव के संग

दादरी मेले का होगा 17-26 नवम्बर तक आयोजन

(बलिया) जिला विधिक सेवा प्राधिकरण दीवानी न्यायालय सचिव रिचा वर्मा ने बताया है कि ऐतिहासिक ददरी मेले का आयोजन जनपद में किया जा रहा है। इस ददरी मेले में 17 से 26 नवम्बर तक विधिक साक्षरता/जागरूकता शिविर का आयोजन किया जा रहा है। शिविर का उद्घाटन माननीय जनपद न्यायाधीश द्वारा 17 नवम्बर को दोपहर 01:30 बजे किया जाएगा।

जिसमें न्यायालय के समस्त न्यायिक अधिकारीगण एवं राजस्व विभाग के अधिकारीगण भाग लेंगे। आम जनता को नि:शुल्क विधिक सहायता देने हेतु पूर्णकालिक सचिव न्यायधीश, जिला विधिक सेवा प्राधिकरण दीवानी न्यायालय प्रतिदिन उपस्थित रहेंगी।

अस्थाई गोवंश आश्रय स्थल में पशुओ की हो समुचित समय पर चिकित्सा – डीएम

(बलिया) जिलाधिकारी हरि प्रताप शाही ने निर्देश दिये कि समस्त अस्थायी गोवंश आश्रय स्थल में अपने वाले नवीन गोवंश का तत्समय चिकित्सीय परीक्षण कर मेडिकल रिपोर्ट तैयार कर पत्रावली में संरक्षित करें, ताकि मृत्यु दर को प्रत्येक दशा में रोका जा सके। पूर्व से संरक्षित गोवंश की नियमित जांच कर बीमारी पशुओं की समुचित चिकित्सा की जाए। नर पशुओं का शत-प्रतिशत बधियाकरण कार्य पूर्ण कर लिया जाए। संरक्षित गोवंश का शत-प्रतिशत ईयर टैंगिग कार्य पूर्ण कर अभिलेख रखा जाए।

संबंधित खंड विकास अधिकारी/अधिशासी अधिकारी नगर पालिका परिषद/नगर पंचायत से   समन्वय स्थापित कर पशु संख्या के सापेक्ष पर्याप्त शेड की व्यवस्था करायी जाय। गोवंश को ठंड से बचाव हेतु संबंधित अधिकारियों के समन्वय से शेड को तिरपाल/बोरे/कंबल आदि से उचित रूप से घेरा जाए। अधिक ठंड के समय अलाव की पूरी व्यवस्था सुनिश्चित करा ली जाय, ताकि ठंड से किसी गोवंश की मृत्यु न होने पाये। गोवंश सुपुर्दगी की लक्ष्यपूर्ति कम समय में प्राप्त कर ली जाय। ग्रामीण एवं शहरी क्षेत्रों में निराश्रित गोवंश जो छुट्टा सड़कों पर घूम रहे हैं संबंधित अधिकारियों के समन्वय से गौशालाओं में संरक्षित कराने का प्रयास किया जाए। हरे चारे की उपलब्धता हेतु आवश्यक भूमि की उपलब्धता होने पर चारा बीज की उपलब्धता सुनिश्चित की जाए एवं विभागीय योजनाओं में उपलब्ध मिनरल मिक्सचर निराश्रित गोवंश को उपलब्ध कराया जाय जिससे ठंड के समय पशुओं की प्रतिरोधक क्षमता बनी रहे।

डीएम और एसपी ने किया थाने का निरक्षण

(बलिया)। जिलाधिकारी हरि प्रताप शाही ने शनिवार को पुलिस अधीक्षक देवेंद्र नाथ के साथ चितबड़ागांव थाने पर थाना समाधान दिवस में आए फरियादियों की समस्याएं सुनी। इस मौके पर कुल 6 शिकायतें आयीं, जिनमें दो का मौके पर निस्तारण कर दिया गया। बाकी चार मामलों के सम्बंध में डीएम श्री शाही ने निर्देश दिया कि पुलिस और राजस्व विभाग की संयुक्त टीम मौका मुआयना कर मामले को निस्तारित कर दें। इस बात का विशेष ख्याल रहे कि निस्तारण समयान्तर्गत हो और उसकी गुणवत्ता ऐसी हो कि शिकायतकर्ता पूरी तरह सन्तुष्ट हो जाए। उन्होंने जोर देकर कहा कि किसी भी प्रकार के विवाद में सही-सही रिपोर्ट लगाई जाए।

रैंडम आधार पर इसकी चेकिंग होगी और अगर किसी भी लेखपाल-कानूनगो या पुलिस विभाग की कोई रिपोर्ट गलत मिली तो कड़ी कार्रवाई भी होगी। उन्होंने कहा कि थाना क्षेत्र के भूमि विवाद या छोटे-मोटे मामलों का निपटारा थाने स्तर पर ही कर दिया जाए, ताकि लोगों को तहसील या जिला मुख्यालय पर दौड़ भाग करने से निजात मिल सके। एसपी देवेंद्र नाथ ने कहा कि थाने पर आने वाले फरियादियों को शालीनता से सुनें और उन्हें न्याय दिलाएं। किसी भी शिकायत का निस्तारण समयान्तर्गत कर लिया जाए। इस दौरान सीओ सदर, एसओ चितबड़ागांव व थाना क्षेत्र के सम्बन्धित लेखपाल उपस्थित रहे ।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *