पृथ्वी को अधर्म और पाप से मुक्त करने के लिए अवतरित होते हैं भगवान

बापू नंदन मिश्र

रतनपुरा (मऊ)। विकासखंड रतनपुरा के ग्राम पंचायत खालिसपुर में श्रीमद् भागवत कथा का भव्य आयोजन चल रहा है जिसे सुनने के लिए सैकड़ो कथा प्रेमियों का दूर दूर से आगमन हो रहा है। कथावाचक व्यास पंडित राधाबल्लभ हितांशु जी संगीत मय कथा का रसपान करा कर भक्ति की छठा बिखेर रहे है। उन्होंने कहा  कि  राम और कृष्ण का अवतार तभी हुए जब उनके भक्तों पर अत्याचार बढ़ा,धर्म को क्षति पहुंचाई गई।भगवान का अवतार ही दुष्टों का सर्वनाश और धर्म प्रेमियों का उद्धार करने के लिए होता है।

भगवान गाय, ब्राह्मण,स्त्री और भक्तों की रक्षा के लिए सदैव तत्पर रहते है।इसी लिए ईश्वर पूर्व में कभी राम तो कभी कृष्ण,कभी नरसिंह,कभी वामन आदि अनेक रूपों में अवतरित होकर धरती का भार कम किए अर्थात दुष्टों का सर्वनाश कर धर्म को स्थापित किया।

जब जब होई धरम की हानि, बाढही असुर अधम अभिमानी

महाराज जी ने कहा कि हम सबको  सद्भाव रखना चाहिए ,सेवा करनी चाहिए, धर्म का सम्मान करना चाहिए। गौ माता की रक्षा धर्म की रक्षा है। इसके लिए हमें तत्पर रहने की आवश्यकता है।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *