रामपुर – डिस्टलरी के अल्कोहल टैंक में लगी आग से कई मजदूर झुलसे, एक की हालत गंभीर

हर्मेश भाटिया

रामपुर। उत्तर प्रदेश के लिये आज शनिवार हादसों का शनिवार रहा है। जहा आज शनिवार के अंतिम समय में रात 9 बजे एक कोल्ड स्टोरेज में गैस चेंबर फटने से 2 मजदूरों की मौत हो गई वही आज सुबह की शुरुआत भी बड़े हादसे के साथ हुई जिसमे रामपुर डिस्टलरी के अल्कोहल टैंक में भीषण आग लग लगने की वजह से टैंक की छत फट गई और एक दीवार गिर गई। इस दुर्घटना में एक मजदूर गंभीर रूप से झुलस गया और दीवार गिरने से नौ मजदूर घायल गए। गंभीर रूप से झुलसे मजदूर को मुरादाबाद के टीएमयू में भर्ती कराया गया है। घायल मजदूरों को प्राथमिक उपचार के बाद छुट्टी दे दी गई।

आग लगने के कारणों का भी तक पता नही चल पाया है। समाचार लिखे जाने तक आग पर नियंत्रण पाने का प्रयास जारी था। इस भीषण आग पर काबू पाने के लिए 6 दमकल की गाड़ियां सुबह से ही लगी हुई है। आग पर नियंत्रण का प्रयास देर शाम समाचार लिखे जाने तक जारी था। बताते चले कि रामपुर के पनवड़ीया स्थित डिस्टलरी में शराब बनाई जारी है। जिसमे उपयोग होने वाले अल्कोहल का फक्ट्री में बड़ा स्टॉक रहता है। आज शनिवार की सुबह इस अल्कोहल टैंक में अज्ञात कारणों से रिसाव होने लगा और टैंक में आग लग गई।

आग इतनी भयावाह थी कि इसकी लपटें काफी ऊँची उठनी शुरू हो गई। आग की जानकारी फैक्टरी कर्मचारियों द्वारा अधिकारियो को दिया गया। सूचना मिलते ही कंपनी के अधिकारी मौके पर पहुंचे। इसी दौरान आग से एक टैंक फट गया। इसके बाद कंपनी के अधिकारियों ने अग्निशमन विभाग को हादसे की सूचना दी। जिसके बाद दमकल विभाग की चार गाड़ियां मौके पर पहुंचीं। दमकल की गाडियों के आने के बाद आग बुझाने का काम शुरू हुआ। विभाग के करीब 30 कर्मचारी आग बुझाने के कार्य में जुट गए। लेकिन दोपहर तक आग नहीं बुझा सके।

आग की भयावहता को देखते हुवे जब नियंत्रण नही पाया जा सका तो बरेली और मुरादाबाद से भी दमकल विभाग की दो गाड़ियां आ गईं, जो देर शाम समाचार लिखे जाने तक तक आग बुझाने में जुटी रहीं। इस दौरान फैक्टरी के दस मजदूर आग की चपेट में आ गए। आनन फानन सभी को रामपुर के निजी अस्पताल ले जाया गया, जहां दिनेश की हालत गंभीर होने पर उसे हायर सेंटर के लिए रेफर कर दिया गया। वह करीब 70 फीसदी झुलस चुका है। फैक्टरी महाप्रबंधक इंद्रपाल सिंह के मुताबिक टैंक में लगभग डेढ़ लाख लीटर अल्कोहल का स्टाक था। उन्होंने कहा कि आग लगने का कारण अभी स्पष्ट नही है। मामले में जाँच करवाई जाएगी कि आखिर आग कैसे लगे। वही क्षेत्रीय चर्चाओं के अनुसार अल्कोहल टैंक में पहले भी ऐसी आग लगने की घटना हो चुकी है जिसमे कई मजदूर झुलस चुके है। मगर इसके कारणों की जाँच आज तक नही हो पाई है।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *