परिजनों का आरोप, मामा ने करवाया है अपने सगे भांजे अकरम का क़त्ल, अगर समय रहते चेत जाती पुलिस तो शायद बच सकती थी अकरम की जान

अजीत कुमार

प्रयागराज। जनपद के झूंसी इलाके के कनिहार गांव में रहने वाले यूथ कांग्रेस नेता मो० अकरम को मंगलवार की रात घर के पास घेरकर अपराधियों ने पांच गोलियां मारी। अकरम को तीन गोली सर और दो गोली छाती में उतारने के बाद बेखौफ अपराधी बड़े आराम से चलते बने।  अकरम हत्याकाण्ड प्रकरण में मृतक के परिजनों ने अकरम के सगे मामा रईस उर्फ़ पिंटू, ममेरे भाई अयान और करिया बिन्द को नामज़द करते हुवे चार अज्ञात के खिलाफ रिपोर्ट दर्ज करवाया है।

इस हत्याकाण्ड में रिश्तो के क़त्ल को देखा जा रहा है। आपने कंस के बारे में सुना होगा जो मामा होते हुवे भी अपने भांजे और भांजियो की हत्या कर दे रहा था। वैसे ही इस कलयुगी कंस मामा रईस उर्फ़ पिंटू ने अपने सगे भांजे की हत्या करवाने का आरोप मृतक के परिजनों ने लगाया है। मृतक मो० अकरम पेशे से जमीन खरीदने बेचने का कारोबार अपने सगे मामा रईस उर्फ़ पिंटू के साथ मिलकर वर्षो से कर रहा था। लेकिन इस बीच कुछ माह पूर्व अकरम के मामा से किसी जमीन के मामले में विवाद हो गया। जिससे दोनों के बीच दूरियां भी बढ़ गई थी।

मृतक के परिजनों की माने तो इस कारोबारी दिवार में इस कदर दरार बढ़ी की अकरम के ऊपर अपने सगे मामा और कुछ अपराधियो के द्वारा कई बार जानलेवा हमला किया गया। जिसकी शिकायत करते हुए अकरम ने नज़दीकी थाना झूंसी में तहरीर देकर नामजद मुकदमा भी पंजीकृत करवाया था। लेकिन पुलिस ने किसी को ना ही गिरफ्तार किया और ना इस प्रकरण पर कोई कार्यवाही की।

अपनी हत्या की आशंका को भांपते हुए अकरम लगतार सोशल साइट्स पर अपराधियों की गिरफ्तारी की गुहार आला अधिकारियों समेत मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ से लगाता रहा पर किसी ने भी उसकी फरियाद को नही सुना। अगर वक़्त रहते अपराधियों पर कार्यवाही की गई होती तो शायद अकरम को अपनी जान ना गंवानी पड़ती।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *