वाराणसी –  नाम अयाज़ और पीता है शराब….! नशे में धुत होकर पंहुचा रियल सिंघम प्रकाश सिंह के चौकी क्षेत्र में तो ऐसे उतर गया शराब और दौलत का नशा

तारिक आज़मी

वाराणसी। इस्लाम मज़हब में शराब को हराम (पूर्णतः प्रतिबंधित) करार दिया गया है। मगर आज कल दौलत के नशे में चूर कुछ मुस्लिम नवजवान भी इस अंगूर की बेटी को अपनी माशूका बना चुके है। दौलत और शराब के नशे में चूर होकर कोई न कोई घटना कर बैठते है और खुद का ही नहीं बल्कि पुरे खानदान का नाम ख़राब कर बैठते है। ऐसे ही दौलत और शराब के नशे में चूर एक युवक का बढ़िया नशा उतारा रियल सिंघम के रूप में मशहूर दुर्गाकुंड चौकी इंचार्ज प्रकाश सिंह ने। 2015 बैच के तेज़ तर्रार एसआई प्रकाश सिंह को क्षेत्र की आम जनता प्यार से रियल सिंघम के नाम से पुकारती है।

घटना कुछ इस प्रकार है कि दुर्गाकुंड क्षेत्र में एक तेज़ कार सवार ने कई लोगो को बड़ी उटपटांग तरीके से गाडी चलाते हुवे टक्कर मारी दिया। कोई जन हानि तो नही हुई मगर इसके कार की रफ़्तार से आम जनता में भय व्याप्त हो गया। इस दरमियान क्षेत्र में गश्त कर रहे चौकी इंचार्ज दुर्गाकुंड को किसी आम नागरिक ने इस कार के सम्बन्ध में जानकारी दिया।

जानकारी मिलने पर कार की तलाश अभी प्रकाश सिंह कर ही रहे थे कि कार चालक ने तेज़ रफ़्तार कार से चेतमनी चौराहे के पास एक स्कूटी सवार को धक्का मारा और कार एक अन्य कार में ठोक डाली। नशे में धुत कार चालक को जब पिकेट पर लगे पुलिस कर्मियों ने रोका तो वह उनके साथ भी अभद्रता पर उतर आया। शराब और दौलत के नशे में चूर युवक पुलिस कर्मियों को हडदब में लेने की कोशिश करने लगा। तब तक जानकारी होने पर दुर्गाकुंड चौकी इंचार्ज प्रकाश सिंह मौके पर पहुच गए।

एसआई प्रकाश सिंह को जैसे ही कार चालक ने टेलर दिखाने की कोशिश किया वैसे ही कार सहित प्रकाश सिंह ने पहले तो उसको बुक करके थाने भेज दिया और मामले में कार को सीज कर युवक का मेडिकल करवा कर उसको भी दाखिल कर दिया। महज़ कुछ ही मिनटों में हुवे इस त्वरित एक्शन से कार चालक का शराब का नशा काफूर हो गया और दौलत के नशे में उसने बात करने की कोशिश किया। मगर शायद वो भूल गया था कि इस बार उसके सामने एसआई प्रकाश सिंह है। जिसको न दौलत से मतलब और न शोहरत के पीछे भागना है। समाज के लिए कानून व्यवस्था चुस्त और दुरुस्त रखना एक ही मकसद है।

आखिर दौलत का नशा भी उतर गया और ज़मीन पर उस बैठना पड़ा।शराब का नशा भी उतर चूका था और दौलत का घमंड भी उतर चूका था। वो तो भला हो कि इस शराब के नशे में धुत युवक के द्वारा की गई दुर्घटनाओ में कोई गंभीर रूप से घायल नही हुआ था। युवक ने पूछताछ में अपना नाम अर्दली बाज़ार निवासी मोहम्मद शाहिद का पुत्र मुहम्मद अयाज़ बताया। भेलूपुर पुलिस ने अयाज़ मिया का मेडिकल मुआयना करवा कर गाडी सीज कर दिया है और आगे की विधिक कार्यवाही जारी कर दिया है। समाचार लिखे जाने तक कई पैरोकार के तौर पर लोग थाने का चक्कर लगा चुके थे मगर जैसे ही उनको मालूम चलता कि अयाज़ को दाखिल किया जा चूका है, मुह लटका कर वापस चले जाते। आखिर शराब और दौलत का नशा उतर चूका है। अब देखना है कि ये नशा कब तक के लिए उतरा है। अब पुलिस मामले में जानकारी जुटा रही है कि वाहन की नम्बर प्लेट के ऊपर भारत सरकार का लोगो और नाम क्यों लिखा है….! लगता है शाहिद मिया के पुत्र अयाज़ बाबु की मुश्किलें और भी बढ़ने वाली है…..!

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *