रामपुर – (देखे वीडियो) नर्स ने डाक्टर से कहा “है तेरी औकात” और जड़ दिया थप्पड़, डाक्टर ने भी जवाब में रसीद किया नर्स को थप्पड़, अस्पताल प्रशासन जुटा मामले को दबाने में

हर्मेश भाटिया

रामपुर। कोरोना मरीजों की जान ही नहीं ले रहा है, बल्कि इसका तनाव डॉक्टरों व अन्य मेडिकल स्टाफ पर भी नजर आ रहा है। वो ऐसे तनाव में गुजर रहे है कि एक दुसरे की इज्ज़त और छोटे बड़े की तहजीब भी खोते जा रहे है। इसकी जीती जागती मिसाल उत्तर प्रदेश के रामपुर में देखने को आई जब जिला अस्पताल में एक नर्स ने डाक्टर को एक विवाद में थप्पड़ मार दिया। जिसके जवाब में डाक्टर साहब ने भी नर्स को थप्पड़ रसीद कर डाला। मामला किसी फाइल पर दस्तख़त को लेकर हुवे विवाद का बताया जा रहा है। जिसमे एक नर्स और डॉक्टर के बीच बवाल हो गया। गुस्साई नर्स ने डॉक्टर को “है तेरी औकात, है तेरी औकात” कहते हुवे एक जोरदार थप्पड़ ऐसा जड दिया कि डाक्टर साहब के होश फाख्ता हो गए और मास्क गिर पड़ा। तुरंत चेतना में आये डाक्टर साहब ने भी नर्स को थप्पड़ जड़ दिया। ये सब कुछ एक पुलिस एसआई की आँखों के सामने हुआ।

इस विवाद का वहा मौजूद भीड़ में से किसी ने वीडियो बना लिया और वो वीडियो अब सोशल मीडिया पर जमकर वायरल हो रहा है। जानकारी के मुताबिक घटना सोमवार रात साढ़े नौ बजे के आसपास की है। जब जिला अस्पताल के इमरजेंसी में कोरोना संक्रमित की मौत हो गई थी। इसी दौरान फाइल पर हस्ताक्षर को लेकर एक नर्स और रिटायर्ड सीएमएस बीएम नागर के बीच जोरदार बहस हो गई। हंगामा इतना बढ़ा कि नर्स ने कोरोना महामारी में अपनी सेवा दे रहे रिटायर्ड सीएमएस को “है तेरी औकात, है तेरी औकात” कहते हुवे जोरदार थप्पड़ जड़ दिया। न उम्र का लिहाज़ और न पद की इज्ज़त। नर्स के इस थप्पड़ से डाक्टर साहब का मास्क तक गिर पड़ा। डाक्टर साहब ने भी प्रतिउत्तर में नर्स को एक हाथ जड़ डाला। तभी वहा मौके पर मौजूद एक एसआई और नया लोगो ने दोनों को हटा बढ़ा दिया।

इस घटना के बाद रामपुर जिला अस्पताल प्रशासन मामले को दबाने और लीपापोती में जुट गया, जो अभी तक जारी है। दोनों में सुलह की कोशिश की जा रही है। मंगलवार को दोनों को बुलाया गया है। ताकि विवाद को सुलझाया जा सके और कोरोना मरीजों का इलाज हो सके। वही वीडियो वायरल होने के बाद डीएम ने मामले की जांच के आदेश दिए हैं। जबकि अस्पताल प्रशासन इस मामले में लीपापोती करने का भरसक प्रयास कर रहा है। भले अस्पताल प्रशासन इस मामले को दबाने की लाख कोशिश करे मगर सवाल तो दब नही सकता है। हम कौन सही कौन गलत की बात नही कर रहे है। इसको जाँच अधिकारी ही जाने। मगर जो नर्स एक चिकित्सक वह भी उससे उम्र में इतना बड़ा साथ ही पद में भी काफी बड़ा पर “है तेरी औकात” जैसे शब्द का प्रयोग कर थप्पड़ मार सकती है उसका आम मरीजों से कैसा व्यवहार होगा समझा जा सकता है।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *