सपा द्वारा नाहिद हसन को टिकट देने का प्रकरण: सुप्रीम कोर्ट में दाखिल हुई याचिका, अखिलेश यादव पर मुकदमा दर्ज करने की पेश हुई फ़रियाद

शाहीन बनारसी

डेस्क. उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनावों में भले ही सपा ने गैंगेस्टर नाहिद हसन का टिकट काट कर उसकी बहन को टिकट दे दिया हो, मगर मामले में सियासी हडकम्प कम होने का नाम नही ले रही है. इस प्रकरण में भाजपा नेता अधिवक्ता अश्विनी उपाध्याय ने चुनाव आयोग के निर्देशों का उल्लंघन करने का आरोप लगाते हुए सुप्रीम कोर्ट में याचिका दायर किया है। जिसमे उन्होंने मांग की कि चुनाव आयोग को यादव पर मुकदमा चलाने व सपा की मान्यता रद्द करने का निर्देश दिया जाए।

याचिका में कहा गया है कि चुनाव में उम्मीदवार तय करने के मामले में सपा ने सुप्रीम कोर्ट के आदेश का उल्लंघन किया है। इसलिए उसकी मान्यता खत्म की जाए। उपाध्याय ने एक टीवी चैनल से बातचीत में कहा कि यूपी के कैराना से नाहिद हसन को उतारकर सपा ने सुप्रीम कोर्ट के निर्देशों का उल्लंघन किया है।

उधर, नाहिद हसन को यूपी पुलिस द्वारा गिरफ्तार किए जाने के बाद सपा ने उनका टिकट काट दिया है। इसके बाद सपा ने नाहिद हसन की बहन को टिकट दिया है। हालांकि भाजपा अब भी इस मामले पर सपा पर आक्रामक रुख अपना रही है। है। सीएम योगी आदित्यनाथ ने इस पर हमला बोलते हुए कहा था कि सपा की पहली ही लिस्ट से उसके इरादे साफ हैं कि वह पश्चिम यूपी को गुंडाराज में झोंकने की तैयारी में है।

अश्विनी उपाध्याय ने कहा कि समाजवादी पार्टी ने कैराना से एक गैंगस्टर को चुनाव मैदान में उतार दिया। सपा ने उसका आपराधिक रिकॉर्ड अपने ट्विटर अकाउंट और वेबसाइट पर जारी नहीं किया। इसके अलावा इलेक्ट्रॉनिक, प्रिंट मीडिया और सोशल मीडिया में भी कोई जानकारी नहीं दी गई।



Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.