मौलाना निकला ज़’नाक़ार शैतान: बलात्कार मामले में मौलाना जर्जिस को 10 साल की कैद, साथ ही लगा जुर्माना, देखे तस्वीर कैसे हसता हुआ आया था पेशी पर मौलाना और क्या बोला फैसले पर

तारिक़ आज़मी/ए0 जावेद

वाराणसी: वाराणसी की फ़ास्ट ट्रैक अदालत ने बलात्कार के एक मामले में कल मौलाना जर्जिस अंसारी को कुसूरवार (दोषी) करार दिया था। कल ही मौलाना को हिरासत में ले लिया गया था और उसको न्यायिक अभिरक्षा में जेल भेज दिया गया था। इस मामले में आज अदालत ने अपना फैसला सुनाते हुवे तमाम गवाहों और सबूतों के मद्देनज़र मौलाना जर्जिस को 10 साल की कैद-ए-बामुशक्कत और दस हज़ार रुपया जुर्माना की सज़ा सुनाई है।

आज अदालत में पेशी पर आया मौलाना अपनी ऐठन में वैसे ही था। बस शरीर पर कुर्ता-शेरवानी की जगह पेंट टी-शर्ट थी। पुलिस ने कलाई से हाथ पकड रखा था ताकि कही मौलाना भाग न जाए। जिसके बाद मौलाना जर्जिस की मौजूदगी में अदालत ने अपना फैसला सुनाया कि मौलाना को 10 साल जेल में रहना पड़ेगा। सजा पाकर अदालत परिसर से बाहर निकला मौलाना जर्जिस पत्रकारों से बोला कि उसके साथ गलत हुआ है। वह इस फैसले के खिलाफ हाई कोर्ट में अपील करेगा।

बताते चले कि वाराणसी में आज से लगभग 7 साल पहले रेप और ब्लैकमेल के मामले में इटावा का यह चर्चित मौलाना जरजिस कल अदालत द्वारा ज़’नाकारी (बलात्कार) का दोषी साबित हुआ था। वाराणसी की फास्ट ट्रैक कोर्ट ने मौलाना जर्जिस को तमाम सबूतों और गवाहों के बयानों के मद्देनज़र इस बलात्कार के मामले में कुसूरवार करार पाया था। जिसके बाद कल ही मौलाना जर्जिस को हिरासत में ले लिए गया था। आज अदालत ने सजा सुनाने का दिन मुक़र्रर किया था।

गौरतलब हो कि वाराणसी के जैतपुरा थाना क्षेत्र की रहने वाली एक पीडिता ने मुकदमा दर्ज करा कर बताया था कि मौलाना जरजिस वाराणसी में तकरीर करने के लिए आता था। उस दौरान वह वाराणसी के होटलों में रुकता था। तकरीर के दौरान ही वर्ष 2013 में उसका परिचय मौलाना जरजिस से हुआ था। उसी दौरान उसने पीडिता को होटल में बुलवाया था। जहा मौलाना सैतान के शक्ल में आ गया और उसके साथ बलात्कार किया। साथ ही मौलाना ने उसका अश्लील वीडियो भी बना लिया था। जिसके बाद मौलाना ने उससे खुद को कुवारा बताया और निकाह का झांसा दिया। निकाह का झासा देकर मौलाना जरजिस ने उसके साथ अलग-अलग होटलों में कई बार दुष्कर्म और कुकर्म किया। हद तो इस मौलाना की तब खत्म हो गई जब उसने 19 नवंबर 2015 को पीडिता के घर आकर दुष्कर्म किया।

पीडिता ने अपनी शिकायत में बताया था कि विरोध करने पर मौलाना उसको समाज में बदनाम करने के साथ ही जान से मारने की धमकी देता था। काफी मिन्नतों के बाद भी मौलाना जरजिस ने उसके साथ निकाह नहीं किया। साथ ही जानकारी हासिल हुई कि मौलाना शादीशुदा है और उसके बच्चे भी है। जिसके बाद पीडिता ने तत्कालीन वाराणसी के एसएसपी से मिल कर उनको शिकायती प्रार्थना पत्र देकर इन्साफ की गुहार लगाया था। जानकारी के अनुसार अपनी शिकायत के साथ पीडिता ने तत्कालीन एसएसपी को मौलाना जर्जिस अंसारी की काल रेकार्डिंग भी अपने आरोपों के साक्ष्य के तौर पर प्रस्तुत किया था। जिसके बाद एसएसपी के निर्देश पर जैतपुरा थाने में मौलाना जरजिस के खिलाफ मुकदमा दर्ज हुआ था।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.