बलिया जनपद के मतदान की खबर अंजनी राय के संग

ईवीएम मशीन में गङबङी एक घंटा मतदान बाधित, ईवीएम मशीन से छेड़छाड़ करने के आरोप में पीठासीन अधिकारी को हटाया
बलिया : सिकन्दरपुर विधानसभा क्षेत्र में कठौड़ा बूथ संख्या 11 पर मशीन गड़बड़ हुई। दूसरी मशीन आने पर मतदान चालू हुआ। इस दौरान लगभग एक घंटे तक मतदान कार्य बाधित रहा। बूथ संख्या 26, 27 व 28 पर एजेंट नियुक्ति को लेकर नोक झोक हुई। पीठासीन अधिकारी का कहना था कि जब इन एजेंटो का मतदाता सूची में नाम नहीं है तो इन्हें एजेंट बनाने की अनुमति नहीं दी जा सकती।

उपजिलाधिकारी निर्वाचन अधिकारी/एडीएम  के आने पर उन्हें एजेंट बनाया गया। कई बूथों पर महिला मतदाताओं में जबरदस्त जागरूकता देखने को मिली। बूथ संख्या 1, 2 व 3 पर पुरुष मतदाता की संख्या नदारत थी। 164 बूथ सं.बनहरा के पीठासीन अधिकारी को शिकायत के बाद हटा दिया गया। पीठासीन अधिकारी पर इलेक्ट्रानिक वोटिंग मशीन में छेड़छाड़ करने का आरोप है। क्षेत्र के बूथ संख्या 131, 132 पर बवाल होने पर पुलिस मौके पर पहुंचकर मामलों को शांत कराया। क्षेत्र में सायं पांच बजे तक मतदान आम तौर पर शांतिपूर्ण रहा।                        

बीएलओ सहित पार्टी समर्थक भी रहे मुस्तैद
बलिया : विधानसभा चुनाव के छठवें चरण के मतदान में जिले के 2409 मतदान बूथों पर आचार संहिता का पालन करते हुए बीएलओ के साथ ही पार्टी के समर्थक भी मतदाताओं को पर्ची और मतदान सूची का नाम खोजने में मदद करते रहे।
निर्वाचन आयोग के आदेश का अनुपालन करते हुए पार्टी समर्थक बूथ से 200 मीटर दूर अपना डेरा जमाए रहे। इससे बूथ पर आने वाले मतदाताओं को मतदाता पर्ची में नाम खोजने एवं बूथ का निर्धारण करने में काफी सहूलियत रही। मतदाताओं की मदद के बहाने पार्टी समर्थक अपना उल्लू भी सीधा करते रहे। मतदाताओं को मतदान पर्ची देने के साथ ही समर्थक अपने प्रत्याशी के समर्थन में वोट देने की अंतिम अपील भी करते रहे। पार्टी समर्थकों के इस कार्य से बीएलओ के साथ ही बूथ पर तैनात अन्य चुनावी कार्मिकों को काफी सहूलियत रही।
जवानों ने वैबकास्टिंग टीम को रोका, लिखित आदेश की कर रहे थे मांग
बलिया : जिले में हो रहे विधानसभा चुनाव के छठवें चरण के मतदान में कुछ स्थानों पर पैरामिलिट्री के जवानों ने वैबकास्टिंग टीम को मतदान केन्द्र पर जाने से रोक दिया। इससे एक घण्टे तक वैबकास्टिंग प्रक्रिया प्रभावित रही। लिखित आदेश की मांग पर अड़े जवानों ने जिला निर्वाचन अधिकारी के हस्तक्षेप के बाद वैबकास्टिंग टीम को मतदान केन्द्र में प्रवेश दिया।
विधानसभा चुनाव में शांतिपूर्ण ढंग से मतदान सम्पन्न कराने के लिए जिले के 242 मतदान केन्द्रों पर जिला प्रशासन द्वारा वैबकास्टिंग की व्यवस्था की गयी थी। इन मतदान केन्द्रों पर वैबकास्टिंग के जरिए चुनाव आयोग और जिला प्रशासन सीधे मतदान पर नजर बनाए हुए था। इसके लिए विकास भवन के सभागार में अधिकारी और कर्मचारी लैपटॉप के जरिए जिले के मतदान प्रक्रिया पर पैनी नजर बनाए हुए थे। वैबकास्टिंग टीम में जनसेवा केन्द्र के कर्मचारियों की ड्यूटी लगाई, किन्तु प्रशासन द्वारा लिखित आदेश न मिलने से कई स्थानों पर वैबकास्टिंग टीम और पैरामिलिट्री फोर्स के जवानों के बहस हो गई थी। सुबह सात बजे मतदान केन्द्रों पर वैबकास्टिंग करने पहुंची टीम को बांसडीह विधानसभा के बूथ संख्या 13 एवं बिल्थरा रोड विधानसभा क्षेत्र के बूथ नंबर 107,108 एवं 109 पर तैनात पैरामिलिट्री के जवानों ने रोक दिया था। प्रशासन द्वारा लिखित आदेश न मिलने पर जवानों ने टीम को मतदान केन्द्र पर प्रवेश नहीं करने दिया। टीम के लोगों ने घटना की सूचना पुलिस अधीक्षक एवं जिला निर्वाचन अधिकारी को दी। इसके उपरान्त जिलाधिकारी के हस्तक्षेप के बाद जवानों ने वैबकास्टिंग टीम को मतदान केन्द्र में प्रवेश दिया। इस पूरे प्रकरण के दौरान संबंधित बूथों पर लगभग एक घण्टे तक वैबकास्टिंग प्रक्रिया प्रभावित रही।
लोकतंत्र के मजबूती के लिए दिव्यांगों ने लिया बढ़ चढ़कर हिस्सा
बलिया : चुनाव आयोग के निर्देश पर जिला निर्वाचन अधिकारी गोविंद राजू एनएस के निर्देश पर जनपद में चलाये गये मतदाता जागरूकता अभियान का असर चार मार्च को मतदान के दौरान मतदान केन्द्रों पर साफ-साफ नजर आया। मतदान प्रतिशत बढ़ाने के लिए शिक्षा विभाग एवं स्वयंसेवी संगठनों द्वारा किये गये प्रयासों का असर रहा कि दिव्यांग मतदाता भी वोट डालने के लिए मतदान केन्द्रों पर पहुंचे। 
बहेरी में बनाये गये मतदान केन्द्र पर पहुंची दिव्यांग मतदाता 75 वर्षीया आसमा खातून ने कहा कि लोकतंत्र की मजबूती के लिए मैं अपनी शारीरिक कमजोरी को बाधक बनने नहीं देना चाहती इसलिए साहब जुटाकर मैं मतदान करने के लिए यहां पहुंची हूं। रामपुर महावल बूथ पर वोट देने पहुंचे राजेन्द्र यादव 64 वर्ष ने कहा कि मैं वैशाखी के सहारे भले चलू लेकिन वैशाखी के सहारे मैं सरकार चलाना प्रसन्न नहीं करता इसलिए मजबूत सरकार बनाने के लिए में भी अपना मतदान देने के लिए चला आया। 
मतदान के प्रति वृद्धा मतदाताओं में भी दिखा उत्साह
बलिया : हर बूथों पर वृद्धा मतदाताओं में मतदान के प्रति उत्साह देखने को मिला। असक्त महिलाएं भी बूथों तक परिजनों का सराहा लेकर वोट डालने पहुंची। नगर विधानसभा क्षेत्र के अखार ग्राम पंचायत अंतर्गत दादा के छपरा प्राथमिक विद्यालय पर वोट डालने के लिए इस गांव की 110 वर्षीयां रामकली देवी पत्नी स्व.पशुराम पाठक अपने परिवार के युवाओं के गोदी के सहारे बूथ तक पहुंची और अपना मतदान किया। उपस्थित अन्य मदाताओं का कहना था कि वास्तव में सही लोकतंत्र का यही मायने है कि युवा से लेकर वृद्धा तक अपने पसन्द के प्रत्याशी को मतदान अवश्य करें। यही लोकतंत्र पर्व का मतलब है। इसी विधानसभा क्षेत्र अंतर्गत घोड़हरा ग्राम पंचायत की निवासी 70 वर्षीयां शहीदन पत्नी सरफुद्दीन तथा 65 वर्षीया जैबुल खातून पत्नी मोहम्मद सलीम वोट डालने के लिए प्राथमिक विद्यालय अलमचक पहुंची। जनपद के अन्य बूथों पर वृद्धा तथा असक्त मतदाताओं को वोट डालने देखा गया। 
पहली बार वोट डालकर खुशी से लवरेज दिखे युवा
बलिया : जिला प्रशासन ने पहली जनवरी-2017 को 18 वर्ष की आयु पूरा करने वाले युवाओं को मतदाता सूची में शामिल करने के लिए कई बार अभियान चलाया। मतदाता सूची में शामिल ऐसे युवाओं को राष्ट्रीय मतदाता दिवस 25 जनवरी के मौके पर हर बूथों पर सम्मानित भी किया गया। जिला निर्वाचन अधिकारी गोविंद राजू एनएस ने सभी बीएलओ को निर्देश दिया था कि ऐसे युवा मतदाताओं को सम्मानित किया जाय जो चार मार्च को होने वाले विधानसभा चुनाव में पहली बार मतदान करेंगे।
मतदाता सूची से गायब रहे नाम, लौटे निराश
बलिया : एक तरफ जहां जिला प्रशासन की ओर से मतदाता सूची को अपडेट करने के लिए समय-समय पर अभियान चलाया गया वही पर जगह-जगह मतदाता सूची से भारी संख्या में मतदाताओं के नाम गायब होने से वे बिना अपना वोट डाले वापस लौट आये। शहीद मंगल पाण्डेय इण्टर कालेज नगवां में स्थापित बूथों पर वोट डालने गये चंद्रप्रताप पाठक 65 वर्ष, अनिल कुमार पाठक 70 वर्ष, शिवसागर यादव 61 वर्ष, संजय पाठक 55 वर्ष बिना वोट डाले ही वापस लौट आये। इसकी शिकायत इण्टर कालेज के प्रबंधक डा.बृकेश पाठक ने सम्बंधित अधिकारियों से की है। उनका कहना है कि एक तरफ जिला प्रशासन का प्रयास होता है कि कोई भी मतदाता वोट डालने से वंचित न रहे दूसरी तरफ मतदाता सूची में गड़बड़ी के कारण हर चुनाव में सैकड़ों लोग मतदान करने से वंचित रह जाते है। जिला प्रशासन को इसके लिए दोषी व्यक्तियों के खिलाफ कार्रवाई करनी चाहिए।
बसपा समर्थकों पर ईंट पत्थर से हमला, पांच नामजद समेत दर्जनों अज्ञात लोगों पर मुकदमा दर्ज
बलिया : रसड़ा–बलिया मार्ग पर स्थित नगर के पानी टंकी मोड़ के पास बसपा समर्थकों पर ईंट पत्थर से हमला बोलकर एक गाडी को क्षतिग्रस्त कर दिया गया। पथराव के दौरान कुछ लोगों को चोटें भी आईं। भगदड़ में एक व्यक्ति कुएं में गिर गया। इस मामले में पुलिस ने पांच नामजद व दर्जनों अज्ञात के खिलाफ धारा 147, 336, 352, 504, 506 तथा 427 आईपीसी के अन्तर्गत मुकदमा दर्ज किया है। कोतवाली क्षेत्र के बुलाकीदास मठिया निवासी भूपेन्द्र सिंह पुत्र बिरेन्द्र सिंह ने तहरीर में आरोप लगाया कि वे सतीश सिंह के साथ शुक्रवार की रात 11 बजे वोटर पर्ची बांटने पानी टंकी रोड स्थित गब्बर सिंह के यहां जा रहे थे। इसी दौरान पानी टंकी मोड़ के समीप नथुनी सिंह, रामभुवन सिंह, मन्नू सिंह, आदर्श सिंह एवं अन्य लोगों ने उन लोगों पर ईंट पत्थर से हमला बोल दिया। हमले से उनकी गाडी संख्या यूपी 60-एसी 6263 बुरी तरह क्षतिग्रस्त हो गयी। ईंट पत्थर के चलने से भगदड़ मच गयी। घटना से कुछ ही समय पहले विधायक उमाशंकर सिंह वहां से निकले थे।
बूथ से गायब बीएलओ को जिला निर्वाचन अधिकारी/ जिलाधिकारी ने किया निलंबित
डीआईजी और कमिश्नर ने किया मतदान प्रक्रिया का निरीक्षण
बलिया : चुनावी भ्रमण करते हुए जिलाधिकारी व पुलिस अधीक्षक माल्देपुर बूथ पर पहुंचे तो वहां बीएलओ सुदामा प्रसाद के गायब होने की शिकायत मिली। इस पर नाराज जिलाधिकारी ने तुरंत डीपीआरओ को फोन कर उस बीएलओ (सफाईकर्मी) को निलम्बित करने का आदेश दिया। कहा कि चुनाव संबंधी कार्याें में इस तरह की लापरवाही कत्तई बर्दाश्त नही की जाएगी। वहीं पर ड्यूटी पर तैनात महिला केंद्रीय फोर्स के जवानों का उत्साहवर्धन भी किया। मतदान शुरू होते ही जिलाधिकारी की फोन की घंटी भी बजती रही। सभी विधानसभाओं से जैसे ही किसी भी प्रकार की शिकायत मिली, तत्काल जोनल, सेक्टर मजिस्ट्रेटों के माध्यम से उसे दिखवाते रहे।  विधानसभा चुनाव को सकुशल सम्पन्न कराने के लिए मण्डलायुक्त व डीआईजी ने भी जनपद में भ्रमण किया। बलिया विधानसभा के संवरूबांध बूथ पर पहले से मौजूद जिलाधिकारी व एसपी से जरूरी जानकारी ली। मण्डलायुक्त व डीआईजी ने बूथों के अंदर जाकर मतदान प्रक्रिया का निरीक्षण किया। पीठासीन अधिकारी को मतदान प्रक्रिया को तेजी से निपटाने का निर्देश देते रहे। उधर, चुनाव के दौरान 242 बूथों पर वेवकास्टिंग हुई। विकास भवन सभागार से ईडीएम अभिजात सिंह इसकी मॉनिटरिंग कर रहे थे। निर्वाध तरीके से वेवकास्टिंग का कार्य सकुशल सम्पन्न हो जाने पर सबसे पहले जिकाधिकारी ने ईडीएम अभिजात सिंह को बधाई दी। बता दें कि 14 लैपटॉप व ऑपरेटरों को लगाकर इसकी मॉनिटरिंग की जा रही थी।
हाईटेंशन तार की चपेट में आने से किशोर की मौत, परिजनों में मचा कोहराम
बलिया : उभांव थाना क्षेत्र टगुनिया गांव में हाईटेंशन तार के चपेट में आने से एक 17 वर्षीय किशोर की मौत हो गयी। घटना की सूचना मिलते ही उभांव पुलिस सीएचसी सीयर पहुंचकर युवक के शव को लेकर पोस्टमॉर्टम हॉउस बलिया भेज दिया।
बताते चलें कि टगुनिया गांव निवासी सज्जन यादव के घर शनिवार को शादी थी। शनिवार की सुबह 9 बजे दरवाजे पर टेंट लगा रहे बिट्टू (17) पुत्र पप्पू राजभर टेन्ट के पाइप को लगाने के लिए ऊपर उठा रहा था। इसी बीच ऊपर से गुजर रहे हाईटेन्शन तार में सट गया। तार में प्रवाहित हो रहे विद्युत करेंन्ट के चपेट आ गया और दूर जा गिरा। आनन- फानन में लोगों ने उसे सीएचसी सीयर पहुंचाया जहाँ डॉक्टरों ने उसे मृत घोषित कर दिया। इस घटना की सूचना मिलते मृत युवक के परिजन भी सीएचसी सीयर पहुच गए। परिजनों का रोते – रोते बुरा हाल है।

Welcome to the emerging digital Banaras First : Omni Chanel-E Commerce Sale पापा हैं तो होइए जायेगा..

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *