कानपुर – सपा नेत्री करवा रही अवैध निर्माण, पुलिस ने बैठा लिया शिकायतकर्ता को ही थाने पर – पीडित महिला

ए. जावेद

कानपुर। सपा नेत्री नीलम रुमिला सिंह पर एक बार फिर दबंगई का आरोप लगा है। मामला इस बार काकादेव थाना क्षेत्र के शास्त्री नगर स्थित लेबर कालोनी का है। घटना के सम्बन्ध में पीड़ित प्रदीप गुप्ता की पत्नी ने हमसे बताया कि लेबर कालोनी के रहने वाले अभिषेक सिंह नामक व्यक्ति का सपा नेत्री नीलम रोमिला सिंह से रिश्तेदारी है। अभिषेक सिंह अपने क्वाटर पर अवैध निर्माण करवाना चाहता है। उसके द्वारा इसका प्रयास पहले भी किया गया था जिसका समर्थन सपा नेत्री नीलम रुमिला सिंह कर रही थी। मामला जब बढ़ गया तो क्षेत्रीय नागरिको ने शास्त्री पार्क में धरना दे दिया। बात बिगड़ते देख नीलम रुमिला सिंह ने तुरंत हाथ खीच लिया और खुद को निष्पक्ष कहकर किनारे हो गई।

मौके पर होता अवैध निर्माण पर वेल्डिंग का काम

आज की घटना के सम्बन्ध में पीड़ित प्रदीप गुप्ता की पत्नी अर्चना गुप्ता ने आरोप लगाते हुवे बताया कि आज फिर से सपा नेत्री अपने साथ कई दबंग किस्म के लोगो को लेकर मौके पर आई और अभिषेक सिंह के मकान पर अवैध निर्माण जारी करवा दिया। पीडिता ने बताया कि उसके पति प्रदीप गुप्ता ने इस सम्बन्ध में 100 नंबर पर फोन करके सुचना दिया। यूपी 100 के सिपाही मौके पर आये और हमारे पति को बोले कि जाकर पुलिस चौकी पर तहरीर दे दो। वही पुलिस चौकी पर कहा गया कि थाने जाकर तहरीर दो। पीडिता के बयांन को आधार माने तो थाना काका देव जाने के बाद उसके पति प्रदीप गुप्ता और देवर संजीव गुप्ता को थाने में बैठा लिया गया है। वही मौके पर काम जारी है।

इस सम्बन्ध में थाना प्रभारी काकादेव से बात करने का प्रयास किया गया तो उनका सीयूजी नंबर नही उठा। साथ ही सूत्र बताते है कि मौके पर निर्माण कार्य चालु है। अब सवाल ये उठता है कि जब सपा नेत्री के दबाव में स्थानीय थाना पीड़ित को ही बंद कर दे रहा है जो एक भाजपा कार्यकर्ता भी है तो फिर आम जनता का क्या हाल होगा। शायद थानेदार साहब रात की घुप सियाह अँधेरे में आराम फरमा रहे होंगे। मगर पीड़ित के दर्द का अहसास शायद उनको नही होगा। समाचार लिखे जाने तक सूत्र बताते है निर्माण कार्य चालू है। वही पीडिता ने बताया कि मौके पर सपा नेत्री नीलम रुमिला सिंह अपने साथ कई दबंग किस्म के लोगो को लेकर मौजूद है। पीडिता के अनुसार उसके घर पर कोई मर्द नही है केवल तीन महिलाए ही है। ऐसी स्थिति में उनकी खुद की सुरक्षा भी दाव पर है।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *