सट्टा किंग सोनू सरदार आया पुलिस की गिरफ्त में, कानपुर सहित विदेश में भी बनाया है सट्टे के आमदनी से संपत्ति

मो0 कुमैल

कानपुर। एक महीने से फरार सट्टा किंग सोनू सरदार उर्फ भूपिंदर सिंह अरोड़ा को पुलिस ने रविवार को जयपुर से गिरफ्तार कर लिया। उसके साथी रंजीत सिंह उर्फ रिंकू को नौबस्ता बाईपास से दबोचा गया। सोनू का दुबई कनेक्शन भी मिला है। वही साथ ही साथ दुबई में हुवे करोड़ों के ट्रांजेक्शन का सुराग भी मिला है। इस बार आईपीएल भी यूएई में चल रहा है। पुलिस को उसके पास से दो लैपटॉप और दो मोबाइल भी बरामद हुए हैं। इनमें अमेरिका समेत कई अन्य देशों के एप मिले हैं।

गौरतलब है कि पुलिस ने पिछले महीने 94 लाख का सट्टा पकड़ा था। छह सटोरियों को जेल भेजा गया था। इस गिरोह का सरगना नजीराबाद निवासी सोनू सरदार था। वह जयपुर में रहकर देशभर में सट्टे का जाल फैलाए था। एसपी पश्चिम डॉ। अनिल कुमार और एसपी साउथ दीपक भूकर के मुताबिक जांच में पता चला है कि अहमदाबाद, मुंबई, राजस्थान और दिल्ली के कई बड़े बुकी से सोनू का सीधा संपर्क है। एसपी दीपक भूकर ने बताया कि अभी तक की जांच में सोनू के 10 बैंक खाते मिले हैं। हर महीने कई करोड़ रुपये इधर से उधर हुए हैं। दुबई से भी करोड़ों का ट्रांजेक्शन हुआ है। सोनू ने बताया है कि दुबई के कई बुकी उसके संपर्क में हैं। उनके साथ मिलकर वह अंतरराष्ट्रीय स्तर पर सट्टा खेलता और खिलवाता है। अब इस बात का पता किया जा रहा कि बुकी कहीं आईपीएल से जुड़े लोगों के संपर्क में तो नहीं है।

एसपी ने बताया कि एप पर अलग-अलग नामों से सटोरिये आईडी बनाते हैं। जब भाव कम होता है तब सोनू सरदार उनको खरीद लेता है। वर्तमान में वो हर दिन 533 ऐसी आईडी खरीदता था। उसके बाद 14 हजार 400 रुपये प्रति आईडी के हिसाब से ऊपर बेच देता था। मतलब 76 लाख रुपये केवल आईडी बेचकर कमा लेता था। उसके बाद सट्टा खिलाने का लाखों रुपये का कमीशन अलग से। यही नही, सोनू और रिंकू के पास करोड़ों की प्रापर्टी भी है। पुलिस के मुताबिक ये सब सट्टे की रकम से जुटाई गई हैं। सोनू के कानपुर, जयपुर, मुंबई के साथ-साथ दुबई में भी फ्लैट हैं। पुलिस अब गिरोह पर गैंगस्टर की कार्रवाई करने के बाद प्रापर्टी भी जब्त करेगी। सोनू को राजनीतिक संरक्षण भी मिला होने की बात सामने आ रही है। सोनू की गिरफ्तारी के बाद पुलिस ने एक पूर्व विधायक के भतीजे से पूछताछ की है।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *