बेसहारों को सहारा देना ही दस्तगीर का उद्देश्य होना चाहिए और इस मुहिम में युवा अधिवक्ताओं की महत्वपूर्ण भूमिका है: कवीन्द्र प्रताप सिंह

तारिक खान

प्रयागराज. दस्तगीर विधिक सहायता केंद्र का उद्घाटन आज दिनांक 21/11/2020 को गुलाब बाड़ी प्रयागराज में मुख्य अतिथि श्री कवीन्द्र प्रताप सिंह पुलिस महानिरीक्षक प्रयागराज परिक्षेत्र द्वारा किया गया। दस्तगीर शब्द का अर्थ होता है हाथ मदद के लिए हाथ बढ़ाने वाला या मददगार।

दस्तगीर विधिक सहायता केंद्र समाज के शोषित, वंचित, असहाय, गरीब वर्गों की मुफ्त कानूनी मदद के लिए हाशमी अलखैर संस्था का एक सामाजिक प्रयास है। इसका उद्देश्य आर्थिक और सामाजिक रूप से कमज़ोर व पिछड़े वर्गो को कानूनी मदद करना है। दस्तगीर के सृजन के श्रेय सामाजिक कार्यकर्ता व विधिज्ञाता फैज़ान राशिद और राहुल शुक्ला को जाता है और इन्होंने दस्तगीर विधिक सहायता केंद्र का संयोजन किया।

इलाहाबाद उच्च न्यायालय और जनपद न्यायालय के कई विद्वान अधिवक्तागण और कई सामाजिक कार्यकर्ता इस मुहिम का हिस्सा होने के लिए शपथबद्ध हैं। भारत जैसे लोकतांत्रिक देश मे कानून के शासन की स्थापना की पूर्ति तब तक नहीं होगी जब तक कि सस्ता और निःशुल्क न्याय समाज के अंतिम पायदान पर बैठे लोगों तक ना पहुँचे। इस पुनीत कार्य मे कानून से जुड़े लोगों को सकारात्मक सोच और प्रयास दोनों की महत्वपूर्ण भूमिका है। समाज और आर्थिक न्याय को सर्व सुलभ कराने में और समानता की संवैधानिक सांज को गति देने का यह अभीष्ट प्रयास है।

हाशमी अलखैर संस्था ने संविधान के प्रस्तावना की भावना और मूल अधिकारों व कर्तव्यों को लागू करने में एक महती भूमिका निभा रहा है। कार्यक्रम में विशिष्ट अतिथि के तौर पर श्री रामेश्वर प्रसाद शुक्ल अपर शासकीय अधिवक्ता, श्री नागेंद्र श्रीवास्तव अपर शासकीय अधिवक्ता इलाहाबाद उच्च न्यायालय, एडवोकेट अजय सिंह, एडवोकेट विनायक मित्तल, कमलाशंकर पांडेय जिला न्यायालय अधिवक्ता, नाज़िया नफीस, इरफान राशिद, इमरान राशिद, अब्बास हुसैन और अन्य गड़मान्य लोग मौजूद रहे। कार्यक्रम के समापन के पश्चात संस्था के संरक्षक हाजी इंतेखाब अहमद ने सभी अतिथियों को तुलसी का पौधा भेंट किया।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *