देखे वायरल वीडियो – दुष्कर्म का आरोपी JK24X7 न्यूज़ का पत्रकार प्रह्लाद गुप्ता गिरफ्तार, पेशी पर जाते समय उठे हाथ सड़क पर करने को इन्साफ ?

तारिक आज़मी

वाराणसी। वाराणसी स्थित लालपुर पाण्डेयपुर थाने पर दर्ज दुष्कर्म के एक मुक़दमे में मुख्य अभियुक्त JK24X7 न्यूज़ का खुद को पत्रकार बताने वाले प्रहलाद गुप्ता को कल 20 दिसंबर रविवार को लालपुर पांडेयपुर थाना पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया। नवम्बर के मध्य दर्ज हुवे इस मुक़दमे में मुख्य आरोपी JK24X7 न्यूज़ का खुद को पत्रकार बताने वाले प्रहलाद गुप्ता पर शहर के विभिन्न थानों में एक दर्जन के करीब मुक़दमे दर्ज है। प्रहलाद गुप्ता की ये पहली गिरफ़्तारी है। इसके पहले वह जेल नही गया है।

कल रविवार को शाम गिरफ्तार हुवे प्रह्लाद गुप्ता को आज दोपहर लगभग 1 बजे मंडलीय चिकित्सालय शिवप्रसाद गुप्त चिकित्सालय में मेडिकल परीक्षण हेतु लाया गया और फिर इसके बाद उसको न्यायालय में पेश करने हेतु साथ आये पुलिस बल द्वारा कचहरी लेकर जाया गया जहा न्यायालय परिसर में प्रवेश के पहले ही दुष्कर्म आरोपी के परिजनों ने अभियुक्त के साथ किसी अप्रिय घटना होने की आशंका ज़ाहिर किया। जिस पर अधिक पुलिस बल के साथ न्यायालय में पेशी हेतु अभियुक्त को ले जाया गया। इसी दौरान कचहरी परिसर में अधिवक्ता वेषधारी कुछ लोगो की भीड़ ने अभियुक्त पर हमला कर दिया।

अचानक हुई इस घटना से पुलिस बल भी कुछ समझ नही पाया तभी एक मोब के तौर पर कुछ लोगो ने दुष्कर्म अभियुक्त प्रह्लाद गुप्ता की जमकर पिटाई कर डाला। एक बड़ी मशक्कत के बाद पुलिस कर्मियों ने भीड़ के चंगुल से दुष्कर्म आरोपी प्रह्लाद गुप्ता को बचाया। इस प्रयास में कई पुलिस कर्मियों को भी चोटे आई। जिसमे पांडेयपुर चौकी इंचार्ज, कचहरी चौकी इंचार्ज तथा दुष्कर्म प्रकरण में विवेचक सहित कांस्टेबल मो गुलाम साबिर को चोट लगी। कचहरी चौकी इंचार्ज अजय प्रताप सिंह को बीच बचाव करने और अभियुक्त को बचाने में गंभीर चोट लगी। एक कड़ी मशक्कत के बाद खुद को चोटिल होने के बावजूद भी पुलिस ने अभियुक्त प्रह्लाद गुप्ता को भीड़ के चंगुल से बचाया और घायल हो चुके अभियुक्त को मंडलीय चिकित्सालय शिव प्रसाद गुप्त अस्पताल में दुबारा इलाज हेतु लेकर गए।

क्या था मामला

रविवार को दुष्कर्म आरोपी प्रहलाद गुप्ता की गिरफ़्तारी के बाद एक विवादित ऑडियो वायरल हुआ था। वायरल ऑडियो में दावा किया गया था कि अभियुक्त प्रहलाद गुप्ता एक अधिवक्ता से बात कर रहा है। इस ऑडियो में अधिवक्ता समाज हेतु अपमानजनक शब्दों का प्रयोग करते हुवे पुरे देश के अधिवक्ताओं हेतु एक अपमानजनक शब्द का प्रयोग किया गया था। इस ऑडियो के वायरल होने के बाद आज सुबह से ही अधिवक्ताओ में भारी आक्रोश देखने को मिल रहा था। इस दरमियान अधिवक्ताओं ने अभियुक्त के ज़मानत अर्जी का विरोध करने का मन बनाया था और अधिवक्ता इस मामले में लामबंद होकर अभियुक्त की ज़मानत का विरोध करने वाले थे।

क्या हुई घटना

भारी संख्या में अधिवक्ता अदालत कक्षा में इस मामले की ज़मानत का विरोध करने को एकत्रित थे। पुलिस उत्तरी गेट से अभियुक्त को लेकर कचहरी परिसर में दाखिल हुई। तभी अदालत कक्षा के बाहर अधिवक्ता वेशभूषा में खड़े कुछ लोगो की भीड़ ने अभियुक्त की पिटाई शुरू कर दिया। इस दरमियान जब तक कोई कुछ समझ पाए तब तक अभियुक्त की जमकर पिटाई हो चुकी थी। वही मौके पर काफी अधिवक्ताओं को अभियुक्त को बचाने की कोशिश करते हुवे भी देखा गया।

घटना के सम्बन्ध में अभियुक्त की माँ के तहरीर पर कैंट पुलिस ने मामले में मारपीट, गाली गलौंज और धमकी से सम्बंधित धाराओं में दुष्कर्म पीडिता, उसके पिता और एक अधिवक्ता सहित कुछ अज्ञात के विरुध मुकदमा दर्ज कर विवेचना प्रचलित कर दिया है। वही अभियुक्त प्रह्लाद गुप्ता को देर शाम रिमांड मजिस्ट्रेट के सामने पेश किया गया जहा से न्यायिक अभिरक्षा में अभियुक्त प्रहलाद गुप्ता को अस्थाई जेल भेज दिया गया है।

क्या है अधिवक्ताओं का रुख

ऑडियो क्लिप के वायरल होने के बाद से अधिवक्ताओ में काफी आक्रोश देखा जा रहा है। इस ऑडियो क्लिप को सुनने के बाद समाज के हर तबके ने ऐसे शब्दों की आलोचना किया है। अधिवक्ताओं ने आपस में इस सम्बन्ध में विचार विमर्श शुरू कर दिया है। वही अधिवक्ताओं में कुछ का नजरिया निकल का सामने आया है कि अभियुक्त की ज़मानत अप्लिकेशन पर न्यायिक प्रक्रिया के तहत विरोध दर्ज करवाया जाएगा।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *