मासूम को न खरीद सकी तो देर रात कर लिया था उसका अपहरण, दिन रात एक कर कैंट पुलिस ने महज़ 24 घटो में बरामद कर लिया बच्ची, दो महिलाये गिरफ्तार

ए जावेद

वाराणसी। एक महिला होकर वह महिला पर ऐसा ज़ुल्म कर सकती थी ये कोई सोच नही सकता है। एक महिला के लिए उसके मासूम बच्चे को उससे दूर कर देने का गम शायद दुनिया का सबसे बड़ा गम होता है। इन दोनों ने भी एक साथ मिलकर एक माँ को उसकी मासूम दुधमुही बच्ची से दूर कर दिया था। उन्होंने पहले तो बच्ची को खरीदना चाहा, मगर जब इसमें वह कामयाब नही हो पाई तो देर रात वह बच्ची को अगवा कर ले भागी।

मामला कैंट थाना क्षेत्र के एक मोहल्ले का है जहा दो महिलाये एक दो माह की मासूम दुधमुही बच्ची को खरीदने के लिए बच्ची के माँ बाप से संपर्क करती है। माँ बाप ने बच्ची को बेचने से मना कर दिया। महिलाओं ने उन्हें 3 हज़ार रूपये का लालच भी दिया। मगर वो माँ बाप अपने लख्ते जिगर को बेचने के लिए तैयार ही नहीं थे। जिसके बाद वो दोनों महिलाये तो चली गई। मगर रात्रि लगभग 3 बजे के करीब दोनों ने उस मासूम बच्ची को अगवा कर लिया और लेकर भाग गई।

सुबह होने पर जब मासूम के माँ बाप को अपनी दुधमुही बच्ची नही मिली तो दोनों पागलो के तरह पहले तो तलाशते रहे। इसके बाद भी जब वह नही मिली तो 3 अप्रेल को दोनों कैंट थाने आये और कैंट थाना प्रभारी राकेश सिंह को रो रोकर अपनी व्यथा बताई। थाना प्रभारी ने दोनों की इस दुःख भरी दास्तान को सुनकर तुरंत मुकदमा दर्ज करने का आदेश किया और मुकदमा दर्ज हो जाने के बाद खुद टीम के साथ लग गए बच्ची की तलाश में।

पुलिस वालो को उस माँ का दर्द अहसास हो रहा था। उन्होंने न खाना खाया और न पानी पिया। पूरा दिन रात एक कर दिया और आखिर पुलिस को सफलता मिली और रात्रि जब सारी दुनिया नर्म मुलायम बिस्तर पर सो रही थी तब राकेश सिंह और उनकी टीम को एक बड़ी सफलता हाथ लगी और मुखबिर की सुचना पर दो महिलाओं को गिरफ्तार कर उनके कब्ज़े से अपहृत मासूम बच्ची को बरामद कर लिया।

दोनों महिलाओं से हुई पूछताछ में उन्होंने बताया कि हम इस बच्ची को खरीदने के लिए गये थे। हम इसके लिए तीन हज़ार रूपये दे रहे थे। मगर इस बच्ची के माँ बाप इसको बेचने को तैयार नही हुवे। तो आखिर में हमने रात को चुपके से जाकर बच्ची का अपहरण कर लिया था। हम बच्ची को पाल पोस कर उसको नृत्य सिखाकर अपने साथ काम में लगा लेते। पुलिस ने दोनों को भोर में 3:40 पर हिरासत में लेकर अपहृत बच्ची को बरामद कर लिया है।

गिरफ़्तारी करने और अपहृत बच्ची को महज़ 24 घटे के अन्दर बरामद करने वाली पुलिस टीम में प्रभारी निरीक्षक राकेश कुमार सिंह, उ0नि0 बनारसी यादव, सुनील कुमार गौंड, का0 सर्वजीत चौहान, विशाल कुमार, देवेन्द्र यादव, म0का0 अन्नू शुक्ला, क्राइम ब्रांच से एसआई ब्रिजेश मिश्रा, हे0का0 विनय सिंह, का0 अलोक मौर्या, अमित शुक्ल शामिल थे।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *