शांति व्यवस्था कायम रखने में महत्वपूर्ण योगदान देने वाले चौक इस्पेक्टर शिवाकांत मिश्रा को प्रशस्ति पत्र देकर पुलिस कमिश्नर ए0 सतीश गणेश ने किया उनकी हौसला अफज़ाई

ए0 जावेद/अनुराग पाण्डेय

वाराणसी: एक तरफ ज्ञानवापी प्रकरण तो दूसरी तरफ भाजपा की पूर्व प्रवक्ता द्वारा दिला विवादित बयान जिसका विरोध हिंसक रूप कई शहरों में अख्तियार कर चूका है। इसी दरमियान सुरक्षा व्यवस्था को चुस्त दुरुस्त रखना बेशक एक बड़ी चुनौती थी। इस चुनौती को वाराणसी कमिश्नरेट पुलिस ने बखूबी निभाया है।

अब वक्त आया अपने उच्चाधिकारियों से हौसलाअफजाई पाने का। वाराणसी पुलिस कमिश्नर ए सतीश गणेश ने वाराणसी के संवेदनशील थानों में गिने जाने वाले चौक थाना प्रभारी इस्पेक्टर शिवाकांत मिश्रा को प्रशस्ति पत्र देकर उनकी हौसलाअफजाई किया है। बताते चले कि विगत एक लम्बे समय से चौक थाने का वर्क लोड अचानक काफी बढ़ गया था। ज्ञानवापी मस्जिद भी चौक थाना क्षेत्र में आने के कारण चौक पुलिस ने दिन रात मेहनत किया था।

एक तरफ जहा शांति व्यवस्था कायम रखना तो दूसरी तरफ ज्ञानवापी सर्वे और फिर हर जुमे को इकठ्ठा होने वाली भीड़। इस दरमियान अपराध पर भी अंकुश लगाना चौक पुलिस के लिए एक बड़ी चुनौती बन गई थी। मगर चौक इस्पेक्टर शिवाकांत मिश्रा और उनकी टीम ने इस चुनौती का डट कर सामना किया और कानून व्यवस्था का राज कायम रहा।

इस मेहनत के फल स्वरुप प्रशस्ति पत्र देकर पुलिस कमिश्नर ए सतीश गणेश ने उनकी हौसलाअफजाई किया है। बताते चले कि इस्पेक्टर शिवाकांत मिश्रा का वाराणसी जनपद के कार्यकाल में यह पहला थाना है जिसका उन्हें प्रभार मिला है। उनके पूर्व डॉ आशुतोष तिवारी रिकार्ड समय तक इस थाने के प्रभारी रहे है। अब तक सबसे लम्हे वक्त तक चौक थाने के प्रभार का रिकार्ड डॉ आशुतोष तिवारी के नाम है।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.