वाराणसी: संदिग्ध परिस्थितियों में युवक ने लगाया कथित रूप से फांसी, मृतक की पत्नी ने ससुरालियो और पिता ने बहु पर लगाये आरोप, अनसुलझे सवालो का जवाब क्या तलाश पायेगी पुलिस?

ए0 जावेद/शाहीन बनारसी

वाराणसी:वाराणसी के सिगरा थाना क्षेत्र स्थित लल्लापुरा इलाके के एक रात की मस्जिद के निकट एक युवक ने अपने घर में संदिग्ध परिस्थितियों में कथित रूप से फांसी लगा कर आत्महत्या कर लिया। मृतक का नाम सरफ़राज़ खान बताया गया है। मामले में सिगरा पुलिस ने शव को कब्ज़े में लेकर पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया है और मामले की जाँच चालु कर दिया है।

मिले समाचारों के अनुसार लल्लापुरा इलाके में स्थित एक रात की मस्जिद के पास निवास करने वाले युवक ने आज देर शाम किसी समय कथित रूप से फांसी लगा कर आत्महत्या कर लिया। मामले की जानकारी पुलिस को तब हुई जब रात करीब दस बजे मृतक की पत्नी अपने मायके पक्ष के लोगो के साथ थाने आती है और पुलिस को जानकारी देती है। जानकारी होने पर मौके पर तत्काल सिगरा पुलिस जाती है और मामले में तफ्तीश करती है। जिसके बाद मृतक के पिता और भाई सहित दर्जनों मोहल्ले के लोग सिगरा थाने आ जाते है। जिसके बाद आरोपों प्रत्यारोपो का दौर शुरू हो जाता है।

बेनियाबाग़ के भीखाशाह गली निवासिनी मृतक की पत्नी ने बताया कि उसका विवाह वर्ष 2015 में लल्लापुरा के निवासी खलील के पुत्र सरफ़राज़ खान से हुआ था। मृतक की पत्नी का आरोप है कि विवाह में काफी दहेज़ मिलने के बाद भी उसके ससुर और जेठ आदि खुश नही थे मगर उसका पति सरफ़राज़ अपनी पत्नी और ससुराल से खुश था जिसको लेकर पिता-पुत्र में अक्सर विवाद होता रहता था। मृतक की पत्नी ने आरोप लगाते हुवे बताया कि उसके ससुर ने वंश आगे न बढ़े इस हेतु तीन बार उसका ज़बरदस्ती गर्भपात करवा दिया था। मृतक का एक बेटा है। मृतक की पत्नी ने बताया कि वह जब गर्भ से हुई तो उसके पति सरफ़राज़ ने उसको मायके भेज दिया था ताकि डिलेवरी सही तरीके से हो जाए। जिसके कारण उसके ससुर अपने बेटे से नाराज़ रहने लगे।

मृतक की पत्नी ने बताया कि विगत काफी समय से कारोबार के बटवारे को लेकर उसके पति का अपने भाईयो और पिता से विवाद चल रहा था। लगभग 10 रोज़ पहले भी विवाद पिता पुत्र में हुआ था। जिसके बाद मृतक ने उसको अपनी बहन के घर भदोही घुमने भेज दिया था। आज शुक्रवार की रात लगभग 8 बजे के करीब मोहल्ले के एक व्यक्ति ने उसको फोन करके बताया कि उसके पति ने फांसी लगा कर जान दे दिया है। जिसके बाद वह भदोही से सीधे थाने आती है और मामले की जानकारी पुलिस को देती है।

वही मृतक के पिता खलील ने आरोप लगाया कि मृतक को उसके सालो ने मारपीट कर छत से टांग दिया था जिसके वजह से उसकी मौत हो गई है। इसको लेकर मृतक के पिता और भाईयो ने बाद में थाने पर हंगामा काटने की कोशिश किया, मगर पुलिस की सख्ती के कारण कामयाब नही हो सके। मृतक के पिता खलील ने कहा कि हमारे बेटे को उसके सालो ने मारपीट कर छत से लटका दिया है। पुलिस ने मामले में शव को कब्ज़े में लेकर पोस्ट मार्टम हेतु भेज दिया है। वही मौके पर फारेंसिक टीम को भी बुलाया गया जिसने मौके से साक्ष्य संकलन किया। पुलिस आसपास के सीसीटीवी फुटेज भी खंगाल रही है। प्रकरण में सिगरा इस्पेक्टर धनञ्जय पाण्डेय ने कहा कि लाश को पोस्टमार्टम हेतु कब्ज़े में लेकर भेज दिया गया है। मामले में स्थिति पोस्टमार्टम रिपोर्ट आने के बाद साफ़ होगी और अग्रिम कार्यवाही होगी। जांच प्रक्रिया जारी है।

इस अनसुलझे सवाल का जवाब क्या मिलेगा

थाने पर मृतक की पत्नी ने अपने ससुरालियो पर जहा आरोप लगाया वही मृतक के पिता ने अपने बेटे के ससुरालियो पर आरोप लगाया। मगर इन सबके बीच एक बड़ा सवाल चुभता हुआ सा दिखाई दे रहा है। इलाके की चर्चाओ के अनुसार सरफ़राज़ द्वारा फांसी लगा लिए जाने की बात शाम 7:30 के करीब सुनी गई थी। जिसके बाद परिजन उसको लेकर कथित रूप से ट्रामा सेंटर गए थे और रात लगभग 9 बजे के करीब वापस घर आ गए थे। इस दरमियान पुलिस को कोई भी सुचना किसी प्रकार की नही दिली थी। जिसके बाद रात लगभग 10:00 के करीब मृतक की पत्नी भदोही से वापस आती है और थाने पर मामले की जानकारी वह अपने परिजनों के साथ देती है। जिसके बाद पुलिस मौके पर जाती है। जहा से रात लगभग 11 बजे के करीब मृतक के पिता थाने आते है और मामले में अपनी बहु और उसके परिजनों पर आरोप प्रत्यारोप लगाते है।

अब यहाँ सबसे चुभने वाला सवाल ये है कि घटना जब 7:30 की थी और सरफ़राज़ की मृत्यु घोषित हो गई तो तथा कथित रूप से ट्रामा सेंटर लेकर गये सरफ़राज़ के शव को लेकर वह लोग वापस लगभग 9 बजे घर आ गये तो फिर पुलिस को सुचना मृतक के पिता अथवा भाई के द्वारा क्यों नही दिया गया था? इसके लगभग एक घंटे के से अधिक वक्त के बाद जब पुलिस मृतक की पत्नी की शिकायत पर मौके पर पहुचती है तो फिर मामले की पूरी जानकारी पुलिस को होती है। तब तक आखिर क्यों नही पुलिस को इत्तेला किया गया?शायद विवेचना में पुलिस भी इस सवाल का जवाब तलाश करे।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.