पीएम मोदी को ई-मेल द्वारा जान से मारने की धमकी देने के मामले में एटीएस ने बदायु के अमन सक्सेना को लिया पूछताछ हेतु हिरासत में, किसी युवती के भी शामिल होने की है सम्भावना

फारुख हुसैन

बदायु: प्रधानमन्त्री को ई-मेल के माध्यम से जान से मारने की धमकी प्रकरण में एक्शन मोड़ में आई एटीएस की गुजरात यूनिट ने सर्विलाश की मदद से बदायु के अमन सक्सेना नामक युवक को हिरासत में लेकर पूछताछ शुरू कर दिया है। वही इस मामले में किसी युवती के भी शामिल होने की बात सामने आ रही है। एटीएस की गुजरात यूनिट अमन सक्सेना से पूछताछ कर रही है।

मिल रही जानकारी के अनुसार गुजरात के अहमदाबाद की दो सदस्यीय एटीएस टीम शनिवार रात दिल्ली होते हुए बदायूं पहुंची। इसमें शामिल इंस्पेक्टर बीएन बघेला ने एक सब इंस्पेक्टर के साथ सिविल लाइंस थाने में आमद दर्ज कराई। जिसेक बाद एटीएस ने स्थानीय पुलिस के साथ रात करीब 10 बजे आदर्श नगर मोहल्ले में दबिश देकर अमन सक्सेना नाम के युवक को हिरासत में ले लिया है। एटीएस टीम पहले अमन को सिविल लाइंस थाना ले गई, जहां उससे करीब एक घंटे तक पूछताछ की गई।

अमन सक्सेना के सम्बन्ध में मिली जानकारी के अनुसार कुछ समय पहले बरेली के राजर्षि कालेज में इंजीनियरिंग का छात्र था। लेकिन, उसने अपनी पढ़ाई अधूरी छोड़ दी। चर्चाओं के अनुसार अमन लैपटाप चोरी के मामले में पहले भी पकड़ा जा चुका है। उस समय छात्र होने के नाते पुलिस ने लैपटाप बरामद कर उसे छोड़ दिया था। इसके अलावा उसकी गतिविधियां लगातार संदिग्ध रही हैं। उसकी हरकतों से परिवार वाले भी परेशान रहते हैं, इसलिए उससे अपने संबंध खत्म कर पहले ही बेदखल कर चुके हैं।

कहा जा रहा है कि इस ई-मेल धमकी प्रकरण में तीन लोग शामिल हैं। जिसमे बदायूं के अमन सक्सेना के अलावा गुजरात के युवक, युवती का नाम आया तो वहां की एटीएस भी सक्रिय हो गई। इसके बाद से तीनों आरोपितों की जानकारी जुटायी जा रही थी, जिससे उन्हे पकड़ा जा सके। सर्विलांस के माध्यम से अमन की लोकेशन बदायूं में ट्रेस होते ही टीम रात में शहर आ गई। अमन ने किस मकसद से धमकी दी, इसकी जांच की जा रही है। अन्य दोनों आरोपितों के बारे में गुजरात एटीएस के इंस्पेक्टर वीएल बघेला ने कोई जानकारी साझा नहीं की। बदायूं सिविल लाइंस थाने के इंस्पेक्टर सहंसरवीर सिंह ने बताया कि एटीएस ने ई-मेल की जांच के संबंध में युवक को पकड़ा है।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *