अजीब-ओ-गरीब: पुलिस ने अदालत से कहा वर्ष 2018 में जब्त 60 लाख रुपया कीमत का 581 किलो गांजा चूहा खा गया, अदालत ने कहा शनिवार को सबूत पेश करे, पढ़े एक रियलिटी चेक में चूहे निकले बेगुनाह

रवि पाल

मथुरा: पुलिस द्वारा अदालत में पेश की गई एक रिपोर्ट मीडिया में चर्चा का विषय बनी हुई है। मथुरा पुलिस की इस रिपोर्ट के बारे में जिसको पता चल रहा है वह हैरान हो जा रहा है। यहाँ तक की पुलिस की बात और दलील को सुनकर खुद जज साहब हैरान हो गये। पुलिस ने अपनी रिपोर्ट में कहा है कि 60 लाख रूपये मूल्य का कुल 581 किलो गांजा चूहे खा गए है।

दरअसल, यह गांजा पुलिस द्वारा दो अलग-अलग मामलों में एनडीपीएस एक्ट के तहत जब्त किया गया था। यह गांजा थाना शेरगढ़ और हाईवे में पकड़ा गया था। 2018 में जब्त किए गए इस गांजे को मालखाने में रखा गया था। पुलिस ने सबूत के तौर पर गांजे को पेश भी किया था। अब जब इस गांजे को पेश करने के लिए अदालत ने कहा है तो एडीजे सप्तम की अदालत में मथुरा पुलिस ने यह अजीब-ओ-गरीब रिपोर्ट पेश कर कहा है कि मालखाने के चूहे गांजा खा गए है। उसको पेश करने मुम्किल नही है।

गांजे को चूहों द्वारा खा जाने की यह बात पुलिस ने बाकायदा अपनी रिपोर्ट में कोर्ट से कही है। मथुरा पुलिस ने कोर्ट में पेश की गई रिपोर्ट में कहा है कि गोदाम में रखा गया 581 किलो जब्त गांजा चूहे खा गए हैं। पुलिस ने इसकी रिपोर्ट एडीजे सप्तम के कोर्ट में पेश किया है। अदालत ने भी पुलिस की इस बात पर हैरानी जताई और चूहों द्वारा गांजा खा जाने के सबूत पेश करने के लिए कहा। इसके लिए अदालत ने पुलिस को 26 नवंबर की तारिख देते हुवे कहा है कि 26 नवम्बर यानी शनिवार तक वह इस बात का साक्ष्य पेश करे कि गांजा चूहे खा गये है। साथ ही कोर्ट ने एसएसपी को चूहों पर लगाम लगाने के लिए कदम उठाने को कहा।

पुलिस ने अपनी रिपोर्ट में कहा कि गोदाम में चूहे काफी ज्यादा हैं और उनसे गांजे को नहीं बचाया जा सका। पुलिस ने जब्त गांजा पेश करने में बेबसी जाहिर की। पुलिस ने यह भी बताया कि जो थोड़ा गांजा बचा था उसे नष्ट कर दिया गया। अब अगली सुनवाई 26 नवंबर को होगी। देखना है कि पुलिस क्या सबूत पेश करती है। सबसे हैरानी की बात ये है कि इन नशेडी चूहों पर लगाम आखिर कैसे एसएसपी साहब लगायेगे देखने वाली बात होगी क्योकि लगभग 4 साल में चूहे 581 किलो गांजा खाकर नशे के आदि तो हो ही गये होंगे।

रियलिटी चेक में चुहो के बेगुनाह होने का है दावा

इस खबर पर खबरनिविसी करने वालो ने रियल्टी चेक भी कर डाला। इस रियलिटी चेक की रिपोर्ट को माने तो फिर चूहे तो बेगुनाह है। उनको ज़बरदस्ती फंसाया जा रहा है। TV9 हिंदी का दावा है कि उनसे बात करते हुवे थाना शेरगढ़ के प्रभारी सोनू ने बताया है कि “थाना शेरगढ़ के माल खाने में पिछले 2-3 साल से पुराना गाजा रखा हुआ था। जो कि पुलिस द्वारा बरामद किया गया था। माल खाना थोड़ा अव्यवस्थित होने के कारण और उसकी स्थिति सही ना होने के चलते वहां पर बरसात का पानी भर जाता है। जिसके चलते वहां रखा गांजा भीग गया और उस पर चूहे लगने लगे। साथ ही भीगने के कारण गांजा खराब हो गया और कुछ बोरिया भी बरसात के पानी से भीग गई थी। जो बोरी भीग गई थी उनको चूहों द्वारा कुतर दिया गया था, लेकिन हमारे पास पूरा गांजा अभी भी रखा हुआ है गांजा हमारे पास से गायब नहीं हुआ है।”

अब क्या पेश करेगी पुलिस सबूत

इस रियलिटी चेक के बाद विभाग में और भी हडकंप मचा हुआ है। वही चर्चा है कि आखिर जब पुलिस एक तरफ कह रही है कि उसके पास गांजा पूरा है। तो फिर दुसरे तरफ अपने ही रिपोर्ट में गांजा चूहों के खा जाने की बात कैसे कह रही है। आखिर ऐसा क्या है तो पुलिस छिपाना चाहती है और बेकसूर चूहों को फंसा रही है। अब देखना होगा कि शनिवार को अदालत में मथुरा पुलिस क्या सबूत पेश करती है।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *