धोपाप धाम मेले की तैयारियां जोरों पर

हरिशंकर सोनी

सुलतानपुर जनपद के लंभुआ तहसील के अंतर्गत गंगा गोमती तट पर धोपाप धाम मेले में लाखों श्रद्धालुओं की आने की संभावना गंगा दशहरा पर ऐतिहासिक धोपाप धाम मेले की तैयारी पूरी गंगा गोमती तट पर बने धोपाप धाम मेले में कई जनपदों से लाखों श्रद्धालुओं की काफी भीड़ जुटती है माना जाता है कि यहां स्नान स्नान मात्र करने से सारे पाप धुल जाते हैं हर वर्ष गंगा दशहरा के मौके पर सुलतानपुर जिले मैं आयोजित होने वाले ऐतिहासिक धोपाप धाम मेले की तैयारियां लगभग पूरी कर ली गई है बुधवार को मौके पर पहुंचे प्रशासनिक अधिकारियों ने मेले की तैयारियों का जायजा लिया और मेला स्थल पर पेयजल मेलार्थियों की सुरक्षा विश्रामालय और आगमन के रास्ते का मुआयना भी किया निरीक्षण के दौरान अधिकारियों ने नदी के किनारे बैरिकेटिंग कराने का निर्देश भी दिए हैं ताकि यह स्नान ध्यान के दौरान किसी भी आकस्मिक घटना से बचा जा सकता है मेले में भारी सुरक्षा बल भी तैनात किया गया है और प्रशासनिक अधिकारियों को मेले के दौरान पूरी निगाह लगाए रखने का निर्देश भी दिया गया है मान्यता है रावण वध के बाद अयोध्या लौटते समय भगवान श्री रामचंद्र जी को ब्राह्मणवध करने का पाप बताकर ऋषि मुनियों ने अपने पाप धोने को कहा था लिहाजा भगवान श्री रामचंद्र जी ने पतित पावनी आदि गंगा गोमती तट के किनारे धोपाप घाट पर आकर अपने पाप भूले थे तब से यही मान्यता चली आ रही है और कहा जाता है कि सूबे के विभिन्न जनपदों से लाखों की संख्या में श्रद्धालु लोग आकर स्नान दान करके अपने पाप धोते हैं साथ ही गोदान मंडल जैसे संस्कार भी यहां करते हैं देखना यह होगा की सुबह के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ व प्रशासनिक अधिकारियों के द्वारा मेले में आए हुए सभी श्रद्धालुओं का किस तरीके से सुरक्षा व्यवस्था को कायम करती है पूर्व की घटी घटनाओं को ध्यान में रखते हुए नदी के किनारे अभी भी बैरीकेटिंग की व्यवस्था नहीं की गई है और प्रशासन कागज पर सुरक्षा व्यवस्था का खाका तैयार कर दिया है और किसी भी अनहोनी घटना से निपटने के लिए प्रशासन ने कमर कस ली है

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *