हौसला बुलंद बदमाशो ने किया दिन दहाड़े सरेराह लूट

फारुख हुसैन

लखीमपुर खीरी÷ लखीमपुर में बदमाशों और लुटेरों के हौसले कुछ इस तरह से बुंलद हो चुके हैं कि अब वो सरेराह और भीड़ भाड़ वाले इलाको में लूट जैसी वारदातों को अंजाम देने लगे है, जिससे लोगों में दहशत फैल गयी है. उनको देख कर ऐसा भी लग रहा है जैसे उनको पुलिस का कोई भय नहीं रह गया है।

ताज़ा मामला लखीमपुर शहर का है, जहा सोमवार की दोपहर बीच बाजार में दो बदमाशों ने लात (पैर) मारकर कैशियर की बाइक रोड पर गिरा दी। कैशियर के जमीन पर गिरते ही बदमाश उसका नगदी भरा बैग लूटने लगे। लेकिन जब कैशियर ने बैग नहीं छोड़ा तो बदमाशों ने जमीन पर कट्टे से फायर कर दिया। गोली जमीन से टकराने के बाद कैशियर के मुंह में लगी और वह जख्मी हो गया। बदमाश नगदी भरा बैग लेकर भाग गए। लोग चारों तरफ मौजूद थे। जिनमें हड़कम्प मच गया। लेकिन कोई भी बदमाशों को नहीं देख पाया। लेकिन सभी गोली चलने की बात कह रहे हैं। हैरत की बात यह है कि बदमाशों ने इस घटना को बस दो मिनट में ही अंजाम दे दिया। उधर जानकारी मिलते ही मौके पर पहुंची पुलिस ने ने कैशियर को आनन फानन में जिला अस्पताल भेजा जहां उसकी हालत में सुधार बताया जा रहा है।

प्राप्त समाचार के अनुसार घनश्याम श्रीवास्तव राजपैलेस के पास स्थिति अंग्रेजी शराब के गोदाम में कैशियर है। यही जय प्रकाश शुक्ला कर्मचारी है। सोमवार को दोनों शराब बिक्री का 7.75 लाख रुपया बाइक से बैंक में जमा करने जा रहे थे। बाइक जयप्रकाश चला रहा था और घनश्याम पीछे नगदी भरा बैग लिए बैठा था। दोनों जब गोटैय्या बाग के पास पहुँचे तो बाइक सवार दो बदमाशों ने उनकी बाइक में लात मार दी। इससे अनियंत्रित होकर बाइक रोड पर गिर गई। जिसके बाद बदमाशों ने बैग छीनने की कोशिश की, विरोध करने पर गोली चला दी। गोली जमीन में लग कर  घनश्याम के मुंह में लगी और वह जख्मी हो गया। इतने में ही बदमाश नकदी भरा बैग लेकर फरार हो गए।

दिन दहाड़े हुई इस घटना से भय का माहोल बन गया, चारों तरफ दुकाने हैं और भीड़भाड़ भी थी। पर किसी ने बदमाशों को नहीं देखा। इससे अंदाजा लगाया जा रहा है कि बदमाशों ने इस घटना को सिर्फ दो मिनट में अंजाम दिया। आसपास के दुकानदारों का कहना है कि उनको सिर्फ गोली चलने की आवाज सुनाई दी। पहले उनको लगा कि बाइक का टायर फट गया है। इसी वजह से बाइक सवार गिर गए हैं। दुकानदार उनको बचाने के लिए मौके पर भागे। तब कहीं जाकर उनको पता चला कि इनके साथ लूट हुई है। मामले की सूचना पुलिस को दी गई।

सूचना पाकर एसपी पूनम, एएसपी शैलेन्द्र लाल और सीओ सिटी विजय आनंद फोर्स के साथ मौके पर पहुंच गए और बदमाशों की तलाश शुरू कर दी। लेकिन उनका कोई सुराग नहीं लगा।

सीसीटीवी कैमरे खंगाल रही पुलिस 

उधर एएसपी शैलेन्द्र लाल ने बताया कि घटना के तुरंत बाद पुलिस ने गोदाम से घटनास्थल के बीच में पड़ने वाले सभी सीसीटीवी कैमरे खंगाले जा रहें हैं । जिससे पुलिस को बदमाशों का हुलिया पता चल सके। लेकिन यहां से भी पुलिस को कोई मदद नहीं मिली। सीसीटीवी कैमरे में भी बदमाश दिखाई नहीं दे रहे हैं। पुलिस अंधेरे में तीर चला रही है।

दरअसल इस रोड पर काफी भीड़भाड़ होती है। ऐसे में भीड़ के बीच उन बदमाशों को ट्रेस कर पाना, जिनकी बाइक भी नहीं देखी गई है। यह पुलिस के लिए काफी मुश्किल है। फिलहाल पुलिस कैमरे खंगाल रही है। फुटेज पीड़ित को दिखाए जा रहे हैं। जिससे बदमाशों को पहचानने में कुछ मदद मिल सके।

चारों तरफ नाकेबंदी, शाम तक चली चेकिंग

एएसपी शैलेन्द्र लाल ने बताया कि घटना के तुरंत बाद से चारों तरफ नाकेबंदी कर दी गई। पूरे जिले की पुलिस को चेकिंग के लिए लगा दिया गया। कुछ ही देर में जिले की सभी प्रमुख सड़कों पर चेकिंग होने लगी। पुलिस शाम तक संदिग्ध बाइकों की चेकिंग करती रही। लेकिन बदमाशों का कोई सुराग नहीं लगा।

जांच के लिए सर्विलांस टीम को लगाया गया 

लूट का खुलासा करने के लिए तीन टीमों का गठन किया गया है। यह तीनों टीमें एएसपी शैलेंद्र लाल और सीओ सिटी की अगुवाई में काम कर रही है। इसमें एक टीम कोतवाली पुलिस की है। जबकि दूसरी टीम क्राइम ब्रांच और तीसरी टीम सर्विलांस की बनाई गई है। तीनों टीमें बदमाशों को पकड़ने के लिए जुटी हुई है। लेकिन शाम तक बदमाशों की कोई भी लोकेशन ट्रेस नहीं हो सकी थी। पुलिस हवा में तीर चला रही है।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *