तरबियत का नही कसूर, तो और क्या है ? : 4 साल की मासूम से किया 13 साल के नाबालिग ने दुष्कर्म, पीडिता की हालत गंभीर

आफताब फारुकी

फतेहपुर। फतेहपुर के गाजीपुर थाना क्षेत्र के एक गाँव में इंसानियत को शर्मसार कर देने वाली एक घटना प्रकाश में आई है। गाँव में सजे दुर्गा पंडाल को देखने निकली एक चार साल की मासूम के साथ गाव के ही एक किशोर ने दुष्कर्म को अंजाम दिया। घटना से पीडिता की हालात गंभीर हो गई है। सरकार अस्पताल में पीडिता का इलाज चल रहा है। पुलिस ने मामला दर्ज कर आरोपी को गिरफ्तार कर लिया है,

दुष्कर्म की इस घटना में आरोपी महज़ 12-13 साल का किशोर है। इसको शायद तरबियत का कसूर कहेगे कि जिस उम्र में किशोरों के खेलने की उम्र होती है। उस उम्र का एक किशोर बलात्कार का आरोपी हो जाता है, घटना के बाद बच्ची की हालत अधिक खून बहने से बिगड़ गई। रविवार को परिजन बच्ची को लेकर थाने पहुंचे। जहा पुलिस ने बच्ची को जिला महिला अस्पताल में भर्ती कराकर आरोपी को हिरासत में लेते हुवे उसके खिलाफ दुष्कर्म का मुकदमा दर्ज किया है। घटना आठ अक्तूबर की शाम को घटित बताई जा रही है।

घटना के सम्बन्ध में बताया गया कि गाँव में दुर्गा पूजा का पंडाल सजा हुआ है जहा 4 साल की एक मासूम खेल रही थी। इस दौरान कक्षा आठ में पढ़ने वाला करीब 12-13 साल का एक लड़का बच्ची के पास पहुंचा। वह बच्ची को बहला-फुसलाकर घर के पीछे हाते में ले गया। जहां उसके साथ दुष्कर्म किया। बच्ची के रोने पर आरोपी भाग निकला। बच्ची किसी तरह से घर पहुंची। इधर अधिक खून बहने से बच्ची की हालत बिगड़ती देख मां ने पूछताछ की। तो उसने पड़ोसी में रहने वाले लड़के के बारे में जानकारी दी। परिजन बच्ची को लेकर शनिवार को एक नर्सिंग होम पहुंचे। जहां डॉक्टर ने पुलिस कार्रवाई और जिला महिला अस्पताल लेकर जाने की सलाह दी। मां ने रविवार सुबह पुलिस को तहरीर दी।



Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *