रामनवमी पर बिहार के रोहतास और बिहार शरीफ़ में हिंसा पर बोले नीतीश: ‘बहुत तकलीफ़ हुई, कोई स्वाभाविक घटना नही है, ज़रूर कोई घचपच किया होगा, प्रशासन सब पता कर लेगा’

अनिल कुमार

पटना: रामनवमी पर बिहार में हुई हिंसा की घटना पर आज मुख्यमंत्री नीतीश कुमार की प्रतिक्रिया आई है। उन्होंने हिंसा की इन घटनाओं को तकलीफदेह बताते हुवे कहा है कि ज़रूर कोई घचपच किया होगा। बताते चले कि बिहार में एक घटना रोहतास ज़िले के सासाराम में हुई है जबकि दूसरी घटना नालंदा ज़िले के बिहार शरीफ़ में हुई है।

इस सम्बन्ध में नालंदा के ज़िलाधिकारी शशांक शुभंकर ने मीडिया से बात करते हुवे बताया है कि फ़िलहाल बिहार शरीफ़ में हालात शांतिपूर्ण है। उन्होंने बताया, “शुक्रवार शाम दो गुटों के बीच झड़प हुई थी। इसमें पत्थरबाज़ी में कुछ लोग घायल हुए हैं। वहीं पब्लिक की तरफ से गोलीबारी भी हुई है और इसमें कुछ लोगों को गोली के छर्रे लगे हैं, लेकिन कोई गंभीर रूप से घायल नहीं हुआ है।”

वही मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने इस हिंसा पर दुःख जताया है। उनका दावा है कि जैसे ही सासाराम हिंसा के बारे में पता चला उसे तुरंत कंट्रोल किया गया था। नीतीश ने कहा है कि “देर शाम बिहार शरीफ़ की हिंसा का पता चला तो वहां भी कंट्रोल किया गया। हमने कहा है कि ये कौन कर रहा है पता कीजिए। इस तरह की घटना पहले होती थी, वर्षों से सब ठीक चल रहा था। बहुत तकलीफ़ हुई है।”

नीतीश कुमार ने कहा है कि यह कोई स्वाभाविक घटना नहीं है ज़रूर किसी ने गड़बड़ की है और प्रशासन सब पता करके उस पर कार्रवाई करेगा। अमित शाह की सभा रद्द होने के सम्बन्ध में बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने कहा कि “आ क्यों रहे हैं वो जानें और नहीं आ रहे हैं तो वो जानें। रद्द किए हैं तो इसका कोई और कारण होगा। ये घटना घटी है, ये बहुत दुःख की बात है। ज़रूर कोई घचपच किया होगा।”

इस बीच केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह की सासाराम जनसभा को स्थगित कर दिया गया है। अमित शाह दो अप्रैल को नवादा और सासाराम में जनसभा करने वाले थे। बीजेपी का आरोप है कि अमित शाह की रैली के डर से सासाराम में धारा 144 लगाई गई है। हालांकि रोहतास ज़िले के ज़िलाधिकारी धर्मेंद्र कुमार का कहना है कि रोहतास में कभी धारा 144 नहीं लगाई गई है। उन्होंने कहा कि “शुक्रवार दोपहर को रोहतास में दो समुदायों के बीच छोटे-मोटे मुद्दे पर पत्थरबाज़ी हुई थी,मामले को शांत करा लिया गया है और कल शाम से कोई घटना नहीं हुई है।”

डीएम धर्मेंद्र कुमार ने दावा किया है कि रामनवमी के दिन पूरे रोहतास ज़िले में जुलूस को लेकर कोई घटना नहीं हुई है। वहीं बीजेपी सांसद और बिहार बीजेपी के पूर्व अध्यक्ष संजय जायसवाल का कहना है कि “गृह मंत्री धारा 144 का उल्लंघन नहीं कर सकते इसलिए सासाराम की जनसभा स्थगित करनी पड़ी है, हालांकि नवादा में उनका कार्यक्रम होगा।” संजय जायसवाल ने आरोप लगाया है कि नीतीश सरकार ने डर की वजह से सासाराम में धारा 144 लगाई है ताकि गृह मंत्री की सभा ना हो सके।

बिहार में बीजेपी 2024 के लोकसभा चुनावों के लिहाज़ से तैयारी में लगी हुई है। बिहार में जेडी (यू) और बीजेपी के अलग होने के बाद से बीजेपी के कई बड़े नेता बिहार का दौरा कर रहे हैं। अमित शाह भी पटना पहुंच चुके हैं। रविवार की सुबह वो सशस्त्र सीमा बल के कार्यक्रम में शामिल होंगे। इसके बाद अमित शाह जनसभा के लिए नवादा जाएंगे।

Welcome to the emerging digital Banaras First : Omni Chanel-E Commerce Sale पापा हैं तो होइए जायेगा..

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *