बिहार में कोरोना के मरीज यूपी, एमपी, उत्तराखंड और पश्चिम बंगाल के मुकाबले तेजी से हो रहे हैं स्वस्थ्य – डॉ बिमल कारक, अधीक्षक, पटना मेडिकल कॉलेज अस्पताल

गोपाल जी

बिहार के कोरोना पीड़ित देश के प्रमुख राज्यों से आगे निकल रहे हैं। कोरोना महामारी से मुक्त होने को लेकर बिहार देश में तीसरे स्थान पर है। सामान्यतया हिंदी पट्टी के राज्यों सहित अन्य राज्यों से बिहार में कोरोना के मरीज तेजी से स्वस्थ होकर घर लौट रहे हैं।

बिहार के 48 फीसदी कोरोना पीड़ित स्वस्थ्य होकर घर लौट चुके हैं। बिहार में अबतक 85 कोरोना के मरीज पॉजिटव पाए गए हैं। इनमें 37 मरीज ठीक हो चुके हैं। मरीजों की पहचान और इलाज की प्रक्रिया तत्काल शुरू होने से मरीजों का जीवन बचाने में कामयाबी मिल रही है।

स्वास्थ्य विभाग के अनुसार बिहार की तुलना में उत्तर प्रदेश में कोरोना पीड़ितों के स्वस्थ होने की दर 7.76, प.बंगाल में 18.48, उत्तराखंड में 24.38 फीसदी, तो मध्यप्रदेश में मात्र 6.53 फीसदी ही है। राष्ट्रीय स्तर पर यह दर 12.15 फीसदी है।  बिहार के लोगों का इम्युनिटी लेवल बेहतर है। 60 के ऊपर के मरीज कम हैं। क्रोनिक रोगों के मरीज भी कम हैं। सोशल डिस्र्टेंंटग का पालन सख्ती से होना भी पीड़ितों के स्वस्थ होने का प्रमुख कारण है।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *